बिहार : टीकाकरण कैंप लगाकर बच्चों को दिए गए टीके - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 मार्च 2022

बिहार : टीकाकरण कैंप लगाकर बच्चों को दिए गए टीके

  • सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा कोविड19 टीकाकरण पर विशेष कार्यक्रम किया गया आयोजन

pib-vaccination-to-children
पटना/सोनपुर, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के छपरा स्थित फील्ड आउटरीच ब्यूरो द्वारा आज केंद्रीय विद्यालय सोनपुर में कोविड-19 टीकाकरण, मिशन इंद्रधनुष 4.0, आत्मनिर्भर भारत एवं केंद्र सरकार की अन्य जन कल्याणकारी योजनाओं के वृहद प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आयोजित इस विशेष कार्यक्रम का उद्घाटन सोनपुर के विधायक डॉ रामानुज प्रसाद एवं पूर्व मध्य रेलवे, सोनपुर के मंडल रेल प्रबंधक नीलमणि ने सम्मिलित रूप से किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर पूर्व मध्य रेलवे, सोनपुर के सीनियर डीपीओ अशोक कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. चंदेश्वर सिंह एवं अनुमंडल अस्पताल, सोनपुर के उपाधीक्षक डॉ. दीलिप कुमार सहित कार्यक्रम के आयोजक एवं एफओबी, छपरा के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सह आरओबी, पटना के कार्यक्रम प्रमुख पवन कुमार सिन्हा तथा सहायक क्षेत्रीय अधिकारी सर्वजीत सिंह मौजूद थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सोनपुर विधायक डॉ रामानुज प्रसाद ने कहा कि बच्चों के स्वास्थ्य को मजबूती प्रदान करना सरकार का मुख्य ध्येय होना चाहिए। सरकार टीकाकरण के मामले में अच्छा कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि बच्चों के कंधे पर कल का भविष्य टिका है। उनके उज्जवल भविष्य के निर्माण में विद्यालय की अहम भूमिका है। लिहाजा, हमें शिक्षा प्रणाली एवं शिक्षण संस्थानों के सुदृढ़ीकरण एवं मजबूती पर अत्यधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह देश कई संस्कृतियों, भाषाओं एवं अलग-अलग धर्मों के लोगों से मिलकर बना है और यही भारत की एकता में अनेकता की मूल कुंजी है। पूर्व मध्य रेलवे सोनपुर के मंडल रेल प्रबंधक नीलमणि ने कहा कि कोविड महामारी के बचाव एवं उपचार का सबसे कारगर उपाय टीकाकरण ही है। विभाग द्वारा विद्यालय परिसर में 15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए टीकाकरण कैंप लगाया जाना बेहद सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि मिशन इंद्रधनुष के तहत संपूर्ण टीकाकरण के द्वारा स्वस्थ भारत का निर्माण किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन बेहद उपयोगी है, जिसमें लोगों को योजनाओं के बारे में जागरूक किया जाता है। कार्यक्रम के आयोजक एवं एफओबी, छपरा के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सह आरओबी, पटना के कार्यक्रम प्रमुख पवन कुमार सिन्हा ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का मूल उद्देश्य केंद्र सरकार की योजनाओं, नीतियों एवं कार्यक्रमों के बारे में जन-जन को जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सारण के सहयोग से विद्यालय में टीकाकरण कैंप लगाया जाना निसंदेह एक उपलब्धि का विषय है।  उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा अगला जन जागरूकता कार्यक्रम मार्च माह के प्रथम सप्ताह में वैशाली जिले में किया जाएगा।  जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ चंदेश्वर सिंह ने कहा कि भारत 177 करोड़ टीकाकरण के साथ विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण वाला देश बन गया है। बिहार में करीब 12 करोड़ लोगों को टीका लग चुका है। सारण जिले में करीब 45 लाख 58 हजार लोगों को टीका दिया गया है। 18 वर्ष से अधिक उम्र के करीब 85% लोगों का टीकाकरण हो चुका है। उन्होंने कहा कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए फिलहाल कोवैक्सीन का टीका ही उपलब्ध है। 3 लाख 55 हज़ार से अधिक बच्चों का अभी तक टीकाकरण हो चुका है। मिशन इंद्रधनुष पर विस्तारपूर्वक बताते हुए उन्होंने कहा कि जन्म से 2 साल तक के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं के संपूर्ण टीकाकरण के लिए मिशन इंद्रधनुष एक सघन टीकाकरण अभियान है। अनुमंडल अस्पताल सोनपुर के उपाधीक्षक डॉक्टर दिलीप कुमार ने बताया कि टीकाकरण के बाद भी लोगों को कोविड-19 अनुरूप व्यवहार को अपनाते रहना चाहिए। खासकर मास्क और हैंड सेनीटाइजर का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए। केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य गौतम प्रियदर्शी ने कहा कि स्कूल में इस तरीके के कार्यक्रमों के आयोजन से बच्चों को सरकार के क्रियाकलापों और उनके द्वारा किए जा रहे जन कल्याणकारी कार्यों के बारे में जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि बच्चों के बीच में ऐसे जागरूकता कार्यक्रम किए जाने चाहिए। अतिथियों द्वारा खेल-कूद एवं चित्रांकन प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में विद्यालय के छात्रों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। विद्यालय की छात्राओं ने स्वागत गीत एवं महिला सशक्तिकरण पर लघु नाटक का प्रदर्शन किया। मंत्रालय के पंजीकृत सांस्कृतिक दल विरासत ने गीत के माध्यम से बच्चों को योजनाओं के बारे में जागरूक किया। कार्यक्रम का आयोजन केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य गौतम प्रियदर्शी एवं फ़ील्ड आउटरीच ब्यूरो, छपरा के सहायक क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सर्वजीत के देख-रेख में पूरा किया गया। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के अंग्रेजी विषय के शिक्षक श्याम कुमार सिंह ने किया। मौके पर विद्यालय के शिक्षक मनीष कुमार, श्रीकांत सिंह, अभय कुमार सिंह, अशर्फी लाल, राम प्रसाद,  नूपुर सिंह आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: