दुनिया भर में लगभग हर साल 12.1 करोड़ गर्भधारण अनचाहे होते हैं - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 31 मार्च 2022

दुनिया भर में लगभग हर साल 12.1 करोड़ गर्भधारण अनचाहे होते हैं

12.1-crore-unwanted-pregnancy
संयुक्त राष्ट्र, 31 मार्च, दुनिया भर में लगभग हर साल 12.1 करोड़ गर्भधारण अनचाहे होते हैं। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है, जिसे संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष ने एक ‘‘एक उपेक्षित संकट’’ बताया है। ‘स्टेट ऑफ वर्ल्ड पॉपुलेशन’ की वार्षिक रिपोर्ट बुधवार को जारी की गई, जिसमें संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष ने बताया कि 60 प्रतिशत से अधिक अनचाहे गर्भधारण का परिणाम गर्भपात के रूप में सामने आता है। इनमें से अनुमानित 45 प्रतिशत गर्भपात असुरक्षित होते हैं, जिससे 5 से 13 प्रतिशत माताओं की मौत हो जाती है। संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष की कार्यकारी निदेशक डॉ. नतालिया कनेम ने कहा कि यह रिपोर्ट एक खतरे की घंटी की तरह है। उन्होंने कहा, ‘‘ महिलाओं के पास गर्भवती होने या नहीं होने से जुड़ा कोई विकल्प ही नहीं है, क्योंकि अनचाहे गर्भधारण के चौंका देने वाले यह आंकड़े महिलाओं और लड़कियों के बुनियादी मानवाधिकारों को बनाए रखने में दुनिया की विफलता को दर्शाते हैं।’’ रिपोर्ट के अनुसार, 1990 से 2019 के बीच अनचाहे गर्भधारण की दर में प्रत्येक 1,000 महिलाओं पर 79 से 64 तक की गिरावट आई है और यह कुछ राहत देने वाली बात है। इनमें 15 से 49 वर्ष की आयुवर्ग की महिलाएं शामिल हैं। हालांकि, इस तथ्य पर भी ध्यान दिया जाना जरूरी है कि जनसंख्या बढ़ने के कारण 30 साल की अवधि में अनचाहे गर्भधारण का अनुभव करने वाली महिलाओं की कुल संख्या में लगभग 13 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। अध्ययन के अनुसार, दुनिया भर में अनुमानित 25.7 करोड़ महिलाएं जो गर्भवती नहीं होना चाहतीं, वे गर्भनिरोधक के सुरक्षित तथा आधुनिक तरीकों का उपयोग नहीं कर रही हैं। 47 देशों में यौन संबंध बनाने वाली लगभग 40 प्रतिशत महिलाएं गर्भनिरोधक तरीकों का इस्तेमाल नहीं कर रही हैं। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष 64 देशों में 23 प्रतिशत महिलाएं यौन संबंध बनाने के लिए ना कहने में असमर्थ थीं, 24 प्रतिशत महिलाएं अपनी स्वास्थ्य देखभाल के बारे में निर्णय लेने में असमर्थ थीं और 8 प्रतिशत महिलाएं गर्भनिरोधक के बारे में निर्णय लेने में असमर्थ थीं। रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘ इसका मतलब है कि केवल 57 प्रतिशत महिलाएं ही यौन संबंध बनाने और गर्भधारण करने संबंधी निर्णय लेने में सक्षम थीं।’’ रिपोर्ट में कहा गया कि ब्रिटिश पत्रिका ‘द लैंसेट’ में 2020 में प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, ‘‘ 2015 से 2019 के बीच हर साल लगभग 12.1 करोड़ गर्भधारण अनचाहे थे।’’

कोई टिप्पणी नहीं: