बिहार : तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पर साधा निशाना - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2022

बिहार : तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पर साधा निशाना

tejasvi-yadav-attack-election-commission
पटना : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा प्रकोष्ठ के रूप में कार्य ना करते हुए चुनाव आयोग को अपने संवैधानिक दायित्वों और कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए। दरअसल, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राजद के प्रदेश प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव द्वारा चुनाव आयोग को लेकर की गई टिप्पणी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उक्त बातें कही। वहीं, राजद प्रवक्ता ने कहा कि सात माह से बिहार विधान परिषद की 24 सीटें खाली है, जो स्थानीय निकाय से भरे जाते हैं। ज्ञात हो कि बिहार में पंचायत चुनाव दिसम्बर, 2021 में सम्पन्न हो चुका है। फिर भी भारत का निर्वाचन आयोग चुनाव के अधिसूचना क्यों जारी नहीं कर रही है? विधान मंडल के सदस्यों के खाली सीटों पर हर हाल में छः महीने के अन्दर चुनाव करा लेने होते हैं पर ऐसा नहीं हो रहा है। कोरोना काल में देश के सभी राज्यों के चुनाव सम्पन्न होते आ रहे हैं। पंचायत के भी चुनाव कोरोना काल में ही सम्पन्न हुए हैं। जबकि विधान परिषद के लिए जो 24 सीटों पर चुनाव होने हैं उसमें जीते हुए स्थानीय निकाय के प्रतिनिधि हीं मतदान करते हैं। यह प्रतिनिधियों द्वारा चुने जाना वाला चुनाव है न कि आम चुनाव। राजद नेता ने कहा कि क्या चुनाव आयोग भाजपा के तोता के रूप में काम कर रही है? बिहार भाजपा के नेता यूपी सहित कई राज्यों के चुनाव में लगे हैं जिसके कारण चुनाव आयोग भाजपा के हरी झंडी का इंतजार कर रही है? स्वयात संस्था अपने कर्तव्यों के निर्वहन को छोड़कर सरकार के इशारे पर काम करेगी तो संविधानिक संस्थाओं पर सवाल उठना लाजिमी है।

कोई टिप्पणी नहीं: