अचानक ICYM चेलिडांगा युवा समूह भंग - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 27 फ़रवरी 2022

अचानक ICYM चेलिडांगा युवा समूह भंग

icym-chelidanga-youth-comittee

चेलिडांगा. हर रविवार की तरह यूथ संत जोंस चर्च चेलिडांगा में मिस्सा सुनने गये थे,तब पल्ली पुरोहित के द्वारा अचानक घोषणा कर दी गयी कि ICYM चेलिडांगा युवा समूह को संत जोंस चर्च चेलिडांगा को पैरिश प्रीस्ट और पैरिश काउंसिल के द्वारा भंग कर दिया गया है और अब यह समूह प्रभाव में नहीं है.


सिनॉडकाल में यूथ को जोड़ने के बदले अलगथलग ही कर दिया     

आसनसोल धर्मप्रांत में बिशप का पद खाली है.इस धर्मप्रांत में संत जोंस चर्च पल्ली है.इस संत जोंस चर्च चेलिडांगा के पैरिश प्रीस्ट फादर मैथ्यू डॉल्फी हैं.फादर मैथ्यू को भावी बिशप के रूप में देखा जा रहा था.जब से पल्ली पुरोहित बनकर फादर डॉल्फी आए,तब से पल्ली में शानदार कार्य करना शुरू कर दिये.हर स्तर के लोगों के बीच में शानदार पुरोहित होने इमेज खड़ा करने में सफल हो गये.यहां के यूथ को लपक लिये. ICYM चेलिडांगा युवा समूह  के माध्यम से कोरोनाकाल में परोपकारी कार्य करके नेतृत्व क्षमता को विकसित करने में सफल हुए.देश-प्रदेश में कोरोना का कहर कम होने की तरह ही ICYM चेलिडांगा युवा समूह  के महत्व कम दिया गया.अब हाल यह है कि ICYM चेलिडांगा युवा समूह  को भंग कर दिया गया.


यूथ में आक्रोश नहीं पनपा

ICYM चेलिडांगा युवा समूह को संत जोंस चर्च चेलिडांगा के यूथ लोगों का आक्रोश में कहना है कि अब हमलोगों के पास टाइम नहीं है.जो यूथ हैं उनमें बहुतों की शादी हो गयी है.और तो और बहुतों को काम लग गया हैं.शादी और नौकरी लग जाने से पारिवारिक जीवन में यूथ लग गये हैं.यूथ सोशल वर्क को छोड़कर पारिवारिक लाइफ में व्यस्त हो गये हैं.इन्हीं कारणों से यूथ के पास टाइम नहीं है.इसके आलोक में यूथ ICYM चेलिडांगा युवा समूह को छोड़ दिये है.यहां पर विधानसभा की तरह ही ICYM चेलिडांगा युवा समूह को भंग कर दिया गया.होना यह था कि विधान परिषद की तरह व्यवहार करके व्यस्त रहने वालों को पार्ट टाइम में रख लेते.इस तरह यूथ में आक्रोश नहीं पनपता.


मगर यूथ फेबिकॉल की तरह पीपुल्स और चर्च से जुड़कर सेवा करना चाहते हैं

भंग ICYM चेलिडांगा युवा समूह के यूथ का कहना है कि हमलोगा अभी भी रेडी है,जब भी टाइम मिलेगा,तब हमलोग लोगों की और चर्च की सेवा कार्य करते रहेंगे.उनका कहना कि हम युवाओं को यानी पूर्व सदस्यों ने निश्चय किये है कि अपने फेसबुक पेज का नाम बदलकर "यूथ फॉर क्राइस्ट" कर दें.जो कर दिया गया है.यहां प्रत्येक को सूचित किया जाता है कि यह एक 'अनऑफिशियल' पेज है और इसे पूर्व युवा सदस्यों द्वारा संचालित किया जाता है. हालाँकि, हम इस पृष्ठ को नहीं हटाएंगे हम अभी भी अपने पैरिशियन को पल्ली की गतिविधियों पर अपडेट रखेंगे और हमेशा भगवान और हमारे साथियों की सेवा करना जारी रखेंगे.एक सवाल है कि पल्ली परिषद के माननीय पार्षद भी शादीशुदा और नौकरी पेशा में व्यस्त रहते हैं तो पल्ली परिषद को भी भंग देना चाहिए था.


यह पता नहीं है सर, उनलोगों को क्या प्रॉबल्म था यूथ से

पैरिश से यूथ हटाया गया है.परसनल काम तो कर ही सकते है.जब मन करेंगा.इसमें कोई भी बोल नहीं सकता.अब पल्ली परिषद के पदेन अध्यक्ष पल्ली पुरोहित को मामला सलटाने का दायित्व आ गया है.यूथ में उत्पन्न आक्रोश को पल्ली के विकास में लगाना होगा.यह एक कठिन समय आ गया है.यह मामला दूर तक जाएगी.

कोई टिप्पणी नहीं: