स्वयंसेवी संस्थाओं की भूमिका अद्वितीय है : महामहिम मंगूभाई पटेल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 अप्रैल 2022

स्वयंसेवी संस्थाओं की भूमिका अद्वितीय है : महामहिम मंगूभाई पटेल

  • सतत विकास हेतु संस्थाओं के सुझावों को समाहित कर क्रियान्वित करने का प्रयास सरकार करेगी- अरविंद भदौरिया मंत्री

mangu-bhai-pael
भोपाल। सरकार व स्वयंसेवी संगठनों की सांझेदारी से सतत विकास करने के उद्देश्य से *सतत विकास में भागीदारी एवं अनुभवों को साँझा करने हेतु स्वयंसेवी संस्थाओं का सम्मेलन* (दो दिवसीय) कुशाभाऊ ठाकरे अंतर्राष्ट्रीय सभागार (मिंटो हॉल) भोपाल में आयोजित किया गया।  सतत विकास में भागीदारी एवं अनुभवों को साँझा करने हेतु स्वयंसेवी संस्थाओं का सम्मेलन के शुभारंभ समारोह में महामहिम राज्यपाल माननीय श्री मंगूभाई पटेल मुख्य अतिथि के रूप में रहे। महामहिम ने सतत विकास में स्वयंसेवी संस्थाओं की भूमिका अद्वितीय है, उनके द्वारा किए जाने वाले सामाजिक, राजनैतिक, आर्थिक प्रयास अनुकरणीय है इन्हें और अधिक प्रभावी बनाने की आवश्यकता है। सरकार को स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रयासों को रेखांकित करते हुए उत्साहवर्धन करने व सतत विकास में भागीदारी को प्रभावी बनाने हेतु हर स्तर पर सम्मानित करने की बात कही। 


स्वयंसेवी संस्थाओं के सम्मेलन में माननीय अरविंद भदौरिया मंत्री लोकसेवा प्रबंधन एवं सहकारिता विभाग मध्यप्रदेश शासन, श्री अनुराग बेहार सीईओ अजीमजी प्रेमजी फाउंडेशन, पद्मश्री महेश शर्मा शिवगंगा झाबुआ, प्रो. सचिन चतुर्वेदी उपाध्यक्ष एग्पा, श्रीमती जी.व्ही. रश्मि सीईओ एग्पा भोपाल अतिथि रहे।  आयोजित सम्मेलन अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान (एग्पा) भोपाल (म.प्र.), मप्र शासन, मप्र जन अभियान परिषद के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। जिसमें मध्यप्रदेश के साथ ही विभिन्न राज्यों में कार्यरत स्वयंसेवी संगठन, विकास के सांझेदार नेटवर्क, दानदाता संस्थाओं के प्रतिनिधि सम्मिलित रहे।  सम्मेलन में दतिया जिले से रामजीशरण राय स्वदेश ग्रामोत्थान समिति, गजेंद्र पाण्डेय श्री शिवनारायण लोक कल्याण समिति, भोपाल से सचिन जैन विकास संवाद, सुश्री तरन्नुम खान सीएसीएलमध्यप्रदेश, अनुराग त्रिपाठी सीआरओ भोपाल, मुरैना से देवेंद्र भदौरिया धरती संस्था, भिंड से सुनील दुबे चौधरी रूपनारायण दुबे लोक कल्याण समिति, ग्वालियर से उमेश वशिष्ठ सीआईडी संस्था, श्रीप्रकाश निमराजे गोपाल किरण समाजसेवी संस्था, ओम गौतम रमन शिक्षा समिति, निवाड़ी से मस्तराम सिंह घोष, शहडोल से कल्याणी वाजपेयी, छतरपुर से छतरसिंह, प्रदीप श्रीवास्तव सहित 52 जिलों से 3-3 स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने सहभागिता की।  आयोजित सतत विकास में भागीदारी एवं अनुभवों को साँझा करने हेतु स्वयंसेवी संस्थाओं का सम्मेलन दो दिन तक संचालित रहेगा जिसमें पूरे देश के स्वैच्छिक/ सामाजिक परिवर्तक संवाद व मंथन कर प्रदेश की सतत विकास में भागीदारी हेतु रणनीति तय करेंगे। ताकि समन्वित प्रयास कर प्रदेश को विकसित करने की यात्रा आरंभ हो सके। उक्त जानकारी रामजीशरण राय मुख्य कार्यकारी स्वदेश संस्था ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं: