बिहार : डीजल की कीमत लगभग 7 रूपया महंगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 अप्रैल 2022

बिहार : डीजल की कीमत लगभग 7 रूपया महंगा

disel-price-7-rupees-high-in-bihar
पटना. बिहार प्रदेश किसान कांग्रेस उत्तर बिहार के अध्यक्ष हिमांशु कुमार ने डीएपी, एनपीके कृषि खाद के दाम में हुई भारी बढ़ोत्तरी की निन्दा करते हुए केन्द्र की भाजपा सरकार से इस किसान विरोधी फैसले को वापस लेने की मांग की है. हिमांशु कुमार ने कहा है कि किसानों के प्रति बदले की भावना से सरकार काम कर रही है और खेती और किसानी पर महंगाई की दोहरी मार मारी जा रही है पिछले 12 दिनों में किसान द्वारा उपयोग किए जाने वाले डीजल की कीमत को लगभग 7 रूपया महंगा किया गया है जबकि डीएपी की कीमत में लगभग 150 रूपया प्रति बैग एवं एनपीके की कीमत में लगभग 100 रूपया प्रति बैग की बढ़ोत्तोरी की गई है. उन्होंने कहा कि सरकार चुपके-चुपके डीजल और खाद की कीमत में बेतहाशा बढ़ोत्तरी तो कर ही रही है खेती के समय पर खाद की कृत्रिम किल्लत पैदा कर किसानों को परेशान भी करती रही है.कीटनाशक और सूक्ष्म पोषक तत्व पर भी 20 से 25 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है. बिहार सरकार द्वारा यांत्रिकरण अनुदान में भी भारी कटौती कर लगभग इसे समाप्त ही कर दिया गया है. कांग्रेस का हाथ किसानों के साथ है और किसानों के ऊपर होने वाले किसी भी अत्याचार को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे.


कोई टिप्पणी नहीं: