मधुबनी : बंद पड़े चापाकलों एवम उसकी मरम्मती को लेकर जिला प्रशासन गंभीर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022

मधुबनी : बंद पड़े चापाकलों एवम उसकी मरम्मती को लेकर जिला प्रशासन गंभीर

  • डीएम अमित कुमार ने बैठक कर दिए कई निर्देश
  • जिला हेल्पलाइन सह नियंत्रण कक्ष एवम मरम्मती दल का नंबर जारी। - 

madhubani-dm-order-repair-hand-pump
मधुबनी, जिलाधिकारी अमित कुमार की अध्यक्षता में  जिले में पेयजल आपूर्ति के आलोक में चापाकलों की अद्यतन स्थिति की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में संपन्न हुआ।  जिले में बढ़ती गर्मी के आलोक में जिलाधिकारी ने उक्त बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियों से जिले के सभी पंचायतों में पेयजल की उपलब्धता  एवम चापाकलों की अधतन स्थिति का समीक्षा किया। बैठक में उपस्थित कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग मधुबनी, संतोष कुमार ने जानकारी दी कि जिले के सभी प्रखंडों में चापाकालों को दुरुस्त करने के लिए मैकेनिक की एक टीम बनाई गई है। जो समय समय पर संबंधित प्रखंड के खराब पड़े चापाकलों को ठीक करती है। जिलाधिकारी ने  कहा कि बंद पड़े चापाकलों को लेकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग ले। सभी मुखिया अपने पंचायत के खराब पड़े चापकलों की सूचना अपने प्रखंड विकास पदाधिकारी के माध्यम से लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, मधुबनी के कार्यालय को देना सुनिश्चित करें ताकि उनकी जल्द से जल्द मरम्मती कराई जा सके। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा जिले में नए चापाकल गाड़ने की संख्या निश्चित की गई है। इसलिए नए चापाकल गाड़ने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि एक चापाकल चालू रहते हुए भी किसी दबाव में आकर, एक से अधिक चापाकल न गाड़े जाएं। बल्कि इसको लेकर आमजनों की सुविधा का खयाल रखा जाए। उन्होंने इसमें महादलित टोले, हाट बाजार और ऐसे किसी भी सार्वजनिक जगह को प्राथमिकता देने की बात कही जहां इसकी ज्यादा आवश्यकता हो। उन्होंने कहा कि चापाकलों  से उत्सर्जित जल के निकासी का भी ध्यान रखा जाए,ऐसे सभी सर्वजनिक चापाकलों के पास सोख्ता का निर्माण करवाकर जलसंरक्षण का भी कार्य किया जा सकता है।उन्होंने निर्देश दिया कि ऐसे विद्यालयो की सूची बना ले,जहाँ मरम्मती के अभाव में चापाकल बंद पड़े है,साथ ही उसकी अविलम्ब मरम्मती करवाकर सूचित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि मधुबनी जिले में सरकारी चापाकलों की मरम्मती से संबंधित सूचना देने/ शिकायत दर्ज करने हेतु निम्नांकित दूरभाष संख्या पर संपर्क किया जा सकता है।


जिला नियंत्रण कक्ष ( संपूर्ण जिले ) 06276296190, गौरव श्रीवास्तव, सहायक अभियंता ( रहिका, पंडौल, राजनगर ) 8054701360, नीरज कुमार, सहायक अभियंता ( बेनीपट्टी, बिस्फी, मधवापुर ) 6202422906, कुंदन कुमार त्रिपाठी, सहायक अभियंता ( जयनगर, बासोपट्टी, कलुआही, खजौली, हरलाखी ) 9572191817, धर्मेंद्र कुमार, सहायक अभियंता ( झंझारपुर, मधेपुर, लखनौर, फुलपरास, घोघरडीहा, लौकही, खुटौना ) 7739397676, 8544428697, विक्षेप, सहायक अभियंता ( अंधराठाढी, बाबूबरही, लदनिया ) 7903595079, संजय कुमार, सहायक अभियंता ( रहिका, बिस्फी ) 9905674671, कृष्ण कुमार गुप्ता, कनीय अभियंता ( राजनगर, पंडौल ) 7050555110, प्रकाश चंद्र प्रभाकर, कनीय अभियंता ( बेनीपट्टी, मधवापुर ) 7979903896< अरुण कुमार, कनीय अभियंता ( बासोपट्टी, हरलाखी ) 9576296587, 6201237520, सत्य प्रकाश कुमार, कनीय अभियंता ( जयनगर, कलुआही, खजौली, अंधराठाढी, खुटौना, लौकही, घोघरडीहा ) 7889012132, गुलाम गौस अंसारी, कनीय अभियंता ( झंझारपुर, मधेपुर, लखनौर ) 7250645967, अविनाश कुमार, कनीय अभियंता ( फुलपरास ) 7488508496, प्रवीण कुमार, कनीय अभियंता ( बाबूबरही, लदनिया ) 7004837881       

           

उक्त बैठक में जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, मध्यान भोजन सहित लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के सभी सहायक अभियंता उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं: