संत रविदास मंदिर में चन्नी, योगी, राहुल, प्रियंका व संजय ने टेका मत्था - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 फ़रवरी 2022

संत रविदास मंदिर में चन्नी, योगी, राहुल, प्रियंका व संजय ने टेका मत्था

  • संत की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद संत निरंजन दास का आशीर्वाद लिया, बाबा के दर्शन करके मत्था टेका और लंगर छका 

ravidas-jayanti
वाराणसी (सुरेश गांधी) ’मन चंगा तो कठौती में गंगा’ समानता और मानवता का संदेश देने वाले संत श्री गुरु रविदास जी की 645वीं जयंती आज मनाई जा रही है। इस मौके पर देशभर के आस्थावान सीरगोवर्धन पहुंचे हैं और यहां से लाखों श्रद्धालुओं की आस्था भी जुड़ी है। विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा, कांग्रेस सहित सभी दल संत चरणों की रज लेकर पूर्वांचल के साथ पंजाब के दलित व महिला वोटरों को साधने की कोशिश है। इसी कड़ी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सियासी दिग्गजों का जुटान हुआ। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी वाड्रा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आप सांसद संजय सिंह समेत कई नेताओं ने संत रविदास जयंती पर उनकी जन्मस्थली वाराणसी के सीर गोवर्द्धनपुर में हाजिरी लगाई। सभी नेताओं ने दर्शन करके मत्था टेका और लंगर छका। यह पहला मौका है जब संत रविदास  जयंती के मौके पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा एक साथ संत को नमन करने पहुंचे। राहुल और प्रियंका गांधी ने लंगर हॉल में श्रद्धालुओं की सेवा भी की और उन्हें अपने हाथों से प्रसाद वितरण भी किया। सुबह से ही गुरु रविदास की जन्मभूमि मिनी पंजाब बनी नजर आई और आस्था की कठौती में श्रद्धा की गंगा हिलोरें लेती रही। एक के बाद एक सियासी दिग्गजों के आने का क्रम जारी रहा। दर्शन और लंगर के लिए अनवरत कतार लगी है। 


सीएम योगी ने लगाई हाजिरी 

ravidas-jayanti
सीएम योगी ने संत रविदास मंदिर पहुंचकर संत शिरोमणि की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद शीश नवाया। अमृतवाणी पाठ के सामने शीश झुकाकर आशीर्वाद मांगा। उन्होंने लंगर में बैठकर प्रसाद भी खाया। सीएम योगी ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि पूज्य संत रविदास जी की जन्मस्थली सीरगोवर्धन यूपी की सांस्कृतिक नगरी काशी में है। प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में सीरगोवर्धन के सुंदरीकरण और पर्यटन विकास के लिए राज्य सरकार कार्य कर रही है। संत शिरोमणि रविदास जी की स्मृति में पार्क निर्माणाधीन है। मुख्यमंत्री योगी इससे पहले भी रविदास जयंती के मौके पर सीरगोवर्धन पहुंच चुके हैं। करीब एक घंटे यहां रुकने के बाद वे बाबतपुर एयरपोर्ट से हमीरपुर रवाना हो गए। 


चन्नी भी पहंुचे 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पहले बुधवार तड़के पंजाब के सीएम चरण जीत सिंह चन्नी वाराणसी पहुंचे। बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर में हाजिरी लगाने के बाद संत रविदास की जन्मस्थली पहुंचे। चन्नी ने मत्था टेका और रैदासियों के शीर्ष धर्म गुरु संत निरजंन दास का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। दर्शन-पूजन के बाद घूमकर लंगर, पंडाल और रसोई देखी। भीड़ के बीच रुक- रुक कर लोगों के साथ फोटो खिंचाई। सीएम के अंदाज ने रैदासियों का दिल जीत लिया। वापस लौटकर मंदिर के मुख्य द्वार तक पहुंचे तो लाइन में लगी श्रद्धालुओं की कतार देखकर पैदल ही सीर गेट के पास तक गए। इसके बाद एयरपोर्ट के लिए निकल लिए।


राहुल-प्रियंका 

ravidas-jayanti
कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सुबह 11.30 बजे रविदास मंदिर पहुंचीं। वहीं उनके साथ ही कुछ समय बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी संत रविदास को नमन करने पहुंचे। दोनों ने संत की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद शीश नवाया और संत निरंजन दास का आशीर्वाद लिया। प्रियंका गांधी और राहुल गांधी प्रार्थना सभा में शामिल हुए। इस दौरान प्रियंका गांधी महिला सेवादारों से भी मिली। 


रैदासियों का रेला, दर्शन पूजन कर नवाए शीश 

वाराणसी में संत रविदास की जयंती पर सीरगोवर्धन में रैदासियों का रेला उमड़ पड़ा है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली सहित अन्य जगहों से आए रैदासियों ने पूरी श्रद्धा के साथ संत रविदास मंदिर पहुंचकर शीश नवाया। इसके बाद लंगर भी छका। वहीं, लहरतारा स्थित कबीर प्राकट्य स्थल और कबीरचौरा स्थित मूलगादी मठ पर भी लोगों की भीड़ उमड़ी रही। बुधवार को संत निरंजन दास द्वारा ध्वजारोहण कर प्रकाशोत्सव का पर्व मनाया जाएगा। संत रविदास मंदिर को रंग बिरंगी बत्तियों से सजाया गया है। मेला स्थल पर भी हजारों लोगों की भीड़ लगी रही। सीरगोवर्धन से लेकर कबीरस्थली तक रैदासियों के आने जाने का सिलसिला देर रात तक जारी रहा। मंदिर में संत रविदास के दर्शन, पूजन के लिए लोगों की लंबी कतार लगी रही। अमृतवाणी के पाठ से भी पूरा सीरगोवर्धन का इलाका गूंजता रहा। 


ऑस्ट्रिया से आकर सेवा कर रहे हैं श्रद्धालु

जयंती में शामिल होने के लिए देश ही नहीं विदेश में रहने वाले भारतीय भी संत रविदास के दरबार में मत्था टेकने और सेवा करने के लिए आए हुए हैं। कार्यक्रम में आस्ट्रिया में संस्था चला रहे लोग भी सेवा भाव से काशी आए हुए हैं। 


आप नेता संजय सिंह 

आप नेता संजय सिंह बुधवार को सीर गोवर्धन दर्शन के लिए पहुंचे। यहां रविदास जन्म स्थली मंदिर में माथा टेका। इस दौरान मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल संत रविदास के विचारों को धरातल पर उतारने का काम कर रहे हैं। वह शोषित दलित वंचितों के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं। दिल्ली में स्वास्थ्य शिक्षा बिजली की व्यवस्था ऐसी है जनता को किसी तरह की कोई शिकायत नहीं है। कहा कि बनारस अयोध्या और सुल्तानपुर में जब किसी के ऊपर भूत चढ़ जाता है तो ओझा झाड़ू से भूत उतारने का काम करते हैं योगी जी व भाजपा पर सत्ता का भूत सवार है। जिसे झाड़ू से जनता उतारेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: