मधुबनी : जिले के छात्र छात्राएं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का उठाएं लाभ : डीएम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 26 मार्च 2022

मधुबनी : जिले के छात्र छात्राएं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का उठाएं लाभ : डीएम

credit-card-for-students-madhubani-dm
मधुबनी, जिला पदाधिकारी, मधुबनी  की अध्यक्षता में जिले के सभी सरकारी महाविद्यालयों के प्राचार्यों के साथ स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की उपयोगिता को लेकर समाहरणालय के सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई। बताते चलें कि जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र, मधुबनी के तत्वावधान में आयोजित उक्त जिला स्तरीय बैठक का उद्देश्य जिले के छात्र छात्राओं को उनकी उच्चतर शिक्षा में स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के माध्यम से सहायता उपलब्ध कराए जाने संबंधी विस्तृत जानकारी प्रदान करना था। बैठक की उपादेयता पर प्रकाश डालते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि बिहार सरकार द्वारा विकसित बिहार के 7 नियम निष्पादित किए गए हैं, जिनमें "आर्थिक हल, युवाओं को बल" के रूप युवाओं को उनके उच्चतर शिक्षा में आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इसके परिप्रेक्ष्य में उन्होंने उपस्थित लोगों को बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना तथा कुशल युवा कार्यक्रम के फायदे बताए। उन्होंने बताया कि युवा निश्चय एप के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई कर उनका सत्यापन जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र, मिठौली, मधुबनी से कराकर स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि बारहवीं पास छात्र / छात्राओं ( पॉलिटेक्निक के लिए मात्र दसवीं) के उच्चतर शिक्षा हासिल किए जाने की दिशा में बिहार सरकार का यह प्रयास अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसमें वैसे विद्यार्थी लाभ ले सकते हैं जो  बिहार एवं अन्य राज्य अथवा केंद्र सरकार के संबंधित नियामक एजेंसी द्वारा मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों में नामांकन लेने को प्रयासरत हैं। यह ऋण कुल 42 सूचीबद्ध सामान्य पाठ्यक्रम, व्यवसायिक एवं तकनीकी पाठ्यक्रमों के लिए देय है। आवेदक की उम्र अधिकतम 25 वर्ष या स्नातकोत्तर स्तर के लिए अधिकतम 30 वर्ष होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड जैसी जन सरोकार से जुड़ी महावकांक्षी योजना तब तक सफल नहीं हो सकती जबतक हमारे महाविद्यालयों में आनेवाले छात्र छात्राओं को इनकी जानकारी न दी जाए। युवाओं के माध्यम से इस महत्वपूर्ण योजना को अन्य युवाओं तक पंहुचाना आसान है। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत मिलने वाला ऋण किसी भी बैंक से मिलने वाले ऋण के मुकाबले बेहद कम ब्याज दरों पर और बेहद अनुकूल शर्तों पर दी जा रही है। विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि 2019_20 में राष्ट्रीय स्तर पर ग्रॉस इनरोलमेंट रेशियो 27.1 फीसदी था। राज्य में इसका स्तर और भी कम है।  ऐसे में सरकार हर उस छात्र छात्रा को आर्थिक मजबूती प्रदान करना चाहती है, जो धन के आभाव में आगे पढ़ना छोड़ देते हैं। इसके लिए बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम को इसकी जवाबदेही सौंपी गई। अतः जिले के ऐसे युवाओं को जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र में जाकर इस योजना पर और अधिक जानकारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिले के सभी महाविद्यालय स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की जानकारियां छात्र छात्राओं में प्रेषित करने के लिए अपने संस्थान में एक एक नोडल पर्सन नियुक्त करे। ताकि अधिक से अधिक युवाओं को इस योजना से जोड़ा जा सके। मौके पर श्री बबन कुमार, जिला योजना पदाधिकारी सहित जिले के सभी उच्चतर शिक्षा प्रदान करने वाले शिक्षण संस्थानों / महाविद्यालयों के प्राचार्य / प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: