गया : समाज के अंतिम पायदान के व्यक्तियों को लाभ दिलाने के लिए प्रयास - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 अप्रैल 2022

गया : समाज के अंतिम पायदान के व्यक्तियों को लाभ दिलाने के लिए प्रयास

scheems-reach-people
गया, 13 अप्रैल। मुख्य सचिव बिहार के आदेश के आलोक में सरकार के विभिन्न जन सरोकार से जुड़ी हुई योजनाओं का और बेहतर तरीके से क्रियान्वयन एवं समाज के अंतिम पायदान के व्यक्तियों को लाभ दिलाने के उद्देश्य से जिला स्तरीय पदाधिकारियों एवं अन्य पदाधिकारियों को विभिन्न पंचायतों में संचालित सरकार के सभी योजनाओं का जांच करने का निर्देश दिए गए हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में आज *ज़िला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम के द्वारा टिकारी अनुमंडल के गुरारू प्रखंड के बरोरह पंचायत में संचालित सरकार के विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का निरीक्षण करते हुए ग्रामीणों से फीडबैक भी लिया गया।* जिला पदाधिकारी द्वारा सर्वप्रथम उत्क्रमित मध्य विद्यालय बरोरह का निरीक्षण किया गया, जहां कक्षा नौ एवं दस का संयुक्त रूप से स्मार्ट क्लास के माध्यम से इतिहास विषय का पढ़ाई कराया जा रहा था। छात्रों से स्मार्ट क्लास के माध्यम से हो रही पढ़ाई के बारे में जानकारी प्राप्त किया गया। स्मार्ट क्लास में कुल 67 बच्चे उपस्थित थे। जिला पदाधिकारी ने सभी बच्चों को अच्छे ढंग से पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। उन्होंने सभी बच्चों से रेंडमली साइकिल की राशि, पोशाक की राशि आदि मिला है या नहीं इसकी जानकारी प्राप्त किया। छात्रों द्वारा बताया गया कि पोशाक एवं साइकिल की राशि बैंक खाते में प्राप्त हो चुकी है। इसके उपरांत कक्षा 4 एवं कक्षा 5 के बच्चों से मिलने के क्रम में उनसे पढ़ाई, मध्यान भोजन इत्यादि के बारे में जानकारी प्राप्त किया। कक्षा 4 के छात्रों द्वारा अंग्रेजी में जिला पदाधिकारी को उत्तर देने पर जिला पदाधिकारी ने काफी प्रसन्नता व्यक्त किया। उन्होंने प्रधानाध्यापक तथा इंग्लिश के शिक्षिका को तुरंत बुलाया और उन्हें सभी बच्चों को अंग्रेज़ी विषय पर और अधिक प्रभावी रूप से पढ़ाने का निर्देश दिया ताकि बच्चों का व्यक्तित्व और अच्छा हो सके। ज़िला पदाधिकारी ने अंग्रेज़ी विषय के शिक्षक को मेहनत एवं लगन के साथ सभी छात्रों को पढ़ाने को कहा।  इसके उपरांत जिला पदाधिकारी के द्वारा शिक्षकों की उपस्थिति पंजी का जांच किया। कुल 10 शिक्षक उपस्थित पाए गए एवं निरीक्षण के दौरान बताया गया कि अनिता कुमारी नामक शिक्षिका लगातार तीन वर्षों से बीआरसी में प्रतिनियुक्त हैं। जिला पदाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को संबंधित शिक्षिका किस आधार पर लगातार तीन वर्षों से प्रतिनियुक्त है, के संबंध में जांच कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने प्रधानाध्यापक से विद्यालय में नामांकित छात्रों के बारे में जानकारी प्राप्त किया। बताया गया कि कुल 800 बच्चे नामांकित हैं, जिसमें आज क्लास 1 से 8 तक कुल 170 बच्चे तथा नौंवा एवं दसवाँ के कुल 64 बच्चे उपस्थित हैं, जिसपर जिला पदाधिकारी ने प्रधानाध्यापक को बच्चों की उपस्थिति में इजाफा लाने का निर्देश दिया। उन्होंने विद्यालय में पर्याप्त व्यवस्था रखने का निर्देश दिए ताकि बच्चे अधिक संख्या में उपस्थित रहकर पठन-पाठन कर सके।  निरीक्षण के दौरान बताया गया कि इस विद्यालय में 2 चापाकल हैं तथा दो टॉयलेट में एक टॉयलेट खराब है। जिला पदाधिकारी ने कहा कि किसी भी हाल में 15 दिनों के अंदर विकास मद की राशि से टॉयलेट को चालू करावे। मध्यान भोजन के बारे में जानकारी लेने पर बताया गया कि इस विद्यालय में कुल 7 रसोईया हैं। सभी रसोईया को 1650 रुपया मानदेय दिया जा रहा है। मध्यान भोजन में आज खिचड़ी एवं चोखा सभी छात्रों को दिया जाना है। जिला पदाधिकारी ने बच्चों को दिए जाने वाले मध्यान भोजन की गुणवत्ता को जाना। उन्होंने जानकारी लिया की बच्चों को समय-समय पर अंडा दिया जा रहा है या नहीं। उपस्थित बच्चों द्वारा बताया गया कि समय-समय पर अंडा एवं मौसमी फल स्कूल द्वारा दिए जा रहे हैं।  इसके उपरांत उपस्थित ग्रामीणों से अनुरोध किया कि अपने बच्चों को विद्यालय नियमित रुप से भेजें ताकि बच्चे अच्छे तरीके से पढ़ कर इस गांव का एवं पूरे जिले का नाम रोशन करें। उन्होंने प्रधानाध्यापक को निर्देश दिया कि समय-समय पर बच्चों के अभिभावक को बुलाकर छात्रों को विद्यालय भेजने एवं उन्हें अच्छे तरीके से पढ़ाई कराने इत्यादि पर प्रेरित करने का निर्देश दिए। जिला पदाधिकारी द्वारा उपस्थित मुखिया जी को मनरेगा के तहत उक्त विद्यालय के चारदीवारी का निर्माण करवाने का निर्देश दिया गया।  इसके उपरांत उन्होंने मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल योजना का निरीक्षण किया। वार्ड नंबर 5 में संचालित नल जल योजना के तहत डोर टू डोर पानी सप्लाई हो रहा है या नहीं, के संबंधित में उपस्थित सभी ग्रामीणों से जानकारी लिया गया, जिसके संबंध में सभी ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि इस वार्ड में नियमित रूप से पानी सप्लाई दिया जा रहा है। पानी की कोई भी समस्या नहीं है। निरीक्षण के दौरान कुछ ग्रामीणों द्वारा शौचालय निर्माण नहीं होने की बात कही जिला पदाधिकारी ने ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को सर्वे कराकर उन्हें शौचालय निर्माण हेतु प्रोत्साहन राशि अविलंब उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान कई ग्रामीणों द्वारा आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए अनुरोध किया। जिला पदाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि इस पंचायत को प्राथमिकता के आधार पर सर्वे कराए तथा वैसे पात्र लाभुक जिन्हें अब तक इंदिरा आवास योजना का लाभ नहीं मिला है, उन्हें अति शीघ्र मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ उपलब्ध करावे। उन्होंने बताया कि इस प्रखंड में कुल 181 लाभार्थियों में से 5 लाभार्थियों इस पंचायत के हैं, जिन्हें इस वर्ष मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ दिया गया है। वार्ड संख्या पांच में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र के निरीक्षण के दौरान जिला पदाधिकारी ने बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को बच्चों को बैठने के लिए पर्याप्त व्यवस्था तथा पंखा लगवाने का निर्देश दिया। उन्होंने उपस्थित सेविका से बच्चों को दिए जाने वाले खाना के बारे में जानकारी लिया तथा उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्र में बच्चों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने उपस्थित मुखिया जी को उक्त आंगनवाड़ी केंद्र में नल जल योजना का पानी कनेक्शन उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया इसके उपरांत जिला पदाधिकारी द्वारा बरोरह के जन वितरण प्रणाली विक्रेता संजय कुमार मिश्रा दुकान का जांच किया गया। उन्होंने उठाव पंजी एवं स्टॉक पंजी का मिलान किया तथा दुकान में रखे हुए अनाज के बोरे को वजन करवाया। उन्होंने जन वितरण प्रणाली के दुकानदार को निर्देश दिया कि किसी भी ग्रामीण को निर्धारित क्षमता से कम अनाज नहीं मिलना चाहिए, कम अनाज बांटने की सूचना मिलने पर कठोर कार्रवाई किया जाएगा। उन्होंने मार्केटिंग पदाधिकारी को निर्देश दिया कि समय-समय पर जन वितरण प्रणाली के दुकानों को जांच करते रहें तथा ग्रामीणों की समस्या को गंभीरता से सुनते हुए उसका जांच भी करें। इसके उपरांत कई ग्रामीणों द्वारा आवेदन देते हुए अपनी समस्याओं से जिला पदाधिकारी को अवगत कराया जिला पदाधिकारी ने उक्त समस्याओं को संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी तथा थाना अध्यक्ष को निष्पादित करते हुए प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: