बेतिया : बरसात के पूर्व जल निकासी की व्यवस्था करें दुरूस्त : DM - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022

बेतिया : बरसात के पूर्व जल निकासी की व्यवस्था करें दुरूस्त : DM

clear-waer-loging-beiya-dm
बेतिया. पश्चिमी चंपारण जिले के जिलाधिकारी,श्री कुंदन कुमार ने कहा कि 29 अप्रैल से मुख्य नालों में जेसीबी, बॉब कट एवं पोकलेन मशीन उतरकर नालों को करेगा अच्छे तरीके से सफाई, हटाया अतिक्रमण. जल निकासी में बाधा उत्पन्न करने वाले अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध होगी कड़ी कार्रवाई, दर्ज होगा एफआईआर, वसूला जायेगा जुर्माना.जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, नगर निगम संयुक्त रूप से करेंगे कार्रवाई. शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में शहरवासी दें योगदान, स्वयं हटा लें अतिक्रमण, नालों में नहीं डालें कचरा.जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा आज कार्यालय प्रकोष्ठ में आगामी बरसात के मद्देनजर जल निकासी की समुचित व्यवस्था के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा की गयी. उन्होंने कहा कि शहरवासियों को बरसात के मौसम में जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाय. यह बेहद महत्वपूर्ण कार्य है। इस कार्य में तनिक भी लापरवाही एवं शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी. उन्होंने कहा कि स्पेशल ड्राइव चलाकर जल निकासी की व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाय ताकि आमजन को बरसात के मौसम में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े.कैम्प मोड में बड़े तथा छोटे नालों की निरंतर अच्छे तरीके से साफ-सफाई कराना सुनिश्चित किया जाय. आवश्यकता पड़ने पर ह्यूम पाईप का इस्तेमाल भी किया जाय. उन्होंने कहा कि कच्चे नालों को आवश्यकतानुसार चैड़ा और गहरा करें ताकि जल निकासी सुगमतापूर्वक हो सके. जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि शहर के जलजमाव वाले क्षेत्र का सर्वे कराकर  चिन्हित किया जाय। साथ ही कार्य योजना तैयार करते हुए अग्रतर कार्रवाई अविलंब प्रारंभ की जाय। इसके लिए सभी व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखी जाय. जिस जगह पर पानी ज्यादा इकट्ठा होता है उसको चिन्हित करते हुए तुरंत जल निकासी की व्यवस्था की जाय. नालों की साफ-सफाई/उड़ाही तथा कच्चे नालों का कनेक्शन करना आवश्यक है. समीक्षा के क्रम में नगर आयुक्त, नगर निगम, बेतिया द्वारा बताया गया कि बेतिया शहर के मुख्य नालों सहित अन्य छोटे नालों की साफ-सफाई करायी जा रही है. साथ ही सड़कों, गलियों आदि की साफ-सफाई भी नियमित रूप से करायी जा रही है. डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कराया जा रहा है.उन्होंने बताया कि मुख्य नालों सहित अन्य नालों का कई जगहों पर अतिक्रमण कर लिया गया है, जिससे जल निकासी में बाधा उत्पन्न हो रहा है. जिलाधिकारी ने सख्त निर्देश दिया कि शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने, जल निकासी की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए विभागीय दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए अग्रतर कार्रवाई प्रारंभ करें. उन्होंने कहा कि नालों पर अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करें, नियमानुसार उनको जुर्माना करें. साथ ही आवश्यकता पड़ने पर एफआईआर दर्ज करते हुए कार्रवाई करें. उन्होंने कहा कि नालों में कचरा डालकर जल निकासी में बाधा उत्पन्न करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध भी कार्रवाई सुनिश्चित करें. उन्होंने निर्देश दिया कि जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं नगर निकाय प्रशासन समन्वित प्रयास करते हुए शहर को जल जमाव से मुक्ति दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करें ताकि शहरवासियों को बरसात के मौसम में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े. उन्होंने कहा कि नालों की उड़ाही एवं अतिक्रमण को हटाने के लिए जेसीबी, बॉबकट, पोकलेन आदि मशीनों को उपयोग में लायें ताकि तीव्र गति से कार्य सम्पादित हो सके. जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी हाल में आगामी मानसून में वॉटर लॉगिंग की समस्या नहीं होनी चाहिए. अंधरी-चुनरी एवं चंद्रावत नदी में गिरने वाले जल को बिना किसी अवरोध के सुगमतापूर्वक प्रवाहित करने के लिए अच्छे तरीके से नालों एवं निकास द्वार की साफ-सफाई कराना सुनिश्चित किया जाय.उन्होंने निर्देश दिया कि पहले मुख्य नाला जो नगर थाना से द्वारदेवी चैक से लालबाजार, हजारी मल धर्मशाला, तीन लालटेन चैक, पदमा नगर, नगर निगम बाउंड्री के पीछे से स्टेशन चैक, भगवती नगर, रेलवे पुल क्रॉस होते हुए पादरी दुसैया पुल होते हुए अंधेरी चुंधरी पुल तक जाती है का क्षेत्रवार विभाजन कर उड़ाही एवं अतिक्रमण हटाया जाय। इसके बाद अन्य बड़े-छोटे नालों की उड़ाही, अतिक्रमणमुक्त कराते हुए जल निकासी का समुचित प्रबंध किया जाय. जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार एवं पुलिस अधीक्षक, बेतिया, श्री उपेंद्र नाथ वर्मा द्वारा संयुक्त रूप से अपील की गयी है कि शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में शहरवासी अपना योगदान दें.जिला प्रशासन, नगर निगम को सहयोग करें. नालों में कचरा नहीं डाले, कूड़ेदान में डालें. नालों का अतिक्रमण नहीं करें.अगर किन्ही के द्वारा नालों का अतिक्रमण किया गया है तो उसे अविलंब स्वयं हटा लें.जलनिकासी की व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता है.जलजमाव होने से शहरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है.इस अवसर पुलिस अधीक्षक, बेतिया, श्री उपेंद्र नाथ वर्मा, उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे.

कोई टिप्पणी नहीं: