कांग्रेस भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए कार्य समूह गठित करेगी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अप्रैल 2022

कांग्रेस भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए कार्य समूह गठित करेगी

congress-formed-working-committee
नयी दिल्ली, 25 अप्रैल, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के सुझावों पर विचार के लिए गठित समिति की रिपोर्ट पर मंथन करने के बाद सोमवार को फैसला किया कि भविष्य की चुनौतियों से निपटने के मकसद से विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह का गठन किया जाएगा। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि यह फैसला किया गया है कि आगामी 13, 14 और 15 मई को ‘नवसंकल्प चिंतन शिविर’ का आयोजन किया जाएगा जिसमें राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। सुरजेवाला ने प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने से जुड़े प्रश्नों पर कोई सीधा जवाब नहीं दिया। सोनिया गांधी ने प्रशांत किशोर के सुझावों पर विचार के लिए गठित आठ सदस्यीय समिति की रिपोर्ट पर वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा की। इस बैठक के बाद सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष ने संगठन और राजनीतिक चुनौतियों को देखने और परखने के लिए आठ सदस्यीय समिति का गठन किया था। इस समिति ने 21 अप्रैल को अपनी रिपोर्ट सौंप दी। सोनिया गांधी ने आज इस समूह के सदस्यों के साथ मंत्रणा की। इसके बाद उन्होंने यह निर्णय लिया कि भविष्य की राजनीतिक चुनौतियों से निपटने के लिए ‘इम्पॉवर्ड एक्शन ग्रुप’ का गठन किया जाएगा।’’ उन्होंने बताया, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष ने यह फैसला भी किया है कि 13, 14 और 15 मई को ‘नवसंकल्प चिंतन शिविर’ का आयोजन किया जाएगा। इसमें 400 से अधिक नेता और कार्यकर्ता भाग लेंगे। नवंसकल्प शिविर में राजनीतिक सामाजिक और आर्थिक चुनौतियों पर चर्चा होगी।’’ सुरजेवाला ने कहा, ‘‘मौजूदा सरकार में समाज में भिन्न वर्गों के अधिकारों पर जो कुठाराघात हो रहा है, इससे जुड़े मुद्दों पर चिंतन शिविर में विचार किया जाएगा। संगठन को मजबूत करने पर भी इस चिंतन शिविर में मंथन किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘2024 के लोकसभा चुनाव में क्या रणनीीति रहेगी, इस पर भी निर्णय लिया जाएगा।’’

कोई टिप्पणी नहीं: