समद शेख का अल्बम जल्द होगा रिलीज़ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 मार्च 2022

समद शेख का अल्बम जल्द होगा रिलीज़

samad-shekh-album
मुंबई के बोरीवली वेस्ट में स्थित प्रबोधनकर ठाकरे हॉल में समद शेख ने बच्चों के लिए एक शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया। जहां बच्चों ने कई ड्रामों में अपनी अभिनय कला का बखूबी प्रदर्शन किया। यहां शैलेन्द्र एजुकेशन सोसाइटी इंग्लिश सेकंडरी स्कूल दहिसर की प्रिंसिपल चित्रा दिनेश हडकर भी मौजूद थीं। समद शेख ने कहा कि प्रिंसिपल चित्रा जी ने मेरा काफी सपोर्ट किया। उनके स्टूडेंट ने यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम में बेहतरीन परफॉर्मेंस पेश की। इस अवसर पर मीडिया से बात करते हुए समद शेख ने स्वर कोकिला लता मंगेशकर और बप्पी लहिरी की मौत पर बेहद दुख व्यक्त किया और श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि लता मंगेशकर जैसी सिंगर न पहले थीं और न कभी वैसी सिंगर आएंगी। लताजी के गाने उन्हें हमेशा जिंदा रखेंगे। यहां सभी बच्चों ने बहुत ही आत्मविश्वास के साथ स्टेज पर अदाकारी की और बताया कि समद और तुषार सर उन्हें बहुत ही अच्छे ढंग से अभिनय की बारीकियां सिखाते हैं।  उल्लेखनीय है कि सिंगर समद शेख ने अजीत वर्मा की फ़िल्म ‘रक्तधार’ से अपनी सिंगिंग कॅरियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म में समद शेख ने अपनी आवाज़ का जादू जगाया था। उन्होंने एक सिचुएशनल गीत गाया था जिसे दर्शकों की ओर से शानदार रेस्पॉन्स मिला था। समद शेख की आवाज़ मेे एक ऐसा अंदाज है, जो इन्हें दूसरे सिंगर्स से अलग बनाता है। मोहम्मद रफ़ी और अरिजीत सिंह की गायकी से प्रभावित समद शेख सिंगिंग में अपना एक स्टाइल बनाना चाहते हैं। उनका नया अल्बम बहुत जल्द रिलीज होने वाला है। वह बताते हैं कि कोविड 19 की वजह से इस के रिलीज में देर हो गई लेकिन अब जल्द ही एक बड़ी म्यूज़िक कम्पनी से यह गाना रिलीज होगा। सिंगर समद शेख ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनका यह नया गाना इश्क़ाना ऑडिएंस को अवश्य पसन्द आएगा। उन्होंने अपने इस गीत का मुखड़ा सुनाया जिसे सभी ने खूब सराहा। समद शेख प्रतिदिन गायकी का रियाज़ करने में विश्वास रखते हैं और शायद इसी लिए उनकी आवाज में एक जादू महसूस होता है। यहां मौजूद सभी बच्चों ने समद शेख की तारीफ की। बच्चों में जबरदस्त आत्मविश्वास नजर आया और उनके अंदर गुरु के प्रति बेहद आदर भाव भी दिखा।

कोई टिप्पणी नहीं: