मुंबई की लोकल ट्रेन करेंगी यात्रियों का मनोरंजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 फ़रवरी 2022

मुंबई की लोकल ट्रेन करेंगी यात्रियों का मनोरंजन

cinema-in-local-train
मुंबई : सेंट्रल रेलवे (मुंबई डिवीजन) और दुनिया का पहला हाइपरलोकल एज क्लाउड प्लेटफॉर्म, शुगरबॉक्स नेटवर्क्स में दुनिया के एक सबसे व्यस्त सार्वजनिक परिवहन नेटवर्क के लिए डिजिटल पहुंच में परिवर्तन लाने के लिए साझेदारी की है। आज से मध्य रेलवे के यात्री अपनी पूरी ट्रेन यात्रा के दौरान मांग पर प्रासंगिक डिजिटल ऐप्स का लाभ ले पाएंगे। एक प्रेस घोषणा में, मध्य रेलवे के महाप्रबंधक, श्री अनिल कुमार लाहोटी ने शुगरबॉक्स नेटवर्क्स के सह-संस्थापक श्री रोहित परांजपे, श्री रिपुंजय बारारिया, श्री देवांग गोराडिया और डीआरएम, मुंबई डिवीजन, श्री. शलभ गोयल के साथ इस सेवा का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उनकी टीम भी उपस्थित थी। यह साझेदारी आधुनिकतम प्रौद्योगिकी के ज़रिए अपने ग्राहकों को प्रदान किए जाने वाले अनुभवों को अधिकतम बढ़ाने के मध्य रेलवे के भविष्य के लक्ष्यों को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।  नेटवर्क्स के को-फ़ाउंडर रोहित परांजपे ने बताया, 'ट्रेन के हर कोच में दो डिवाइस लगाए गए हैं, जो लोकल एरिया नेटवर्क के तौर पर काम करेंगे। ऐप पर लॉगिन करने के बाद यात्री को मोबाइल नंबर डालना पड़ेगा और ओटीपी मिलने के बाद कनेक्ट हो जाएगा। यात्री कॉन्टेंट को डाउनलोड भी कर सकते हैं।' मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अनिल कुमार लाहोटी ने बताया, 'इसी साल सभी ट्रेनों में यह सुविधा उपलब्ध होने की उम्मीद है। मध्य रेलवे की लोकल ट्रेनों में अब ऐसे डिवाइस लगाए गए हैं, जिससे यात्रियों का मनोरंजन होगा। यात्री अपने मोबाइल पर ही फिल्में, वेब सीरीज या सीरियल का लुत्फ उठा सकेंगे। वह भी बिना इंटरनेट का इस्तेमाल किए। इस दौरान बफरिंग का भी कोई झमेला नहीं होगा। यानी बिना रुकावट के विडियो देख सकेंगे। इसके लिए मध्य रेलवे ने शुगरबॉक्स कंपनी से हाथ मिलाया है, जो ट्रेनों में मनोरंजक का कॉन्टेंट मुहैया कराएगी। रेलवे को यह कंपनी 5 साल में 8.17 करोड़ रुपये देगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: