बिहार : पटना नगर निगम के लिए 1,740 करोड़ का बजट पास - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 मार्च 2022

बिहार : पटना नगर निगम के लिए 1,740 करोड़ का बजट पास

patna-nagar-nigam-budget
पटना. आज राजधानी के होटल लेमन ट्री में पटना नगर निगम की मेयर सीता साहू की अध्यक्षता में एक विशेष बैठक आयोजित कर पटना नगर निगम के वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 1,740 करोड़ का बजट पास किया गया. इस साल का बजट पिछले साल के बजट 2021-22 की तुलना में 212 करोड़ अधिक है. पिछला बजट 1528 करोड़ का था. 1740 करोड़ के इस बजट में वायु प्रदूषण पर नगर निगम ने 213 करोड़ खर्च करने का लक्ष्य रखा है. वहीं स्ट्रीट लाइट, नली-गली, जीर्ण-शीर्ण योजना, वेंडिंग जोन निर्माण सहित अन्य आधारभूत संरचना पर 486 करोड़ खर्च करने और ठोस कचरा प्रबंधन पर 214 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है.


पटना नगर निगम द्वारा वर्ष 2022-23 का कुल 1740 करोड़ का बजट बुधवार को राजधानी के होटल लेमन ट्री में मेयर सीता साहू एवं नगर आयुक्त अनिमेष कुमार पराशर की मौजूदगी में पेश किया गया. बजट को लेकर आयोजित इस बैठक की अध्यक्षता मेयर सीता साहू ने की. उनके साथ डिप्टी मेयर रजनी देवी भी मौजूद रही. इस बजट सत्र के दौरान नगर आयुक्त अनिमेष कुमार पाराशर भी मौजूद रहे.बजट पेश करने के दौरान नगर आयुक्त ने बताया कि निगम को विभिन्न मदों से 1788 करोड़ राजस्व प्राप्त होने की संभावना है और राजस्व प्राप्ति 995 करोड़ व पूंजीगत प्राप्ति 792 करोड़ की है. इसमें खर्च के रूप में 797 करोड़ रूपया राजस्व और 942 करोड़ रूपया पूंजीगत भुगतान किया जाना है इसके अलावा विज्ञापन नीति को अनुमति मिलने के साथ ही राजस्व में वृद्धि होगी. वायु प्रदूषण पर नगर निगम अगले वित्तीय साल में 213 करोड़ खर्च करेगा.वहीं स्ट्रीट लाइट, नाली-गली व जीर्ण-शीर्ण योजना, वेंडिंग जोन निर्माण सहित अन्य आधारभूत संरचना पर 486 करोड़ एवं ठोस कचरा प्रबंधन पर 214 करोड़ खर्च होंगे. पार्षदों की स्वीकृति के बाद वित्तीय साल 2022-23 के लिए 1740 करोड़ का बजट स्वीकृत हुआ.इस साल का बजट पिछले बजट 2021-22 की अपेक्षा लगभग 200 करोड़ अधिक है। पिछला बजट 1528 करोड़ का था. निगम अगले वित्तीय साल में विभिन्न मदों में कुल 1740 करोड़ खर्च करेगा. प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए 15 करोड़ से स्वीपिंग मशीन की खरीदारी होगी. वहीं जीर्ण-शीर्ण रोड की मरम्मत पर 50 करोड़, स्वीपिंग मशीन के मंटेनेंस पर 18 करोड़, कंपोस्टिंग प्लांट, रीसाइकिलिंग प्लांट्स सहित अन्य मदों में 117 करोड़, कुल 213 करोड़ खर्च होंगे.यह राशि 15वें वित्त आयोग से अनुदान मिलनी है.


बजट के मुताबिक, जापानी तकनीक से अधिक आक्सीजन देनेवाले पौधे एक लाख वर्ग फुट क्षेत्र में लगाये जायेंगे.अगले बजट में आधारभूत संरचना के मद में 486 करोड़ खर्च होने हैं. इसमें नाली गली व जीर्ण-शीर्ण योजना पर 173 करोड़ खर्च होंगे.स्ट्रीट लाइट लगाने पर 18 करोड़, पार्षदों में योजना पूरा करने पर 60 करोड़ खर्च होंगे. इसके अलावा वेंडिंग जोन के निर्माण पर 8.65 करोड़, चैक-चैराहे पर फव्वारे के विकास पर 5 करोड़, ठंड में रैन बसेरा के निर्माण पर 1.95 करोड़, रामाचक बैरिया में चहारदिवारी निर्माण पर साढ़े पांच करोड़ सहित अन्य मदों पर खर्च होगा. जल जीवन हरियाली पर 1.50 करोड़, तालाब के जीर्णोद्धार पर 8.80 करोड़ खर्च होना है.शहर की साफ-सफाई से लेकर कचरा प्रबंधन पर 214 करोड़ खर्च होंगे. इसमें रामाचक बैरिया में कचरे के निष्पादन के लिए 31.35 करोड़ खर्च होंगे. पटना की महापौर सीता साहू ने कहा कि इस बार का बजट काफी अच्छा है. पिछले बार की तुलना में 200 करोड़ से अधिक की राशि बढ़ाई गई है. सभी पार्षदों ने खुशी-खुशी इस बजट को पास किया है. इस बार बजट में सभी 75 पार्षदों को 17000 का मोबाइल दिया गया है. जो योजनाएं हैं उन सभी में कितने खर्च किए जाने हैं इसे अच्छे तरीके से बजट में बताया गया है. बजट में प्रदूषण नियंत्रण और स्वच्छता पर विशेष ख्याल रखा गया है. वहीं, निगम की बैठक में ड्यूटी पर तैनात सफाई कर्मचारियों की मौत के बाद परिजनों को मुआवजे देने का भी मांग पार्षदों ने उठाया, जिसके बाद महापौर सीता साहू ने इस पर कहा कि बजट में यह पास हो गया है कि अगर ऐसी कोई घटना घटती है, तो मृत कर्मी के परिजनों को 10,00000 दिए जाएंगे. जिसमें 500000 सरकार से और 500000 नगर निगम की ओर से दिए जाएंगे.

कोई टिप्पणी नहीं: