मधुबनी : मंहगाई रोको, रोजगार दो-नही तो गद्धी छोड़ दो - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 अप्रैल 2022

मधुबनी : मंहगाई रोको, रोजगार दो-नही तो गद्धी छोड़ दो

cpi-ml-proes-madhubani
मधुबनी, भाकपा-माले कार्यकर्ताओं ने मधुबनी नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत माले नगर से मंहगाई बिरोधी सप्ताह के तहत प्रतिवाद मार्च निकाला और प्रधानमंत्री मोदी का पुतला दहन किया गया। मंहगाई रोको, रोजगार दो-नही तो गद्धी छोड़ दो के नारों से गूंजा पूरा बाताबरण। मंहगाई बिरोधी सप्ताह के अंतिम दिन भाकपा-माले कार्यकर्ताओं ने मधुबनी नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत माले नगर से प्रतिवाद मार्च निकाला और लहेरियागंज-जीतवारपुर  मेन रोड पर प्रधानमंत्री मोदी का पुतला दहन किया। भाकपा-माले के मधुबनी नगर संयोजक बिशंम्भर कामत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  कहा कि मोदी ने अच्छा दिन का सपना दिखाकर जनता के साथ भारी फरेब किया है। मंहगाई, बेरोजगारी  की मार जनता को इस तरह मारा है कि, जनता कराह उठी है। देश के संपत्तियों को कारपोरेट घरानों के हाथों बिक्री का कृतिमान बनाया है। प्रबुद्ध वर्ग भी अब मोदी सरकार को देश बेचू सरकार कह रही है। उन्होंने आगे कहा कि बिहार में बढध रहे भाजपाई खतरों से निपटने के लिए भाकपा-माले ने माले को मजबूत करने और महागठबंधन को धारदार बनाने का अपील किया है। माले के मजबूती की बुनियाद गांव और गरीबों के बीच पार्टी को मजबूत करना होगा। भूमि अधिकार आंदोलन और गरीब बसाओ आंदोलन को मजबूत बनाना होगा। परंतु सामंती भूमाफिया एवं उसके दलालों द्वारा भूमि अधिकार आंदोलन चलाने वाले नेताओं कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे दुष्प्रचार चलाकर पार्टी को कमजोर करने की साज़िश कर रहा है।इसका भी मूंह तोड़ जवाब देना होगा। प्रतिवाद कार्यक्रम को शंम्भू साह , दुर्गेश कामत,योगी पासवान,शैनी साह, राम नारायण ठाकुर ने भी संबोधित किया जबकि लगभग पच्चास पार्टी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

कोई टिप्पणी नहीं: