रामनवमी पर छात्रों के बीच संघर्ष के बारे में सरकार ने जेएनयू से रिपोर्ट मांगी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 अप्रैल 2022

रामनवमी पर छात्रों के बीच संघर्ष के बारे में सरकार ने जेएनयू से रिपोर्ट मांगी

jnu-violance-ram-navmi
नयी दिल्ली, 12 अप्रैल, रामनवमी पर छात्रों के दो समूहों के बीच संघर्ष के मामले में शिक्षा मंत्रालय ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से रिपोर्ट मांगी है । अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी । शिक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ रामनवमी पर छात्रों के समूहों के बीच हुए संघर्ष एवं परिसर में अशांति को लेकर मानक प्रक्रियाओं के तहत औपचारिक रिपोर्ट मांगी गई है। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कावेरी छात्रावास में रविवार को वामपंथी छात्र संगठन और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से संबद्ध दो समूहों के बीच ‘मेस’ में रामनवमी पर कथित तौर पर मांसाहारी भोजन परोसे जाने को लेकर झड़प हो गई थी। पुलिस के अनुसार इस झड़प में 20 विद्यार्थी घायल हो गये थे। इस बीच, दिल्ली पुलिस ने कहा कि दोनों पक्षों की ओर से मिली शिकायत के बाद अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने दावा किया कि संघर्ष उस समय शुरू हो गया जब कुछ छात्रों ने ‘हवन’ का विरोध किया । ऐसा ही आरोप आरएसएस से संबद्ध एबीवीपी ने लगाया है। वहीं, जेएनयू प्रशासन ने परिसर में किसी भी तरह की हिंसा में लिप्त पाये जाने पर छात्रों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी है। दूसरी ओर, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के सैकड़ों विद्यार्थियों ने सोमवार को यहां दिल्ली पुलिस मुख्यालय और तुगलक रोड थाने पर विरोध-प्रदर्शन किया और विश्वविद्यालय में हुई हिंसा में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं की कथित भूमिका के लिए उनकी गिरफ्तारी की मांग की।

कोई टिप्पणी नहीं: