बिहार : JDU में सभी एकजुट, सबका होता है अपना तरीका : नीतीश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 20 फ़रवरी 2022

बिहार : JDU में सभी एकजुट, सबका होता है अपना तरीका : नीतीश

jdu-united-nitish-kumar
पटना : मोदी कैबिनेट में आरसीपी सिंह का शामिल होने के बाद जदयू में ललन सिंह और आरसीपी सिंह के बीच आपसी कलह अब खुलकर लोगों के सामने आने लगे हैं। इसी बीच अब इस कला को कम करने के लिए पार्टी के दिग्गज नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सामने होते नजर आ रहे हैं। दरअसल, दिल्ली दौरे पर गए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जब यह सवाल किया गया कि जेडीयू में आरसीपी सिंह और ललन सिंह के बीच विवाद चल रहा है दोनों एक दूसरे के इतर चल रहे हैं इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है तो सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि जदयू में कहीं कोई आपसी मनमुटाव नहीं है दोनों एक दूसरे के सहयोगी हैं और दोनों का रिश्ता भी बेहद मधुर है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि हमारे यहां कुछ भी इधर-उधर नहीं है। जो लोग भी गलतफहमी पाले बैठे हैं उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि पार्टी में सब लोग एकजुट हैं। कुमार ने कहा कि ललन सिंह और आरसीपी सिंह को लेकर विवाद की जो खबरें चलती रहती हैं। उसमें कोई दम नहीं है। सभी लोग पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम कर रहे हैं। बता दें कि, केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव के बेटी की शादी में शामिल होने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली प्रवास पर गए हैं। इस शादी में शामिल होने के बाद नीतीश कुमार आरसीपी सिंह के आवास पर भी गए और तकरीबन दोनों नेताओं के बीच तीन-चार घंटे बातचीत भी हुई। इसके बाद जब आज नीतीश कुमार से आरसीपी और ललन विवाद पर सवाल किया गया तो उन्होंने बड़े बेबाकी के साथ अपनी प्रतिक्रिया दी। हालांकि,जदयू के सदस्यता अभियान को लेकर कुमार ने ललन सिंह का पक्ष लेते हुए इतना जरूर कहा कि इसका फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष ही कर सकते हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि दोनों पार्टी के नेता हैं और बात रखने का दोनों का अपना-अपना तरीका है। नीतीश कुमार शायद इस बात को समझ रहे थे कि आरसीपी सिंह और ललन सिंह जिस तरह एक दूसरे के खिलाफ बयान दे रहे हैं उससे नुकसान जेडीयू का हो रहा है। इसी के मद्देनजर अब उन्होंने इस विवाद पर अपनी तरफ से पानी डालने का प्रयास किया है।

कोई टिप्पणी नहीं: