केरल के कन्नूर में माकपा कार्यकर्ता की हत्या - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 21 फ़रवरी 2022

केरल के कन्नूर में माकपा कार्यकर्ता की हत्या

cpm-worker-killed-in-kerala
कन्नूर (केरल), 21 फरवरी, केरल के कन्नूर जिले में रविवार देर रात मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) के एक कार्यकर्ता की कथित तौर पर हत्या कर दी गई। पुलिस ने सोमवार को बताया कि पेशे से मछुआरे हरिदासन पर रविवार देर रात करीब डेढ़ बजे हमलावरों ने न्यू माहे के निकट पुन्नोल में उसके घर के सामने तब हमला किया जब वह काम से लौट रहा था। पुलिस ने बताया कि 54 वर्षीय हरिदासन को पड़ोसी तलास्सेरी के अस्पताल ले गए लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। माकपा ने आरोप लगाया है कि उसके कार्यकर्ता की राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस)-भाजपा के लोगों ने हत्या की है। हालांकि, भाजपा ने इन आरोपों से इनकार किया है और कहा है कि माकपा कार्यकर्ता की हत्या स्थानीय मुद्दों की वजह से हुई है और भाजपा तथा आरएसएस का इससे कोई लेना देना नहीं है। माकपा ने आरोप लगाया कि हरिदासन पर ‘‘ आरएसएस कार्यकर्ताओं ने बर्बर हमला किया और उस पर धारदार हथियार से कई बार वार किए और उसका एक पैर काट दिया’’ ताकि उसकी मौत सुनिश्चित हो सके। इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि पुलिस को हरिदासन की निर्मम हत्या में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह स्पष्ट है कि यह राज्य में शांतिपूर्ण माहौल को नष्ट करने के लिए एक सुनियोजित घटना थी। उन्होंने लोगों से अशांति पैदा करने की कोशिशों को शिकस्त देने की अपील की। विजयन ने लोगों से उकसावे में नहीं आने और क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने के लिए सहयोग करने का भी आग्रह किया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने आरोपों से इनकार किया और घटना की व्यापक जांच की मांग की। इस घटना की निंदा करते हुए, विधानसभा में विपक्ष के नेता वी डी सतीशन ने आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से खराब हो गई है और पुलिस और गृह विभाग निष्क्रिय हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया, "वामपंथी शासन के तहत लोगों के जीवन की कोई सुरक्षा नहीं है।" पुलिस के मुताबिक, घटना के सिलसिले में सात लोगों को हिरासत में लिया गया है। जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि हरिदासन के शरीर पर 20 से अधिक घाव हैं। इसने कहा कि हमला तलवार सहित अन्य हथियारों से किया गया था और गहरे घाव की वजह से मौत हुई। हरिदासन का शाम में पोस्टमॉर्टम किया गया जिसके बाद उसके घर के परिसर में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। हिंसा की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए, पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है, और पूरे क्षेत्र की निगरानी की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: