विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 12 मार्च 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मार्च

प्रत्येक विकासखण्ड में हर माह दो रात्रि चौपाल कार्यक्रमों का आयोजन


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के मार्गदर्शन में ग्रामीणजनों की मूलभूत समस्याओं से अवगत होकर उनका गांव में ही निराकरण संभव हो इसके लिए रात्रि चौपाल कार्यक्रमों के आयोजनो की जिले में शुरूआत की गई है। 11 मार्च शुक्रवार को नटेरन विकासखण्ड के दस ग्रामों में एक साथ रात्रि चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि जिला मुख्यालय से विभागों के अधिकारी एक साथ बस में बैठकर रवाना होते है। दस-दस के क्लस्टर गठित किए गए है प्रत्येक क्लस्टर के लिए नोडल, सहायक नोडल भी नियुक्त किए गए है जिन ग्रामों में रात्रि चौपाल का आयोजन किया जाना है उन ग्रामों में स्थानीय नागरिकों को इसकी सूचनाएं पूर्व में ही प्रेषित की जा रही है साथ ही ग्राम स्तरीय अमले के द्वारा ग्राम चौपाल में शामिल होने के लिए ग्रामीणजनों से जीवंत सम्पर्क बनाए रखा जा रहा है। नटेरन विकासखण्ड के ग्राम बरखेडाजागीर, सेऊ, इमलिया, पिपलधार, बिछिया, बम्होरी, डंगरबाडा, जमनयाई, बरूआखार एवं नटेरन में एक साथ रात्रि चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इन ग्रामो के लिए पृथक-पृथक नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए थे। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि रात्रि चौपाल में गठित दलो को रवाना होने से पहले निर्धारित प्रपत्रों में जानकारियों संकलित करने हेतु आवश्यक मार्गदर्शन दिया गया साथ ही प्रपत्र मुहैया कराए गए थे। जिन ग्रामों में रात्रि चौपाल का आयोजन किया गया है उन सभी ग्रामों में नोडल अधिकारियों के द्वारा ग्राम गौरव दिवस आयोजन की तिथि का निर्धारण ग्रामवासियों की आम सहमति से निर्धारण करना। इसके अलावा नलजल योजना का संचालन समूहो को सौंपना, ग्राम स्तरीय अमला समय पर उपस्थित होकर शासकीय सेवाओं का संपादन कर रहे है कि नहीं। इसके अलावा विभिन्न विभागो के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं का लाभ ग्राम के सुपात्रों को मिल रहा है कि नहीं। ऐसी समस्याएं जिनका निराकरण ग्राम, जनपद स्तर पर संभव है ऐसी समस्याओं से अवगत कराने हेतु आमजन जिला मुख्यालय, जनसुनवाई कार्यक्रम में सम्मिलित ना हो ताकि उनका आने-जाने में समय व धन खर्च ना हो और उनकी समस्या ग्राम, जनपद स्तर पर ही हल हो जाए के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करते हुए आमजनों को इस प्रकार के संदेश से अवगत कराना है। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने स्वंय ग्राम बरखेडाजागीर में पहुंचकर रात्रि चौपाल कार्यक्रम की शुरूआत की है। उन्होंने यहां ग्रामीणजनों से गहन संवाद कर ग्राम की मूलभूत समस्याओं, उपलब्धियों को जाना है। उन्होंने ग्राम विकास की अवधारणा के लिए सभी को मिल-जुलकर कार्य करने का आव्हान किया है। इससे पहले उन्होंने रात्रि चौपाल आयोजन के उद्धेश्यों से ग्रामवासियों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि शासन की सभी योजनाओं का लाभ स्थानीय सुपात्र ग्रामवासियों को मिले इस कार्य में ग्रामवासियों का सहयोग अतिआवश्यक है। यदि कोई अपात्र व्यक्ति योजना का लाभ ले रहा है तो उसका नैतिक दायित्व है कि लाभ लेना बंद करें। उन्होंने उचित मूल्य दुकानों से वितरित होने वाले खाद्यान्न, आवासो के लिए आवंटित राशि, ग्राम में स्वच्छता के मापदण्डों का पालन करने, दूषित जल सडको पर बहें ना, ग्रीष्मकाल के दौरान पेयजल आपूर्ति के लिए बेहतर प्रबंध हो साथ ही ग्राम के पशुधन को भी चारा व पीने के पानी की प्राप्ति में व्यवधान ना हो उन्होंने बालिका शिक्षा पर भी विशेष बल दिया है। इस दौरान ग्रामवासियों से उनकी मूलभूत समस्याओं से अवगत होने के उपरांत उन सबका शीघ्र ही निराकरण अविलम्ब कराए जाने से उन्होंने आश्वस्त कराया। 


विदिशा जिला प्रदेश में छठवें स्थान पर, 98 प्रतिशत कर्मचारियों की ई प्रोफाइल पूर्ण हुई


जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि  प्रदेश में सभी जिला कोषालय में शासकीय कर्मचारियों जिनका वेतन ट्रेजरी  के माध्यम से आहरण होता है उन सभी ई  प्रोफाइल  अपडेट की जा रही है। इस कार्य में विदिशा जिला प्रदेश में छठवें स्थान पर हैं । कोष एवं लेखा  आयुक्त श्री ज्ञानेश्वर पाटिल ने  वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उपरोक्त कार्यो की जिलेवार समीक्षा की उन्होंने विदिशा जिले में इस संबंध में कि गए पहल का उदाहरण अन्य जिलों को दिया है। जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि विदिशा जिले में कुल 11450 अधिकारियों-कर्मचारियों का वेतन ट्रेजरी के माध्यम से आहरण होता है। इन सभी को अपनी अपनी ई प्रोफाइल अपडेट करनी थी अर्थात यदि कोई अधिकारी  कर्मचारी अपना नामिनेशन बदलना चाहता था फिर अन्य त्रुटि सुधार करना चाहते हैं के कार्य समय सीमा में  संपादित किए जाने हैं।   जिले 11329 अधिकारियो कर्मचारियों के द्वारा अपनी ई प्रोफाइल अपडेट की जा चुकी है। अब 11340 फैमिली, 11253 नामिनेशन, 11345 ने एमआई एससी डाटा तथा 11148 के द्वारा ई प्रोफाइल में सुधार किया गया है।


’’पेयजल समस्या निवारण प्रकोष्ठ’’ का गठन, कंट्रॉल रूम का दूरभाष नंबर 07592-250663


लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष साल्वे ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित ना हो खासकर हेण्डपंप और नलजल योजना के माध्यम से जल की आपूर्ति सतत बनी रहें। यदि कहीं हेण्ड पंप व नलजल योजना की मशीनों में खराबी आती है तो अविलम्ब जानकारी प्राप्ति के लिए जिला मुख्यालय के साथ-साथ उपखण्ड मुख्यालयो पर भी कंट्रोल रूम गठित किए गए है ताकि सूचना प्राप्ति के उपरांत अविलम्ब मरम्मत संबंधी कार्य शीघ्र संपादित किया जा सकें। पीएचई के ईई श्री साल्वे ने बताया कि जिला स्तर पर कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07592-250663 है वहीं कंट्रोल रूम प्रभारी श्री अमित श्रीवास्तव का मोबाइल नम्बर 7999775044 है। कंट्रोल रूम प्रातः दस बजे से सांय छह बजे तक शासकीय अवकाशों में भी क्रियाशील रहेंगें। जिला मुख्यालय के साथ-साथ सभी उपखण्ड मुख्यालयों पर भी कंट्रोल रूम की तर्ज पर अधिकारियों को जबावदेंही सौंपी गई है साथ ही उनके मोबाईल नम्बरों पर पेयजल संबंधी समस्या से सीधे अवगत कराकर समाधान प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए विदिशा उपखण्ड में सहायक यंत्री श्री अमर दाहिया 9584006571 जिनका कार्यक्षेत्र विदिशा एवं नटेरन रहेगा। जबकि उपयंत्री श्री सीएल अहिरवार 9425652354 को विदिशा का तथा उपयंत्री श्री दीपक शाह 8770649019 को नटेरन विकासखण्ड क्षेत्र का दायित्व सौंपा गया है। ग्यारसपुर विकासखण्ड के लिए सहायक यंत्री श्री जेएस सिरोही 9893425234, उपयंत्री श्री प्रताप सिंह ठाकुर 9406609005 को तथा बासौदा उपखण्ड के लिए सहायक यंत्री श्री हेमंत कुमार कश्यप 9981067667 को बासौदा एवं कुरवाई क्षेत्र का, उपयंत्री श्री महेन्द्र शिल्पकार 7000114650 को बासौदा का तथा उपयंत्री श्री एमके मोदी 9755055224 को कुरवाई क्षेत्र हेतु नियुक्त किया गया है। कुरवाई उपखण्ड अंतर्गत सहायक यंत्री श्री मुजीबउलहसन 8770404771 को सिरोंज एवं लटेरी क्षेत्र का जबकि उपयंत्री श्री एसके कुम्हार 9425640704 को सिरोंज का तथा उपयंत्री श्री देवी सिंह मर्सकोले 8462891133 को लटेरी क्षेत्र का दायित्व सौंपा गया है। कंट्रोल रूम में ड्यूटी पर कार्यरत कर्मचारी निर्धारित समय पर उपस्थित होकर टेलीफोन काल अटेण्ड करेंगे एवं पेयजल समस्या तथा हेण्डपंप खराबी से संबंधित शिकायतें प्राप्त होने पर रजिस्टर्ड में दर्ज करने के उपरांत संबंधित सहायक यंत्री, उपयंत्री को अवगत कराएंगे एवं समय सीमा में निराकरण की कार्यवाही रिपोर्ट प्राप्त कर रजिस्टर में दर्ज करेंगे।


जिला स्तरीय टीएलएम मेला का आयोजन सोमवार को


राज्य शिक्षा केन्द्र से प्राप्त दिशा निर्देशो का हवाला देते हुए डीपीसी श्री एसपी जाटव ने बताया कि जिला स्तरीय टीएलएम मेला सोमवार 14 मार्च को आयोजित करने के निर्देश प्राप्त हुए है। निर्देशो के परिपालन में जिला मुख्यालय पर टीएलएम मेला शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (एमएलबी), में प्रातः 11 बजे से शुरू होगा। जिला स्तरीय टीएलएम मेला में कक्षा एक से आठ तक के बच्चे एवं शिक्षक हर ब्लाक से शामिल होंगे। इसके लिए नौ-नौ सहभागी निर्धारित किए गए है। जिसमें तीन हिन्दी भाषा व तीन गठित तथा तीन विज्ञान के प्रतिभागी हरेक विकासखण्ड के शामिल होंग। इस प्रकार सातो विकासखण्ड के कुल 63 सहभागी शामिल होंगे। 


बैचिंग मैचिंग कार्यक्रम तहत गर्भवती माताओं की जांच


vidisha news
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पीपलखेडा क्षेत्र में माह के द्वितीय शनिवार को वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक के द्वारा बैचिंग मैचिंग कार्यक्रम के तहत गर्भवती माताओं के स्वास्थ्य का परीक्षण किया जा रहा है। खासकर हाई रिस्क गर्भवती माताओं की देखभाल और चिकित्सीय परामर्श प्रदाय किया जा रहा है। शनिवार 12 मार्च को वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ निर्मला तिवारी ने पीपलखेडा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पहुंचकर संस्था में आयीं 25 गर्भवती माताओं के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया है। परीक्षण के दौरान 15 गर्भवती महिलाएं हाई रिस्क श्रेणी में पायी गई है इनके स्वास्थ्य सुधार हेतु आवश्यक निर्देश व दवाईयां चिकित्सक के द्वारा प्रदाय की गई है। इस अवसर पर मेडिकल आफीसर डॉ संतोष किरार, स्टाफ नर्स बेला धुर्वे और सरिता के अलावा खण्ड विस्तार प्रशिक्षक श्री देवेन्द्र बघेल मौजूद रहें। 


कार्यभार ग्रहण


सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएं के उप आयुक्त पद का अतिरिक्त प्रभार रायसेन जिले के सहायक आयुक्त सहकारिता श्री पुष्पेन्द्र कुशवाह को सौंपे जाने का आदेश विभाग के आयुक्त द्वारा जारी किया गया था के परिपालन में श्री कुशवाह द्वारा विदिशा जिले का भी कार्यभार ग्रहण किया गया है। श्री कुशवाह का मोबाइल नम्बर 97536 48700 है। श्री कुशवाह के पास रायसेन व विदिशा दोनो जिलो का प्रभार है।


93 हजार से अधिक कृषकों ने पंजीयन कराया


विदिशा जिले में समर्थन मूल्य पर गेंहू, चना एवं मसूर के विक्रय हेतु 93 हजार 923 कृषकों के द्वारा पंजीयन कराया गया है कि जानकारी देते हुए जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि विगत वर्ष एक लाख 17 हजार कृषकों के द्वारा पंजीयन कराया गया था। इस वर्ष तहसीलवार कृषकों के द्वारा कराए गए पंजीयन की जानकारी इस प्रकार से है विदिशा में 19152, सिरोंज में 10967, बासौदा में 9822, शमशाबाद में 9330, नटेरन में 8542, लटेरी में 7354, कुरवाई में 7210, ग्यारसपुर में 6247, गुलाबगंज में 5734, त्योंदा में 3859, पठारी में 3058 तथा विदिशा शहरी तहसील अंतर्गत 2648 कृषकों के द्वारा पंजीयन कराया गया है। जिले में गेंहू उपज को समर्थन मूल्य पर विक्रय करने हेतु 87377 कृषकों के द्वारा, चना फसल के लिए 23975 तथा मसूर के लिए 12842 कृषकों ने पंजीयन कराया है। गौरतलब हो कि शासन द्वारा गेंहू का समर्थन मूल्य 2015 रूपए प्रति कि्ंवटल, चना का 5230 रूपए प्रति कि्ंवटल जबकि मसूर का समर्थन मूल्य 5500 रूपए प्रति कि्ंवटल घोषित किया गया है।


क्रिस्प  भोपाल में बीपीसीएल प्रायोजित आवासीय कौशल विकास प्रशिक्षण, कार्यक्रमों के नए बैच प्रारंभ


क्रिस्प भोपाल बीपीसीएल प्रायोजित आवासीय कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों के नए बैच शुरू कर रहा है प्रशिक्षण । यह प्रशिक्षण कार्यक्रम म.प्र. के  जिलों के बेरोजगार युवाओं को रोजगार हेतु तैयार करेंगे व आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश पर आधारित स्वरोजगार हेतु भी उन्हें मार्गदर्शित करेंगें। सभी प्रशिक्षण कार्यक्रम आवासीय हैं और बीपीसीएल द्वारा विधिवत प्रायोजित हैं। प्रशिक्षण के पश्चात  बीपीसीएल (भारत सरकार) द्वारा प्रमाणपत्र प्रदान किये जावेगा, व रोजगार हेतु सक्षात्कार आयोजित किये जायेगे। क्रिस्प प्लेसमेंट में  भी सहायता करेंगे इन कार्यक्रमों में प्रवेश पहली बार प्रवेश करने के लिए, पहले पाओ के आधार पर नौकरी की भूमिकाएं इस प्रकार हैं। क्रिस्प के माध्यम से जिन क्षेत्रों में प्रशिक्षणार्थियों को नौकरी के अवसर मुहैया कराए जाएंगे उनमें डाटा एंट्री ऑपरेटर सह कार्यालय कार्यकारी, हेल्पर इलेक्ट्रीशियन, मशीनिस्ट सीएनसी ऑपरेटर-वर्टिकल मशीन सेंटर, ऑटोमोटिव सर्विस टेक्निशियन लेवल 3 (4 व्हीलर), ट्रैक्टर ऑपरेटर, ऑटोमोटिव सर्विस टेक्निशियन- 2 और 3 व्हीलर शामिल है। क्रिस्प के प्रबंध निदेशक अधिकारी  श्री श्रीकांत बी पाटिल ने क्रिस्प के क्रियाकलापों के बारे में जानकारी प्रदान की एवं विगत 24 वर्षो में क्रिस्प द्वारा कौशल विकास एवं प्रशिक्षण के क्षेत्र में किये गये कार्यों पर प्रकाश डाला । श्री श्रीकांत बी पाटिल ने बताया कि क्रिस्प द्वारा प्रथम बैच में सूर्यमित्र एवं प्लम्बिंग क्षेत्र में  40 प्रशिक्षणार्थियों का प्रशिक्षण पूर्ण कर लिया गया एवं फाइनल असेसमेंट सम्बिंधत सेक्टर स्किल काउंसिल द्वारा किया जा चुका है। सभी प्रशिक्षण कार्यक्रम आवासीय हैं और बीपीसीएल द्वारा विधिवत प्रायोजित हैं प्रशिक्षण में शामिल होने के इच्छुक अभ्यर्थीगण उल्लेखित बेवसाइट  www.crispindia.com    से भी विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं: