विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 30 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 मार्च 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 30 मार्च

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना तहत आवेदन सात तक आमंत्रित, काशी तीर्थ दर्शन हेतु चयनित तीर्थ यात्री 18 को स्पेशल ट्रेन से रवाना होंगे


मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत काशी तीर्थ दर्शन हेतु स्पेशल ट्रेन 18 अप्रैल को रवाना होगी। विदिशा जिले से सौ तीर्थ यात्रियों का चयन काशी तीर्थ दर्शन हेतु किया जाना है। इन तीर्थयात्रियों के साथ दो अनुरक्षक भी साथ जाएंगे। काशी तीर्थदर्शन यात्रा के लिए इच्छुक व्यक्तियों से आवेदन सात अप्रैल तक उल्लेखित स्थलों पर जमा कर सकते है। 


आवेदन

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत पात्रताधारी व्यक्ति अपने आवेदन अंतिम तिथि तक उल्लेखित स्थलों पर जमा कर सकेंगे। जारी निर्देशो के अनुसार नगरीय निकाय क्षेत्र के आवेदकगण नगरपालिका कार्यालय में तथा ग्रामीण क्षेत्र के आवेदक संबंधित जनपद पंचायत कार्यालय में कार्यालयीन दिवसों, अवधि में जमा कर सकेंगे।


पात्रता

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत प्रदेश के वरिष्ठ नागरिक जो 60 वर्ष या अधिक आयु के व्यक्ति हैं (महिलाओं के मामले में 2 वर्ष की छूट) जो आयकर दाता नहीं है। तीर्थ दर्शन हेतु आवेदन अंतिम तिथि तक जमा कर सकते हैं। प्रदेश के बाहर स्थित विभिन्न नाम निर्दिष्ट तीर्थ स्थानों में से एक या दो युग्म स्थानों की यात्रा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत सुलभ होगी।


चयन

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन येजना के तहत जिले को प्राप्त लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होते है तो हितग्राहियों का चयन कम्प्यूटर रेण्डमाईजेशन प्रणाली के माध्यम से जिला मुख्यालय पर किया जाएगा। जिले को प्राप्त लक्ष्य से दस प्रतिशत अतिरिक्त तीर्थ यात्रियों की पृथक से सूची तैयार की जाएगी। ताकि किसी कारण से कतिपय यात्री यात्रा में जाने में असमर्थ रहते है तो ऐसी स्थिति में प्रतीक्षा सूची के अनुक्रम अनुसार तीर्थयात्रियों को तीर्थयात्रा पर भेजा जा सकें। चयनित आवेदकों की सूची आईआरसीटीसी को कलेक्टर के माध्यम से प्रेषित की जाएगी। इसके पश्चात् चयनित तीर्थयात्रियों के योजना का क्रियान्वयन आईआरसीटीसी द्वारा किया जाएगा। ट्रेन जिस स्थान से प्रारंभ होगी उसी स्थान पर वापस आकर रूकेगी। तीर्थ यात्रियों को विशेष ट्रेन द्वारा प्रस्थान के स्टेशन से लेकर यात्रियों को वापिस उसी स्टेशन तक पहुंचाने की जिम्मेदारी आईआरसीटीसी की रहेगी। तीर्थ दर्शन यात्रा के दौरान यात्रियों को भोजन, नाश्ता, चाय के साथ-साथ यात्रियों के रूकने की व्यवस्था, उन्हें तीर्थ स्थान तक बसों द्वारा ले जाने, वापिस ट्रेन में लाने एवं गाईड की जिम्मेदारी आईआरसीटीसी की होगी। ट्रेन जिन-जिन स्थानों से प्रारंभ होगी एवं रूकेगी वहां तक यात्री को स्वयं अपने व्यय से आना होगा। उसके पश्चात् यात्रा हेतु कोई शुल्क देय नहीं होगा। परन्तु यदि कोई यात्री विशिष्ट सुविधाओं का लाभ प्रापत करता है, उसका व्यय यात्री स्वयं वहन करेगा। यात्रियों से अपेक्षा है कि वे मौसम के अनुरूप वस्त्र, के अलावा दैनिक दिनचर्या की वस्तुएं और तीर्थ यात्री अपने साथ ओरीजिनल आधार कार्ड, वोटर कार्ड एवं वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की छायाप्रति अनिवार्य रूप से रखें।


किरायेदारों, नौकरो की जानकारी थानों में उपलब्ध कराएं


कलेक्टर एवं जिलादण्डाधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने धारा 144 के अंतर्गत आदेश जारी कर सभी किराएदारों व नौकरो की जानकारी संबंधित थानो में उपलब्ध कराने के निर्देश मकान, दुकानमालिकों को जारी किए है। जिला दण्डाधिकारी श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि विदिशा जिले में अपराधिक घटनाओं में वृद्धि हो रही है साथ ही पड़ोसी जिलो में देश विरोधी तत्व भी पकड़े गए है। इन सब पर नियंत्रण रखने व त्वरित जानकारी के उद्धेश्य से जिले के सभी मकान, दुकान मालिकों को उनके किराएदारों, नौकरो की सूचना संबंधित थानें में अनिवार्य रूप से दर्ज कराने के निर्देश प्रसारित किए गए है जिससे किराएदार, नौकरों का सत्यापन ना होने से अनेक प्रकार की विषम परिस्थितियों का लाभ उठाकर अपराधिक प्रवृत्तियों के व्यक्ति अपराधो को घटित कर रहे है। इन सब पर प्रभावी नियंत्रण संभव हो के परिपेक्ष्य में उपरोक्त आदेश जारी किया गया है। जारी आदेश तिथि 29 मार्च से दो माह तक की अवधि के लिए जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा में प्रभावशील रहेगा। कलेक्टर श्री भार्गव ने जारी आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार कराए जाना सुनिश्चित करने के भी निर्देश राजस्व, पुलिस व नगरपालिका के अधिकारी को जारी किए गए है। उन्होंने आमजनों से ही ततसंबंध में जिला एवं पुलिस प्रशासन को पूर्वानुसार सहयोगप्रद करने की अपील की है।


रोजगार दिवस कार्यक्रम में योजना से लाभान्वित हितग्राहियों को बांटे स्वीकृति पत्र


vidisha news
रोजगार दिवस कार्यक्रम का आयोजन आज बुधवार को एसएटीआई कॉलेज के कैलाश सत्यार्थी सभागार में संपन्न हुआ।  कार्यक्रम का शुभारंभ बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य श्री मुकेश टंडन, डॉ राकेश जादौन व अन्य जनप्रतिनिधियों के अलावा कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट सहित अन्य की उपस्थिति में मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित करने के उपरांत कन्या पूजन कर किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के लाइव उद्बोधन के देखने व सुनने की व्यवस्था भी की गई थी। जिसे कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, अधिकारी, कर्मचारियों के अलावा योजना से लाभांवित हितग्राहियों एवं गणमान्य नागरिकों के द्वारा देखा व सुना गया।  कार्यक्रम की मुख्य अतिथि बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर अब जिलों में भी उपलब्ध कराए जा रहे है। ऐसे युवाजन स्वंय का रोजगार स्थापित करना चाहते है उन्हें विभिन्न योजनाओं के माध्यम से वित्त पोषण की कार्यवाही की जा रही है साथ ही शासन ऐसे युवाओं का योजनाओं के माध्यम से अनुदान भी मुहैया करा रहा है। विधायक श्रीमती जैन ने कहा कि स्वरोजगार परक कार्यक्रमों में महिलाएं पिछडें ना इसके लिए मुख्यमंत्री जी द्वारा महिलाओं को विशेष सहूलियते दी जा रही है। उन्होंने आजीविका मिशन के माध्यम से स्वसहायता समूहों के गठन और समूहों के उत्पाद से होने वाली आमदनी को भी रेखांकित किया। विधायक श्रीमती जैन ने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल के दौरान भी महिलाओं को घर बैठे रोजगार देने के प्रबंध मुख्यमंत्री जी द्वारा किए गए थे। समूहों की महिलाओं द्वारा मास्क और सेनेटाइजरों का निर्माण किया गया है जो संकटकाल के दौरान उनकी आर्थिक आमदनी में सहायक हुआ है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यवसाय छोटा बडा नही होता है हम सब मेहनत कर उसे यह रूप देते है। उन्होंने युवाजनों और महिलाओं के उज्जवल भविष्य की कामनाएं करते हुए कहा कि जो रोजगार ओर संसाधन यहां प्राप्त हुए है उससे हम अपनी जीविका ही नहीं अपने क्षेत्र की ख्याति की वृद्धि में बदलें। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य श्री मुकेश टंडन ने कहा कि मुख्यमंत्री जी प्रदेश के युवाओं को रोजगार से जोड़ने हेतु कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। हर माह रोजगार दिवस मनाया जा रहा है और युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे है। इन रोजगार मेलो में निजी कंपनियों की भी सहभागिता होने से कंपनियों के विभिन्न पदों पर युवाओं का चयन हो रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं से आव्हान किया कि वे योजनाओं का लाभ लेने के बाद अपनी मेहनत और परिश्रम के बलबूते अपने उद्योग को आगे बढ़ाने पर बल दें। उन्होंने बड़े-बड़े उद्योगपतियों का उदाहरण देते हुए युवाओं को प्रोत्साहित किया। 


रोजगार दिवस कार्यक्रम : 4660 प्रकरणों में 53 करोड़ 95 लाख 15 हजार राशि के स्वीकृति पत्र वितरित


आज मंगलवार को रोजगार दिवस कार्यक्रम के अवसर पर एसएटीआई कॉलेज के कैलाश सत्यार्थी सभागार में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित स्वरोजगार योजनाओं में हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार ने मेले की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि जिले का यह तीसरा स्वरोजगार मेला है इस मेले में कुल 4660 प्रकरणों में हितग्राहियों को 53 करोड़ 95 लाख 15 हजार रूपए राशि की सामग्री व स्वीकृति पत्र प्रदाय किए गए है जिसमें 3474 प्रकरणों में 24 करोड पांच लाख 66 हजार राशि के ऋण वितरण वहीं 1186 प्रकरणों में 29 करोड़ 89 लाख 49 हजार राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए है। रोजगार मेला स्थल पर जिन प्रकरणों में ऋण वितरण की कार्यवाही हितग्राहियों को की गई है उनमें जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र एवं खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत 38 प्रकरणों में 167.55 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना अंतर्गत सात प्रकरणों में 37.63 लाख रुपये की राशि तथा एमएसएमई प्रोत्साहन योजना अंतर्गत 13 प्रकरणों में 179.15 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित ग्रामीण पथकर विक्रेता योजना अंतर्गत 576 प्रकरणों में 57.60 लाख तथा क्रेडिट लिंकेज (एसएचजी) योजना अंतर्गत 112 प्रकरणों में 122 लाख रुपये की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। शहरी विकास अभिकरण द्वारा पीएम स्वनिधि  योजना (दस हजार) अंतर्गत 89 प्रकरणों में 8.90 लाख, पीएम स्वनिधि योजना बीस हजार अंतर्गत 52 प्रकरणों में 10.40 लाख, स्वरोजगार योजना अंतर्गत 15 प्रकरणों में 26.70 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। मत्स्य पालन विभाग द्वारा पीएमएमएसवाई योजना अंतर्गत 40 प्रकरणों में 150 लाख, फिश केसीसी योजना अंतर्गत 102 प्रकरणों में 33.58 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। पशुपालन विभाग एवं डेयरी विभाग द्वारा राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना अंतर्गत एक प्रकरण में 98.91 लाख तथा पशुपालन केसीसी योजना अंतर्गत 500 प्रकरणों में 90 लाख रु की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। उद्यानिकी विभाग द्वारा पीएम सूक्ष्म खाद्य प्रोसेसिंग योजना अंतर्गत 10 प्रकरणों में स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। इसके अलावा संस्थागत वित्त या जिला अग्रणी बैंक द्वारा मुद्रा योजना अंतर्गत 1917 प्रकरणों में 1400 लाख रुपए की राशि तथा स्टैंड अप योजना अंतर्गत 2 प्रकरणों में 23 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं इस प्रकार रोजगार दिवस कार्यक्रम में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं अंतर्गत कुल 3474 प्रकरणों में 2405.66 लाख रुपए की राशि का वितरण आयोजन स्थल पर किया गया है। रोजगार मेला स्थल पर विभिन्न विभागों के द्वारा संचालित स्वरोजगार योजनाओं के तहत कुल 1186 प्रकरणों में 29 करोड 89 लाख 49 हजार रूपए के स्वीकृति पत्र भी हितग्राहियों को प्रदाय किए गए है।


रबी विपणन वर्ष 2022-23 समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन हेतु स्लॉट बुकिंग

  • सात दिवस तक मान्य होगी स्लॉट बुकिंग, समर्थन मूल्य पर गेंहू उपार्जन कार्य चार से शुरू

जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि विदिशा जिले में कृषकों के द्वारा समर्थन मूल्य पर गेंहू विक्रय करने हेतु स्लॉट बुकिंग का कार्य संपादित किया जा रहा है। स्लॉट बुकिंग की अवधि सात दिन तक मान्य की गई हैं विदिशा जिले में पंजीकृत कृषकों से गेंहू का समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य चार अपै्रल से शुरू होगा। गौरतलब हो कि जिले में कुल 230 उपार्जन केन्द्र संचालित होंगे। रबी विपणन वर्ष 2022-23 कृषकों को समर्थन मूल्य पर गेहू विक्रय करने हेतु एसएमएस के इन्तजार को समाप्त करते हुए कृषक द्वारा उपज विक्रय करने के लिए उपार्जन केन्द्र का चयन एवं उपज विक्रय की दिनांक स्वयं ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकेंगे, जिसकी व्यवस्था निम्नानुसार निर्धारित की जाती है प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की तौल क्षमता का निर्धारण पोर्टल पर किया जाएगा, जिसके अनुसार प्रति तौलकांटा प्रतिदिन 250 क्विंटल के मान से गणना की गई है। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर प्रतिदिन न्यूनतम 1000 क्विंटल उपज की तौल हेतु 4 तौल कांटे आवश्यक रूप से लगाए जाएं एवं उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की आवक अनुसार तौल कांटों की संख्या में वृद्धि की जाए, जिसकी तत्समय पोर्टल पर प्रविष्टि की जा सकेगी। कृषक स्लॉट बुकिंग www.mpeuparjan.nic.in पर कर सकते है। इस लिंक की जानकारी एसएमएस के माध्यम से कृषक के मोबाइल पर प्रेषित की जाएगी। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत, सत्यापित कृषक द्वारा स्वयं के मोबाइल, एमपी ऑनलाईन, सीएससी, ग्राम पंचायत, लोक सेवा केन्द्र, इन्टर नेट कैफे, उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। स्लॉट बुकिंग हेतु कृषक के ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी प्रेषित किया जाएगा, जिसे पोर्टल पर दर्ज करना होगा। कृषकों को अपनी उपज विक्रय करने हेतु स्लॉट बुकिंग दो पारी में (प्रातः 9 से 1 बजे एवं अपरान्ह 2 से 6 बजे की जा सकेगी, जिसमें से एक पारी का चयन किया जा सकेगा।उपार्जन का कार्य सोमवार से शुक्रवार तक किया जाएगा एवं उपज विक्रय हेतु इसी अवधि की स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। सकेगी एवं 7 कृषक द्वारा उपज विक्रय हेतु आगामी सात दिवस में फसल विक्रय हेतु स्लॉट बुकिंग की जाकर स्लॉट की वैधता अवधि तीन कार्य दिवस होगी। कृषक द्वारा उपज विक्रय हेतु तहसील अंतर्गत (जहां कृषक की भूमि है) किसी भी उपार्जन केन्द्र का चयन किया जा सकेगा। कृषक की भूमि एक से अधिक तहसील में स्थित होने पर उनके द्वारा किसी एक तहसील के उपार्जन केन्द्र का चयन किया जा सकेगा. जहां पर पंजीकृत भूमि की उपज का विक्रय किया जा सकेगा। उपार्जन केन्द्र की तौल क्षमतानुसार लघु या सीमांत एवं बड़े कृषकों को मिलाकर स्लॉट बुकिंग की सुविधा रहेगी जिसमें प्रतिदिन 100 क्विंटल से अधिक विक्रय क्षमता के 4 कृषक तक हो सकेंगे।  स्लॉट बुकिंग के समय पोर्टल पर कृषक की विक्रय योग्य कुल मात्रा प्रदर्शित कराई जाएगी, जिसमें कृषक द्वारा वास्तविक विक्रय योग्य कुल अनुमानित मात्रा की प्रविष्टि करनी होगी, इस मात्रानुसार ही कृषक से उपज की खरीदी की जा सकेगी। इस संबंध में कृषकों को अवगत कराया जाए। पोर्टल पर स्लॉट बुकिंग अनुसार उपार्जन केन्द्र की क्रय योग्य क्षमता घटते क्रम में प्रदर्शित होगी। निर्धारित दिवस में उपार्जन केन्द्र की तौल क्षमतानुसार स्लॉट बुक होने पर कृषक को आगामी रिक्त क्षमता वाले दिवस हेतु स्लॉट बुक करना होगा। कृषक द्वारा स्लॉट बुकिंग करने के उपरांत उपार्जन केन्द्र का नाम, विक्रय योग्य मात्रा एवं विक्रय की दिनांक एसएमएस के माध्यम से सूचित की जाएगी तथा इसका प्रिन्ट भी निकाला जा सकेगा।  कृषक द्वारा विक्रय की जाने वाली संपूर्ण उपज की स्लॉट बुकिंग एक समय में ही करनी होगी आंशिक स्लॉट बुकिंग, आशिक विक्रय नहीं किया जा सकेगा। करने के उपरांत अन्य केन्द्र पर कृषक पंजीयन कृषक द्वारा निर्धारित उपार्जन केन्द्र पर स्लॉट बुकिंग परिवर्तन या स्थानांतरण की सुविधा नहीं होगी। उक्तानुसार कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। 


कन्या महाविद्यालय में वरिष्ठ नागरिक सम्मान समारोह का आयोजन


vidisha news
शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, विदिशा में साहित्यिक क्लब के द्वारा वरिष्ठ नागरिक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम अंतर्गत महाविद्यालय में कार्यरत शिक्षेतर वरिष्ठ कर्मचारियों को उनके बहुमूल्य योगदान के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शासकीय एमएलबी महाविद्यालय भोपाल की पूर्व प्राचार्य डॉ मुकेश दीक्षित ने कहा कि कोई भी संस्था हरेक कर्मचारी के दायित्व निर्वहन से ही सुचारू रूप से चल सकती है। इसलिए हर कर्मचारी एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इन कर्मचारियों का सम्मान उनके कर्म और कर्तव्यों का सम्मान है। उन्होंने साफ-सफाई के लिए महाविद्यालय की भूरि-भूरि प्रशंसा भी की। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने सम्मानित कर्मचारियों की कर्तव्यनिष्ठा की तारीफ की और कार्यक्रम की संचालक डॉ ज्योति मिश्रा तथा साहित्यिक क्लब को साधुवाद देते हुए कहा कि यह एक अच्छी पहल है। डॉ ज्योति मिश्रा ने इस कार्यक्रम को साहित्यिक क्लब की छात्राओं की पहल बताते हुए उनके लगन और उत्साह की प्रशंसा की। सम्मानित वरिष्ठ नागरिकों ने अपनी भावनाओं को शब्द और संगीत के माध्यम से अभिव्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन कुमारी सृष्टि रघुवंशी ने तथा कुमारी शीतल रघुवंशी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में डॉ ओजस्विनी जौहरी, प्रो किरण जैन, प्रो रवि रंजन, डॉ विनिता प्रजापति के साथ महाविद्यालय के सभी प्राध्यापक उपस्थित रहे। स्वच्छता सप्ताह के अंतर्गत महाविद्यालय में बुधवार को मानव शृंखला आयोजित की गयी तथा महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने सभी को स्वच्छता-शपथ दिलवायी। इस कार्यक्रम का आयोजन इको क्लब प्रभारी डॉ रेखा श्रीवास्तव के संयोजन में हुआ। 


परीक्षा पे चर्चा हेतु जागरूकता कार्यक्रम, परीक्षा पे चर्चा में सम्मिलित होने छात्रों, पूर्व छात्रों एवं पालकों को किया गया प्रोत्साहित


vidisha news
शमशाबाद के स्थानीय जवाहर नवोदय विद्यालय में परीक्षा पे चर्चा में सम्मिलित होने छात्रों, पूर्व छात्रों एवं पालकों को प्रोत्साहित करने हेतु जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री जी द्वारा परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले छात्रों से संवाद हेतु एक अप्रैल 2022 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित होने के लिए विद्यालय प्राचार्य श्री बीडी रामटेके एवं उप प्राचार्य श्री एके राजे के दिशा निर्देशन में जागरूकता अभियान चलाया गया। विद्यालय के समस्त छात्रों को कक्षावार बताया गया कि परीक्षा के पूर्व के तनाव एवं परेशानियों को किस प्रकार से कम करना है एवं परीक्षा में पूरे आत्मविश्वास से सम्मिलित होना है। विद्यालय के शिक्षकों ने छात्रों एवं पालकों को भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए प्रोत्साहित किया। इस कार्यक्रम के प्रचार प्रसार में विद्यालय के शिक्षक श्री एमके वर्मा, डॉ केपीएस चौहान, श्री डीके रिछारिया, श्री पवन मोहन कौरव के अलावा श्रीमती विभा रिछारिया, श्रीमती प्रिया कोमल एवं कुमारी निखत शाह का विशेष योगदान रहा।



कोई टिप्पणी नहीं: