झारखण्ड : माड़-भात खाएंगे, फिर भी फुटबॉल वर्ल्ड कप खेलेंगे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 अप्रैल 2022

झारखण्ड : माड़-भात खाएंगे, फिर भी फुटबॉल वर्ल्ड कप खेलेंगे

jharkhand-girl-ania-for-world0cu-fooball
राँची. गोदी मीडिया के द्वारा हिंदू-मुस्लिम कार्यक्रम करते रहने से माड़-भात खाकर फीफा वर्ल्ड कप तक का सफर करने वाली ओरमांझी की अनिता महतो की खबर सुर्खिया न ले सकी. किसी को ईंट-भट्ठे पर मजदूरी करनी पड़ती थी, किसी को भोजन के नाम पर सिर्फ भात-नमक नसीब होता था. किसी के पांवों में जूते तक नहीं थे तो किसी के माता-पिता दिहाड़ी मजदूरी करते हैं. इतने कठिन संघर्ष के बावजूद इन सबने फुटबॉल खेलते हुए मैदान में घंटों पसीना बहाया और अब वे ऐसे मुकाम पर हैं, जहां से उनके लिए करियर के उम्मीद भरे रास्ते खुलने वाले हैं. ये कहानियां झारखंड की उन सात लड़कियों की हैं, जिनका चयन अंडर 17 फीफा वीमेंस वर्ल्ड कप (Under 17 Fifa World Cup 2022) के लिए इंडियन कैंप में हुआ है. अनिता कुमारी रांची के चारी हुचिर गांव की रहने वाली है. उसकी मां बताती हैं कि उनकी पांच बेटियां हैं. उन्होंने अकेले मजदूरी कर पूरा परिवार चलाया, क्योंकि उनके पति शराब के नशे के चलते घर-परिवार की कोई परवाह नहीं करते थे. वह बताती हैं कि अकेले मजदूरी से इतने पैसे नहीं जुटते थे कि सबके लिए दोनों वक्त भर पेट भोजन का इंतजाम हो. उन्होंने चावल, पानी और नमक खिलाकर पांचों बेटियों को पाला. तीन को पढ़ा लिखाकर उनकी शादी कर दी. चौथी बेटी अनिता और उसकी छोटी बहन की फुटबॉल में दिलचस्पी थी. अनिता ने नंगे पांव फुटबॉल के मैदान पर पसीना बहाया. पास-पड़ोस के लोग ताने देते थे. कहते थे कि हाफ पैंट पहनाकर बेटी को बिगाड़ रही है. आज जब बेटी की सफलता की कहानियां अखबारों में छपती है तो लोग तारीफ करते हैं. इसके पहले अनिता का चयन जमशेदपुर में आयोजित अंडर 18 सैफ चैंपियनशिप के लिए भी हुआ था, जहां उसने एक गोल भी किया था. अनिता राज्य टीम की ओर से खेलते हुए अब तक 15 गोल कर चुकी है.


माड़-भात खाकर फीफा विश्व कप का सफर तय करने वाली झारखण्ड की बेटी अनिता महतो समेत सभी बहनों को बहुत-बहुत बधाई! मंजिल किसी की गृह स्थिति नहीं पूछती, मंजिल बस हुनर को ही पहचानती है..! गरीब से गरीब भी अगर दृढ़ निश्चय कर ले तो अपनी मंजिल तक पहुंचने से वंचित नहीं रह सकता! जिनके इरादे मजबूत होते है ,कांटे भी उनके लिए फूल बन जाते है.!! फीफा अंडर-17 महिला फुटबॉल वर्ल्ड कप के दौरान देश का प्रतिनिधित्व कर झारखंड का मान बढ़ाएंगी 7 महिला फुटबॉल खिलाड़ी. इस साल महिला विश्व कप 2022 के लिए टीम का चयन हुआ है, उस टीम में सात खिलाड़ी झारखंड की है. फीफा(FIFA) ने अंडर-17 महिला विश्व कप 2022 (U-17 Women World Cup) का आयोजन 11 से 30 अक्टूबर तक भारत में करने की घोषणा पहले ही कर दी है. आयोजन को लेकर आधिकारिक शुभंकर(मेस्कट) इभा का अनावरण हो चुका है. इभा एशियाई शेरनी हे, जो महिला शक्ति का प्रतिनिधित्व करती है. फीफा द्वारा बताया गया है कि इभा का लक्ष्य पूरे भारत और दुनिया भर में महिलाओं और लड़कियों को अपनी क्षमता पहचानने के प्रति प्रेरित करता है.  अंडर-17 भारतीय महिला फुटबॉल टीम की घोषणा 23 अप्रैल को हुई. टीम में झारखंड की सात खिलाड़ियों का चयन हुआ है. इसमें गोलकीपर अंजली मुंडा, डिफेंडर सलीना कुमार, सुधा अंकिता तिर्की, अस्टम उरांव व पुर्णिमा कुमारी, विंगर अनीता कुमारी व मिडफील्डर नीतू लिंडा शामिल हैं. भारतीय फुटबॉल संघ ने टीम की घोषण करते हुए प्रशिक्षण कैंप भी शुरू कर दिया है. यह प्रशिक्षण कैँप 23 अप्रैल से 31 मई तक जमशेदपुर में चलेगा. अभी टीम में कुल 33 खिलाड़ियों का चयन हुआ है. प्रशिक्षण कैंप के दौरान बेस्ट 11 का चयन होगा, जो वल्ड कप खेलने के लिए मैदान में उतरेगी. मालूम हो कि 2022 फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप में 16 देशों की टीमें शामिल होंगी और यह 11 से 30 अक्टूबर के बीच भारत में- भुवनेश्वर के कलिंग स्टेडियम, मडगांव के नेहरू स्टेडियम और नवी मुंबई के डी.वाई. पाटिल स्टेडियम में खेला जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं: