मधुबनी : भाकपा माले का राज्य सम्मेलन 25-27 मार्च को गया में होगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 फ़रवरी 2022

मधुबनी : भाकपा माले का राज्य सम्मेलन 25-27 मार्च को गया में होगा

  •  ★14मार्च को दलित-गरीबों को उजाड़ने के खिलाफ वास आवास कानून बनाने की मांग पर विधानसभा के सामने प्रदर्शन होगा~धीरेंद्र झा
  • ●मठ मंदिर की जमीन पर स्वेत पत्र प्रकाशित करे ज़िला प्रशासन-मधुबनी~भाकपा- माले
  • ★मनरेगा में लूट के खिलाफ 200 दिन काम,600 रुपये दैनिक मज़दूरी और कार्यस्थल पर मज़दूरी भुगतान को लेकर आंदोलन तेज होगा

pi-ml-dhirendra-jha
जयनगर/मधुबनी , जयनगर बस्ती,मध्य विद्यालय परिसर में भाकपा माले ज़िला कमिटी की दो दिवसीय बैठक 13-14 फरवरी को ज़िला सचिव ध्रुव नारायण कर्ण की अध्यक्षता में हुई।बैठक को सम्बोधित करते हुए भाकपा माले पोलित ब्यूरो सदस्य सह ज़िला प्रभारी धीरेंद्र झा ने कहा कि मोदी सरकार देश को लुटरे पूंजीपतियों के हाथों बेच रही है। खेती-किसानी,रोज़गार,शिक्षा-स्वास्थ्य आदि जनाधिकारों के साथ खिलवाड़ करने वाली सरकार के खिलाफ व्यापक जनाक्रोश है।मंहगाई अब लोगों के बर्दास्त से बाहर है।बढ़ते जनाक्रोश को बरगलाने के लिये हिन्दू-मुस्लिम का कार्ड यह सरकार खेल रही है।नीतीश सरकार भाजपा के इस देश विरोधी खेल में शरीक है।नीतीश राज़ में किसानों को यूरिया तक नही मिल रहा है और न रोटी-रोज़गार!इन सवालों को लेकर भाकपा माले का आंदोलन पूरे बिहार में चल रहा है।यह सरकार दलित-गरीबों को वास भूमि और आवास देने के बदले गरीब उजाड़ो अभियान चला रही है।इसका डटकर विरोध होगा और नया वास आवास कानून की मांग पर विधानसभा के समक्ष14 मार्च को प्रदर्शन होगा।मनरेगा में लूट के खिलाफ 200 दिन काम,600 रुपये मज़दूरी और कार्यस्थल पर पेमेंट का मुद्दा भी मज़बूती से उठाया जाएगा।ज़िला सचिव कामरेड कर्ण ने कहा कि मठ मंदिर के पास हज़ारों एकड़ जमीन है और उसका गैर कानूनी निबंधन हो रहा है।उन्होनें कहा कि इन जमीनों का रजिस्ट्री और जमाबंदी खारिज़ करते हुए प्रशासन को स्वेतपत्र प्रकाशित करना चाहिए।इस मौके पर बोलते हुए माले नेता भूषण सिंह ने कहा कि जयनगर के समग्र विकास के लिये आंदोलन तेज होगा।जयनगर के मज़दूरों के हकोहकूक के मुद्दे के प्रति प्रशासन उदासीन है। बैठक में जिला कमिटी सदस्य उत्तिम पासवान, लक्षण राय , श्याम पण्डित ,अनील सिंह , प्रेम झा , योगनाथ मंडल ,बेचन राम , विशंभर कामत , विजय दास , योगेंद्र यादव सहित अन्य साथियों ने भाग लिया।

कोई टिप्पणी नहीं: