झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 25 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 25 मार्च 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 25 मार्च

भाजपा सरकार के कार्यकाल के 17 वर्ष में मप्र बिमारू राज्य से समृद्ध और विकसित राज्य की ओर हुआ अग्रसर -ः भाजपा प्रदेश मंत्री श्रीमती संगीता सोनी

  • मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की चौथे पारी के दो वर्ष पूर्ण होने पर जिला भाजपा की ओर से पत्रकारवार्ता का किया आयोजन

jhabua news
झाबुआ। मप्र में जब से भाजपा सरकार काबिज हुई है, तब से प्रदेश स्वर्णिम मप्र बनने की ओर निरंतर अग्रसर है। हर क्षेत्र में मप्र का विकास हो रहा है। चाहे प्रदेश की अर्थव्यवस्था हो या सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन या आरक्षण का मुद्दा हो या बेरोजगारोें और किसानों, गरीबों के हितार्थ भी सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किए है। इस बीच कई बड़े फैसले भी भाजपा सरकार की ओर से प्रदेश हित में लिए गए है। आज मप्र देश में नंबर-वन राज्य के रूप में उभर चुका है। जिसका श्रेय मप्र के मुखिया शिवराजसिंह चौहान और उनकी पूरी सरकार को जाता है। उक्त बात भाजपा की प्रदेश मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेत्री श्रीमती संगीता सोनी ने 25 मार्च, शुक्रवार को दोपहर 1.30 बजे से जिला भाजपा की ओर से जिला भाजपा कार्यालय पर आयोजित पत्रकारवार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहीं। पत्रकारर्वाता में विशेष रूप से भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ओमप्रकाश शर्मा एवं भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष तथा रानापुर नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुनिता गोविन्द अजनार भी उपस्थित थी। संचालन भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने किया। पत्रकारवार्ता मंे भाजपा की प्रदेश मंत्री श्रीमती सोनी ने आगे बताया कि यह बड़े हर्ष का विषय है कि आज मप्र के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के कार्यकाल के चौथे कार्याकल के दो वर्ष पूर्ण हो चुके है। जिसको लेकर 24 मार्च को मुख्यमंत्री श्री सिंह द्वारा प्रदेश के नाम दिए गए उद्बोधन को पूरे प्रदेश में भाजपा की ओर से लाईव प्रसारण की व्यवस्था कर समस्त जनता ने बड़े चांव से देखा एवं सुना। मप्र के मुख्यमंत्री श्री चौहान की मंशा है कि प्रदेश का निरंतर विकास हो। मप्र स्वर्णिम प्रदेश बनकर देश और विश्व में भी अपनी पहचान स्थापित करे।


मप्र सरकार की उपलब्धियां गिनाई

वरिष्ठ भाजपा नेत्री श्रीमती सोनी ने पत्रकारवार्ता में बताया कि प्रदेश में भाजपा के 17 वर्ष के कार्यकाल में कोरोना के भीषण संकट में भी हर स्तर पर मानवता को बचाने का काम किया गया एवं विकास को भी अवरूद्ध नहीं होने दिया गया। मप्र में मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में भाजपा की संवेदनाओं से भरी हुई सरकार कार्य कर रहीं है। भाजपा सरकार में हर वर्ग के लिए कल्याणकारी योजना संचालित की गई है। पिछले तीन कार्यकालों में भाजपा सरकार के अथक प्रयासों से मप्र अब देश के अन्य विकसित प्रदेशों की श्रेणी में आ चुका है। वर्ष 2003 से पूर्व दिग्विजयसिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार और 15 महीने की कमलनाथ सरकार में भाजपा सरकार द्वारा चलाई गई कई जन कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया गया।


समस्त योजनाओं का मिल रहा शत-प्रतिशत लाभ

भाजपा की प्रदेश मंत्री श्रीमती सोनी के अनुसार आज अर्थव्यवस्था के मामले मंे भी मप्र की स्थिति में भी काफी सुधार आया है। मप्र सरकार के खाली खजाने में निरंतर वृद्धि हुई है। प्रदेश बिमारू राज्य से समृद्ध प्रदेश की ओर निरंतर बढ़ रहा है। स्वच्छता के मामले में इंदौर ने देश में पांचवी बार रेकार्ड कायम किया है। आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक 2 करोड़ 66 लाख से अधिक आयुष्मान कार्ड बनाकर इस मामले में मप्र देश में नंबर-वन पर आ गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय शिक्षा नीति, सुकन्या समृद्धि योजना, जल जीवन मिशन, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना का भी शत-प्रतिशत लाभ मप्र में पात्र हितग्राहियों को मिल रहा है।


लिए गए कई बड़े फैसले

भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि इसके अतिरिक्त बड़े फैसलों में मप्र के 88 लाख घरेलु उपभोक्ताओं का 6 हजार 400 करोड़ रूपए का बिजली बिल माफ किया जाना, सरकारी कर्मचारियों को 11 प्रतिशत महंगाई भत्ता 1 अप्रेल 2022 से मिलना प्रारंभ हो जाएगा। ओंकारेश्वर में आदि गुरू शंकराचार्यजी की 108 फिट ऊंची विशाल प्रतिमा तथा अंर्तराष्ट्रीय स्तर की वेदांतपीठ के लिए 380 करोड़ रू. का प्रावधान किया गया है। पहली बार चाईल्ड बजट प्रस्तुत किया गया है। जिसमें बालक-बालिकाओं के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाओं के लिए 57 हजार 803 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। मप्र देश का पहला राज्य है, जहां भाजपा सरकार ने मासूम बच्चीयों के साथ बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा देने का प्रावधान किया है। चुनाव एवं भर्ती प्रक्रियाओं में आरक्षण को लेकर सरकार ने कई फैसले लिए है। वहीं पिछड़ा वर्ग कल्याण के लिए ऐतिहासिक पहल करते हुए राज्य पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग का भी गठन किया है। 25 लाख जनजातिय बच्चों को 481 करोड़ की स्कालरशीप दी जा रहीं है। अनुसूचित जाति वर्ग के करीब 20 लाख विद्यार्थियों को 600 करोड़ की छात्रृवत्ति का प्रावधान किया गया है।


किसानों और गरीबों की हितैषी है भाजपा सरकार

भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष एवं जनप्रतिनिधि श्रीमती सुनिता अजनार ने कहा कि मप्र और केंद्र की भाजपा सरकार किसानों और गरीबों के हितैषी सरकार है। बेरोजगारो को रोजगार देने की बात हो या किसानों के कल्याण के लिए तरह-तरह की योजनाएं संचालित कर गरीबों और किसानों की माली स्थिति में काफी सुधार आया है। वर्ष 2003 से पूर्व प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था भी सुदृढ़ हुई है। मप्र के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पिछले 2 वर्षों में खनिज माफिया, ड्रग माफिया, शराब माफिया, रेत माफिया, चिट फंड माफिया, सायबर माफिया, मिलावट माफिया, राशन माफिया आदि सबकी कमर तोड़कर रख दी है। अंधोसंरचना के क्षेत्र में प्रदेश में लगातार करोड़ों रूपयों की लागत से बड़े पुल-पुलियाओं का जाल बिछाए जाने, सड़क मार्गों को उन्नयन किया जाने, बिजली के मामले में मप्र को आत्मनिर्भर बनाने, अटल एक्सप्रेस वे एवं नर्मदा एक्सप्रेस-वे की सौगात देने का कार्य वर्तमान सरकार में ही हुआ है। मप्र अब देश का उभरता हुआ स्टार्ट अप हब बन चुका है। यह पत्रकारवार्ता करीब एक घंटे तक चली। 


विश्व क्षय दिवस एवं शहीद भगतसिंह, राजगुरू और सुखदेव के बलिदान दिवस के उपलक्ष में शहर की विभिन्न संस्थाओं ने विजय स्तंभ स्मारक पर किया श्रद्धांजलि कार्यक्रम

  • दो मिनिट का मौन रखकर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई

jhabua news
झाबुआ। 24 मार्च, विश्व क्षय दिवस एवं इससे एक दिन पूर्व शहीद भगतसिंह, राजगुरू और सुखदेव के शहादत दिवस के उपलक्ष में शहर की विभिन्न संस्थाओं द्वारा मिलकर 24 मार्च, गुरूवार की संध्याकाल 7 बजे स्थानीय विजय स्तंभ स्मारक पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम रखा गया। जिसमें सभी ने मोमबत्तीयां प्रज्जवलित कर जानलेवा एवं खतरनाक बिमारी टीबी के कारण अब तक मृत हुए लोगों की आत्म शांति और शहीदांे की याद में भी मोमबत्तीयां प्रज्जवलित सभी को मौन श्रद्धांजलि अर्पित की। विजय स्तंभ स्मारक पर जिला टीबी फोरम के अध्यक्ष डॉ. एलएस राठौर, आदिवासी चेतना शिक्षण सेवा समिति के डायरेक्टर बेनेडिक्ट डामोर, अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार कांउसिल के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं जिला बाल अधिकार मंच के संयोजक रामप्रसाद वर्मा, अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल के जिलाध्यक्ष अरूण डामोर एवं जिला कोषाध्यक्ष रवि बारिया, रोटरेक्ट क्लब सचिव दौलत गोलानी, बचपन बचाओ आंदोलन से नरेन्द्र देशमुख, पिरामिल स्वास्थ्य संस्था से शंकुतला भूरिया, चेतन्य समाहित एवं सामाजिक विकास प्रशिक्षण संस्था की अध्यक्ष श्रीमती मंजु वर्मा, जिला बाल अधिकार मंच से जुड़े स्कूल फोरम की नन्हीं छात्राओं में यशस्वी वर्मा, योगिशा पारगी आदि ने शहीद स्मारक के चारो ओर मोमबत्तीयां प्रज्जवलित की। बाद सभी ने विश्व क्षत्र दिवस होने से क्षय (टीबी) रोग के कारण आज तक देश सहित संपूर्ण विश्व में जितने भी लोगांे की मृत्यु हुई है, उनकी आत्म शांति के लिए प्रार्थना की। साथ ही वर्तमान में जो मरीज टीबी से ग्रसित है, उनके जल्द स्वस्थ होने के लिए भी कामना की। शहीद भगतसिंह, राजगुरू एवं सुखदेव, जिन्होंने देश की आजादी के लिए प्राण न्यौछावर किए, उन्हें भी भावभीनी श्रद्धांजलि करते हुए नमन किया गया। अंत में सभी ने दो मिनिट का मौन भी रखा।


श्री राम कथा आयोजन को लेकर झाबुआ शहर की महाबैठक 26 मार्च को कॉलेज मार्ग स्थित मोगली गार्डन पर, आयोजन की आमंत्रण-पत्रिकाओं का किया जाएगा विमोचन


झाबुआ। शहर के कॉलेज मार्ग पर अंबे माता मंदिर के समीप मोगली गार्डन में अगामी 2 अप्रेल, चैत्र नवरात्रि की एकम से धर्म रक्षा दल एवं सकल हिन्दू समाज द्वारा मिलकर वृहद श्री रामकथा का आयोजन किया जा रहा है, जो रामनवमी 9 अप्रेल तक चलेगी। 10 अप्रेल को दशहरा पर भंडारे का आयोजन होगा। श्री राम कथा का संगीतमय वाचन भोपाल से पधारे प्रख्यात कथा वाचक पं. मंथनजी शास्त्री द्वारा किया जाएगा। कथा का समय प्रतिदिन दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक रहेगा। कथा को सफल बनाने हेतु इसका व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ तैयारियां भी जोर-शोर से की जा रहीं है। जानकारी देते हुए अश्विन शर्मा ने बताया कि इसी क्रम में आयोजन को भव्य रुप देने के लिए शहर के समस्त सामाजिक-धार्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक, रचनात्मक संस्थाओं के पदाधिकारी-सदस्यों के साथ समस्त समाज प्रमुखांे की महा-बैठक का आयोजन 26 मार्च, शनिवार को शाम 6.30 बजे से कथा स्थल कॉलेज मार्ग स्थित मोगली गार्डन पर ही रखा गया है। उक्त बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ समाजसेवी एवं राजवाड़ा मित्र मंडल के संरक्षक लाखनसिंह सोलंकी उपस्थित रहेंगे। विशेष अतिथि के तौर पर सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, सेवानिवृत्त प्राचार्य एवं वरिष्ठ इतिहासकार डॉ. केेके त्रिवेदी तथा श्री विघ्नहर्ता विहार धाम ट्रस्ट के प्रमुख ट्रस्टी और वरिष्ठ समाजसेवी यशंवत भंडारी मौजूद रहेंगे।


आमंत्रण-पत्रिकाओं का होगा विमोचन

इस दौरान श्री राम कथा को लेकर सभी से सुझाव एवं विचार आमंत्रित करने के साथ ही मुख्य रूप से आयोजन की आमंत्रण-पत्रिकाओं का विमोचन भी किया जाएगा। आयोजक धर्म रक्षा दल एवं सकल हिन्दू समाज ने इस महाबैठक में सभी आमंत्रितजनो से अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित रहकर आयोजन को सफल बनाने की अपील की है।


सामाजिक सद्भावना की मिसाल

झाबुआ प्रीमियर लीग क्रिकेट के लिये खिलाडियों का पंजीयन समाप्त, 25 मार्च को होगा टीमों का गठन

झाबुआ । सामाजिक सदभावना के लिये आयोजित किये जा रहे झाबुआ प्रीमियर लीग रात्री कालीन क्रिकेट प्रतियोगिता के लिये शहर के 176 खिलाडियों का पंजीयन कर लिया गया है । साथ ही इन पंजीकृत खिलाडियों के लिये टीम गठन 25 मार्च शुक्रवार को रात्री 8 बजे पैलेस गार्डन पर किया जावेगा । उक्त जानकारी देते हुए सामाजिक महासंघ के अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं महासचिव एडवोकेट उमंग सक्सैना ने बताया कि आगामी अप्रेल माह के प्रथम सप्ताह में दुधिया रोशनी में झाबुआ प्रीमियर लीग टेनिस बॉल प्रतियोगिता को आयोजित  किया जारहा हैै इसके लिये निर्धारित 16 टीमों के लिये 176 खिलाडियों का पंजीयन कर लिया गया है । सभी खिलाडियों के पंजीयन की प्रक्रिया होने के बाद 25 मार्च रात्री को आयोजन के लिये अन्तिम रूपरेखा भी इस दौेरान बना ली जावेगी । झाबुआ प्रीमियर लीग की विशेषता यह है कि इस आयोजन में ना तो उम्र का कोई बंधन है और यह पूरे शहरवासियों के लिये किसी प्रकार की मनाही है । इस आयोजन में झाबुआ शहर के प्रतिष्ठित डाक्टर्स, इंजीनियर्स, व्यापारी, उद्योगपति, प्रशासनिक अधिकारी, कर्मचारी, प्रोफेसर, राजनैतिक, समाजसेवी, साहित्यकार,पत्रकार एवं एडवोकेट्स खिलाडियों ने भी इस क्रिकेट महाकुंभ में अपना अपना पंजीयन करवाया है ।


नगर परिषद को अवैध रोड़ तोड़कर यथावत स्थिति में लाना होगा - प्रशासन

  • सामुदायिक भवन का हवाला देकर नगर परिषद ने किया था रोड़ निर्माण 

jhabua news
थांदला। नगर परिषद व राजस्व विभाग जनहित की अनदेखी कर नगर की बेशकीमती शासकीय भूमियो पर अवैद्य कब्जे व उनके मनमाने उपयोग कर रसूखदारों को लाभ पहुँचा रहे है। प्रशासन ने केशव उद्यान की भूमि पर सीमेट कांक्रीट रोड बनाये जाने को लीज भूमि का स्वरूप परिवतर्न व जनधन का दुरूपयोग मानते हुवे रोड़ को तोडकर भूमि को पुःन मूल स्वरूप मे लाकर नजूल भूमि दर्ज किये जाने के आदेश पारित कर दिये है। अपर कलेक्टर जे.एस. बघेल ने 28 फरवरी को आदेश पारित कर अनुविभागीय अधिकारी को निदेर्षित किया कि केशव उद्यान की भूमि पर बनाया गया रोड़ जनहित मे नही होकर अन्य किसी प्रयोजन के लिये निमिर्त किया जाना प्रतीत हो रहा है, वही उक्त भूमि नजूल होकर नगर परिषद को जलप्रदाय योजना हेतु आंबटित की गई थी किन्तु मौके पर केशव उद्यान बना हुआ है तथा केशव उद्यान का भी उपयोग नही करते हुवे उस भूमि पर सीमेट कांक्रीट रोड का निमार्ण किया गया जो सीधे तौर पर व्यक्ति विशेष का हित निहित है। जिला प्रशासन के आदेश पर  त्वरित कायर्वाही करते हुवे अनुविभागीय अधिकारी अनिल भाना ने 3 मार्च को मुख्य नगर पालिका अधिकारी को उक्त रोड़ की भूमि को मूल स्वरूप मे करने के लिये  आदेशित किया किन्तु जेसीबी की अनुपलब्धता का हवाला देकर अभी तक कोई कार्यवाही नही की गई है। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद ने उक्त रोड को सामुदायिक भवन का हवाला देकर रोड़ का निर्माण किया था परंतु इस मार्ग में कोई भी सामुदायिक भवन निहि होने से इसका लाभ सीधे कॉलोनाइजर को दिया गया है। जिला प्रशासन ने उक्त निमार्ण को भू राजस्व संहिता की धारा 237 के उप नियम 3 व 4 का उल्लघंन माना और संविधान की धारा 32ध्2 की भूमि को केशव उद्यान को छोडकर शेष भूमि को शासकीय नजूल घोषित कर पूर्व स्थिति मे लाये जाने के आदेष पारित किये।


नही शुरू हुआ केशव उद्यान लाखों की राशि से हुआ था निर्माण

तत्कालीन नगर परिषद ने भारी भ्रष्टाचार करते हुए केशव उद्यान में लाखों की खेल सामग्री झूलें, चकरी, रेल आदि लगाना दर्शाए थे परंतु केशव उद्यान शुरू से ही विवादों में रह है। नगर की जनता की राशि का जमकर भ्रष्टाचार हुआ है व इस बगीचें को आजतक जनता के लिए नही खोला गया है जबकि नगर में करीब एक दर्जन नई कॉलोनी बन गई है जिनमें भी बगीचे की भूमि का उपयोग नही हो रहा है जिसके चलते नगर की जनता स्वास्थ्य लाभ एवं सैर के लिए नगर के एकमात्र मामा बालेश्वर दयाल बगीचें पर ही आश्रित है ऐसे में एक बार फिर रोड़ निर्माण का मुद्दा गर्मा गया है, जिसमें न केवल राजस्व की हानि हुई है अपितु रसूखदारों द्वारा शासकीय भूमि पर कब्जा भी किया जा रहा है।


अष्टांग योेग प्रशिक्षण संस्थान द्वारा तीन दिवसीय संपूर्ण बॉडी चेकअप शिविर का आयोजन 26 मार्च से, विभिन्न प्रकार की गंभीर बिमारियों की जांच की जाएगी


झाबुआ। अष्टांग योग प्रशिक्षण संस्थान द्वारा स्थानीय सिद्धेश्वर कॉलोनी में सिद्धेश्वर महादेव मंदिर के पीछे स्थित रजत लेबोरेट्री पर तीन दिवसीय संपूर्ण बॉडी चेकअप शिविर का आयोजन किया जा रहा है। यह शिविर पूज्य गुरूेदव प्रज्ञा ध्यान प्रणेता ब्रम्हचारी सत्यानंद ‘योेग ऋषि’ के आर्शीवाद एवं प्रेरणा स्वरूप रखा गया है। जानकारी देते हुए आयोजक संस्था के दिलीप पालिवाल एवं नरेन्द्र राठौरिया ने बताया कि शिविर में विभिन्न प्रकार की जांच की जाएगी। जिसमें थॉईराईड प्रोफाईल, कोलेस्ट्राल, लीवर, कम्पलीट हिमोग्लोबीन, टेस्टोस्टोरॉन, इलेक्ट्रोलाईट्स, किडनी, आयरन, शुगर, विटामिन एवं सी-रियेक्विट प्रोटीन आदि समस्त प्रकार की जांच न्यूनतम शुल्क पर की जाएगी। शिविर 26, 27 एवं 28 मार्च को आयोजित होगा। समय प्रतिदिन सुबह 6 से शाम 5 बजे तक रहेग। जांच करवाने से पूर्व 10 से 12 घंटे पूर्व भूखे रहना आवश्यक है।


शिविर को सफल बनाने की अपील

शिविर में कोविड के नियमों में मास्क आवश्यक रूप से लगाकर आने के साथ ही अधिक जानकारी के लिए आयोजक संस्था के दिलीप पालिवाल से उनके मोबाईल 83197-09060, नरेन्द्र राठौरिया से मोबाईल नंबर 96856-22333 एवं हरिश यादव से मोबाईल नंबर 75666-99555 पर संपर्क किया जा सकता है। संस्था से जुड़े जगदीश जोशी, सतीश जादौन, हेमेन्द्र भानपुरिया एंव कुंवरसिंह आदि ने शहरवासियों से शिविर को सफल बनाने की अपील की है।


रबी विपणन वर्ष 2022-23 में गेहूॅ, चने की खरीदी की आवश्यक तैयारियो की समीक्षा

 

झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के निर्देश पर आज दिनंाक 24 मार्च 2022 को रबी विपणन वर्ष 2022-23 में गेहूॅ, चने की खरीदी की आवश्यक तैयारियो की समीक्षा की गई जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक झाबुआ के मुख्यालय में सभी 23 उपार्जन केन्द्रो के खरीदी प्रभारी एंव कम्पयुटर ऑपरेटरो को प्रशिक्षण दिया गया, प्रशिक्षण में नई व्यवस्था अनुसार खरीदी हेतु स्लाट बुकिंग की प्रकिया एंव गुणवत्तापूर्ण गेहु खरीदी करने हेतु प्रशिक्षण दिया गया राज्य शासन द्वारा कृषको को अपनी सुविधा अनुसार गेहु विक्रय करने हेतु वर्तमान में एस.एम.एस व्यवस्था के स्थान पर कृषकों की सुविधा हेतु स्लाट बुकिंग व्यवस्था की गई है, कृषक पंजियन मे दर्ज मोबाईल नम्बर से स्लाट की बुंकिग कर मन चाहे उर्पाजन केन्द्र पर गेहु विक्रय कर सकते है गेहु का खरीदी मुल्य 2015 रूपये प्रति क्वंटल निर्धारित किया गया है। किसानों को गेहूॅ खरीदी एवं भुगतान में किसी प्रकार की कोई कठिनाई ना हो इस हेतु संबंधित अधिकारियों को दायित्व सौंपे गये इस वर्ष झाबुआ जिले में गेहूॅ खरीदी हेतु 23 उपार्जन केन्द्र निर्धारित किए गये है एवं 9753  कृषको द्वारा गेहूॅ खरीदी एवं 915 चना खरीदी हेतु पंजीयन कराया गया सभी उपार्जन केन्द्रो पर कृषकों की सुविधा हेतु आवश्यक व्यवस्थाए की गई है। सभी कृषकों से अनुरोध किया गया है। उपार्जन केन्द्रो पर गुणवत्तापूर्ण एवं साफ-सुथरा गेहूॅ विक्रय हेतु लाये ताकि अनावश्यक असुविधा ना हो। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूॅ की गुणवत्ता परिक्षण एवं किसानों को कोई असुविधा ना हो इस व्वस्था हेतु केन्द्रवार नोडल अधिकारी की व्यवस्था की गई। गेहु के परिक्षण के पश्चात ही खरीदी कि जावेगी उक्त प्रशिक्षण में जिला आपुर्ति अधिकारी एम.के. त्यागी जिला सहकारी बैंक झाबुआ महा प्रंबधक श्री वसुनिया जिले में उर्पाजन के नोडल अधिकारी श्री बवन मोर्य खाद्य विभाग के कनिष्ट आपुर्ति अधिकारी संजय पाटील आषिष आजाद संकाक्ष परमार नागरीक आपुर्ति निगम के प्रभारी योगश शाह उपस्थित रहे। कलेक्टर महोदय के द्वारा सभी कृषको से अपील की है कि राज्य शासन की किसान कल्याणकारी योजना का लाभ लेते हुये अपने गेहु का बिक्रय उपासन केन्द्रो पर करे ।

 

विश्व क्षय दिवस पर जागरूकता रैली का आयोजन


झाबुआ। विश्व क्षय दिवस के उपलक्ष्य में राजवाडा चौक से जिला अस्पताल तक जागरूकता रैली स्वास्थ्य विभाग के द्वारा निकाली गई। जागरूकता रैली में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जयपालसिंह ठाकुर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.एस. गाडरिया, सिविल सर्जन डॉ. बी.एस. बघेल, जिला क्षय अधिकारी डॉ. जितेन्द्र बामनिया, जिला टीबी फोरम अध्यक्ष डॉ. एल एस राठौर, सचिव श्री रामप्रसाद वर्मा एवं एन.टी.ई.पी स्टाफ की उपस्थिति में यह टी बी जागरूकता रैली आयोजित की गई थी


‘‘खेतों में फसल अवषेष (नरवाई) नहीं जलाने की सलाह‘‘


झाबुआ। जिले के कलेक्टर श्री सोमेष मिश्रा के निर्देषन में जिले के उप संचालक कृषि नगीन रावत द्वारा जिले के   किसानो को गेहूॅ फसल की कटाई के बाद शेष बचे फसल अवषेष (नरवाई) को  ना जलाने की अपील की गई है,  नरवाई जलाना  पर्यावरण के लिए अत्यन्त हानिकारक है, अतः इसे कतई ना जलावें। गेहूॅ की फसल कटाई के लिए हार्वेस्टर आदि का बहुतायत में उपयोग किया जाने लगा है। फलस्वरूप कटाई के उपरान्त खेतों में नरवाई एवं भूसा शेष बचता है, जिन्हें किसान अनुपयोगी समझकर आग लगाकर नष्ट करते है, इससे भूमि की उर्वरा शक्ति क्षीण होती है।


नरवाई जलाने से होने वाले नुकसान:-

नरवाई जलाने से आसपास के वातावरण का तापमान बढने लगता है, जो कि ग्लोबल वार्मिग के लिए उत्तरदायी है। नरवाई जलाने से भूमि की उर्वरक शक्ति एवं जैव अंष नष्ट हो जाते है, जिससे भूमि धीरे धीरे बंजर होने लगती है। पशुओं को प्राप्त होने वाला भूसा नष्ट हो जाता है, तथा कृषकों को कम्पोस्ट भी नहीं प्राप्त हो पाता है। फसल अवषेषों को जलाने से मिट्टी मे उत्पन्न होने वाले कार्बनिक पदार्थो मे कमी आती है, तथा भूमि मे उपस्थित सूक्ष्म जीव जलकर नष्ट हो जाते है, जिससे उपलब्ध जैव विविधता समाप्त होती है। फसल अवषेष जलाने से भूमि कठोर हो जाती है, जिसके कारण भूमि की जल धारण क्षमता कम हो जाती है और फसले जल्दी सूखती है। खेतों की मेडों पर लगे पेड-पौधे, फल वृक्ष आदि जलकर नष्ट हो जाते है। नरवाई जलाने से जैव हानि तो होती ही है साथ ही साथ जन-धन हानि भी हो सकती है।


फसल अवषेषों के उचित प्रबंधन  

उप संचालक कृषि श्री नगीनसिंह रावत द्वारा समझाईष दी जाती है कि, फसल कटाई उपरान्त खेत में बचे अवषेषों का उचित तरीके से प्रबंधन किया जाना अत्यन्त आवष्यक है। किसान भाई नरवाई नष्ट करने हेतु रोटावेटर चलाकर नरवाई को बारीक कर मिट्टी मे मिलावें, जिससे जैविक खाद तैयार होती है। नरवाई से भूसा तैयारकर पषु आहार के रूप में उपयोग करें। जिन क्षैत्रों में कम्बाईन हार्वेस्टर से फसल कटाई की जाती है वहॉ हार्वेस्टर के साथ स्ट्रारीपर एवं रीपर-कमबाईन्डर के उपयोग करने की सलाह है, जिससे फसल को काफी नीचे से काटा जा सकता है एवं नरवाई जलाने की आवष्यकता नहीं होती है। खेतों की गहरी जुताई, हैप्पी सीडर तथा जीरोटिलेज सीडड्रिल से बुआई को प्रोत्साहित किया जा रहा है, इन यन्त्रों के उपयोग से फसल अवषेषों को भूिम में ही मिलाया जा सकेगा, जिससे भूमि की उर्वरक शक्ति बढेगी तथा फसल उत्पादन भी बेहतर प्राप्त होगा। भारतीय मृदा विज्ञान संस्थान, भोपाल द्वारा धान-गेहूँ फसल अवषेषों का यथा-स्थान विघटन हेतु एक्सेल डिकम्पोजर तकनीक (एक्सेल डिकम्पोजर कैप्सूल) विकसित की है जो फसल अवषेषों को 25-30 दिनों के अन्दर ही सड़ाकर खाद बना देती है। एक्सेल डिकम्पोजर कैप्सूल की अधिक जानकारी के लिये भारतीय मृदा विज्ञान संस्थान, भोपाल के दूरभाष नम्बर 0755-2730946 पर सम्पर्क कर सकते है। दण्ड का प्रावधान:-खेतों मे नरवाई जलाने का कृत्य जिला कलेक्टर द्वारा धारा 144 के तहत प्रतिबंधित है। नरवाई में आग लगाने पर पुलिस द्वारा प्रकरण भी कायम किया जा सकता है। नरवाई जलाने के कारण मानव स्वास्थ्य, पषुओं के स्वास्थ्य, भूमि के स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण पर भी गंभीर संकट उपलब्ध हो सकता है। राष्ट्रीय हित में किसान भाई नरवाई जलाने से परहेज करें।


प्रधानमंत्री श्री मोदी 29 मार्च को प्रदेश के 5.5 लाख हितग्राहियों को वर्चुअली कराएँगे गृह प्रवेश

  • मुख्यमंत्री श्री चौहान छतरपुर से होंगे कार्यक्रम में शामिल, आवासों के गृहप्रवेशम् कार्यक्रम में मंत्री, सांसद, विधायक, स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित हितग्राही उपस्थित रहेंगे

झाबुआ। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 29 मार्च को प्रदेश के प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के 5.5 लाख हितग्राहियों को वर्चुअली गृह प्रवेश कराएँगे। कार्यक्रम का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअली होगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान छतरपुर में गृह प्रवेश कार्यक्रम में शामिल होंगे तथा वर्चुअली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे। इसके साथ ही जिले में मंत्री, सांसद, विधायक, स्थानीय जनप्रतिनिधी मौजूद रहेंगे।    कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन, अन्य चैनल्स, वेब कास्टिंग एवं सोशल मीडिया के प्लेटफार्म्स के माध्यम से दोपहर 12.30 बजे से होगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास (ग्रामीण) से संबंधित एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म का प्रदर्शन भी किया जाएगा। इस संबंध में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा जिले के सभी ग्राम स्तरिय अधिकारी, कर्मचारी, ग्रामीणजन, पंचायत पदाधिकारीयों, जनप्रतिनिधियों का अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन कराए जाने का अनुरोध किया गया है।


मतदाता जागरूकता हेतु प्रतियोगिता, माय वोट इज माय फ्यूचर- पावर ऑफ वन वोट का आयोजन

 

झाबुआ। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर माय वोट इज माय फ्यूचर- पावर ऑफ वन वोट का आयोजन स्वीप गतिविधि के अंतर्गत प्रत्येक वोट के महत्व को दर्शाने के लिए किया जा रहा है। प्रतयोगिता में क्वीज कॉनटेस्ट, वीडियो मेकिंग, पोस्टर डिजाइन सांग और स्लोगन कॉनटेस्ट सम्मिलित है जिसमे कोई भी व्यक्ति भाग ले सकता है। प्रतियागिता में भाग लेने हेतु अधिक जानकारी ूूूण्मबपेअममचण्दपबण्पदध्बवदजमेजध्  से प्राप्त की जा सकती है। क्वीज प्रतियोगिता के अंतर्गत प्रतियोगिता के तीन चरणों में 20-20 प्रश्नों में से क्रमशः 07-07 प्रश्नों के उत्तर देने पर ई-सर्टिफिकेट डाउनलोड किए जा सकते है। प्रतियोगिता हेतु आयु सीमा का कोई बंधन नहीं हैं। उक्त प्रतियोगिता के अंतिम तारिख भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिनांक 31 मार्च 2022 निर्धारित की गई है। अतः दिनांक 31 मार्च 2022 तक अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन/भागिदारी सुनिश्चित किए जाने हेतु समस्त छात्र/छात्राओं तथा बी.एल.ओ./पटवारी/आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं अन्य स्टाफ से प्रतियोगिता में भाग लेने की अपेक्षा की जाती है। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा निर्देश दिए गए है कि जिले के सभी विभागों के अधिकारीयों एवं कार्यरत सभी कर्मचारीयों साथ ही विद्यार्थीयों एवं संस्थागत तथा व्यवसायिक श्रेणीयों के व्यक्तियों के द्वारा प्रथमतः अपना रजिस्ट्रशन किया जाना है। संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी जिला झाबुआ के द्वारा दिनांक 22 मार्च 2022 को निर्देश जारी कर दिए गए है।

कोई टिप्पणी नहीं: