IPL: हैदराबाद ने रोका गुजरात का विजय रथ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 11 अप्रैल 2022

IPL: हैदराबाद ने रोका गुजरात का विजय रथ

hyderabad-beat-gujarat
मुंबई, 11 अप्रैल, कप्तान केन विलियम्सन (57 )के शानदार अर्धशतक की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद ने सोमवार को आईपीएल मुकाबले में आठ विकेट से जीत दर्ज कर गुजरात का विजय रथ रोक दिया। हैदराबाद की चार मैचों में यह दूसरी जीत है जबकि गुजरात की चार मैचों में पहली हार। गुजरात ने हार्दिक पांड्या (50) और मध्य क्रम के बल्लेबाज अभिनव मनोहर (35) की शानदार पारियों की बदौलत 2022 आईपीएल के 21वें मैच में 20 ओवर में सात विकेट 162 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया जबकि हैदराबाद ने विलियम्सन के 57 और निकोलस पूरन के नाबाद 34 रन की बदौलत 19.1 ओवर में दो विकेट पर 168 रन बनाकर शानदार जीत अपने नाम की। लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद ने धीमी शुरुआत की लेकिन कप्तान केन विलियम्सन और अभिषेक शर्मा ने गति पकड़ी और स्कोर को बढ़ाया। हैदराबाद के पिछले मैच के हीरो अभिषेक 32 गेंदों में छह चौकों की मदद से 42 रन बनाने के बाद राशिद ख़ान का शिकार बन गए। राशिद ने अपनी पुरानी टीम हैदराबाद को दिया पहला झटका, ऑफ स्टंप की छोटी गेंद को अभिषेक तारामंडल में भेजना चाहते थे, शॉट तो अच्छा लगाया लेकिन पूरी ताक़त नहीं लगा पाए, युवा सुदर्शन ने गेंद पर नज़र बनाए रखी और उसे हाथों में समा लिया। हैदराबाद का पहला विकेट 64 के स्कोर पर गिरा। हैदराबाद के बल्लेबाजों ने इसके बाद राशिद को सावधानी के साथ खेला। विलियम्सन ने 13वें ओवर में विपक्षी कप्तान हार्दिक पांड्या की गेंदों पर लगातार दो छक्के मारे। राहुल त्रिपाठी ने राहुल तेवतिया के पारी के 14वें ओवर की पहली गेंद पर छक्का जड़ दिया लेकिन मांसपेशियां खिंच जाने के कारण उन्हें बाहर जाना पड़ा।अब निकोलस पूरन मैदान पर उतरे। 15वां ओवर डालने आये राशिद खान। हैदराबाद के बल्लेबाजों ने इस ओवर को आराम से खेला। अब आखिरी पांच ओवर में हैदराबाद को चाहिए थे 47 रन। विलियम्सन ने लौकी फर्ग्युसन की गेंद पर विकेटकीपर के ऊपर से छक्का मारकर अपना अर्धशतक पूरा किया। विलियम्सन ने इसी ओवर में एक चौका भी जड़ा । हार्दिक ने अगले ओवर की पहली गेंद पर विलियम्सन को कैच करा दिया। विलियम्सन लॉन्ग ऑन को क्लियर करना चाहते थे, लेकिन स्लोवर गेंद होने की वजह से गेंद दूर नहीं जा पाई और लॉन्ग ऑन पर फील्डर को मिला आसान सा कैच मिला। विलियम्सन ने 46 गेंदों पर दो चौकों और चार छक्कों की मदद से 57 रन बनाये।


नए बल्लेबाज मैदान पर उतरे एडन मारक्रम। आखिरी तीन ओवर में हैदराबाद को चाहिए थे 28 रन। पूरन ने फर्ग्युसन के ओवर में चौका और छक्का मारकर फासला आखिरी 12 गेंदों में 13 रन ला दिया। पूरन ने आखिरी ओवर की पहली गेंद पर विजयी छक्का जड़ दिया। पूरन ने 18 गेंदों पर नाबाद 34 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए और हैदराबाद आठ विकेट से मैच जीत गया। इससे पहले गुजरात ने टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुए मिली-जुली शुरुआत की। टीम ने भुवनेश्वर कुमार के पहले ही ओवर में 17 रन बटौरे, लेकिन तीसरे ओवर की दूसरी गेंद पर टीम ने इनफॉर्म बल्लेबाज शुभमन गिल का विकेट खो दिया। इसके बाद साईं सुदर्शन ने मैथ्यू वेड के साथ मिल कर पारी काे आगे बढ़ाने की कोशिश, लेकिन पहला पावरप्ले (छह ओवर) खत्म होने से वह भी आउट हो गए। छठे ओवर की चौथी गेंद पर 47 के स्कोर पर उनका विकेट गिरा। फिर कप्तान हार्दिक पांड्या क्रीज पर आए और एक छोर को संभाला, लेकिन इस बीच 64 के स्कोर पर वेड के रूप में गुजरात का तीसरा विकेट गिर गया। यहां से विकेटों के पतन को रोकने के लिए पांड्या नए बल्लेबाज डेविड मिलर के साथ सूझ-बूझ के साथ खेले। पांड्या ने बीच-बीच में कुछ शानदार हिट भी दिखाए। दोनों बल्लेबाजों के बीच चौथे विकेट के लिए बड़ी साझेदारी पनप रही थी कि 104 के स्कोर पर मिलर के रूप में गुजरात ने चौथा विकेट खाे दिया, लेकिन इसके बाद पांड्या ने इनफॉर्म बल्लेबाज अभिनव मनोहर के साथ मिल कर पारी को गति दी, हालांकि टीम बड़े टोटल तक नहीं पहुंच पाई। पांड्या और मनोहर ने शानदार शॉट्स लगाए। दोनाें के बीच पांचवें विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी हुई, लेकिन मनोहर ने 19वें की पांचवीं गेंद पर विकेट खो दिया। राहुल तेवतिया भी आते ही आउट हो गए और मैच की आखिरी गेंद राशिद खान बोल्ड हो गए। इस तरह गुजरात 162 का स्कोर बना पाया। पांड्या ने चार चौकों और एक छक्के की मदद से 41 गेंदों पर 50 रन की अर्धशतकीय पारी खेली, जबकि मनोहर ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए पांच चौके और एक छक्के के दम पर 21 गेंदों पर 35 रन बनाए। हैदराबाद की तरफ से तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और टी नटराजन ने दो-दो, जबकि उमरान मलिक और मार्को यानसन ने एक-एक विकेट लिया।

कोई टिप्पणी नहीं: