झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 14 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 अप्रैल 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 14 अप्रैल

डॉ. भीमराव अंबेडकर ने कभी भी किसी जाति-धर्म के बीच नहीं किया पक्षपात -ः क्षेत्रीय सांसद जीएस डामोर

  • डॉ. अंबेडकर द्वारा निर्मित संविधान का आज संपूर्ण भारत कर रहा पालन -ः भाजपा जिलाध्यक्ष एलएस नायक
  • जिला भाजपा एवं भाजपा मंडल झाबुआ की ओर से डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा पर किया गया माल्यार्पण

jhabua news
झाबुआ। देश के संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबडेकर की जयंती 14 अप्रेल, मंगलवार को स्थानीय डीआरपी लाईन स्थित डॉ. अंबेडकर पार्क पर जिला भाजपा एवं भाजपा मंडल झाबुआ द्वारा धूमधाम से मनाई गई। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप मंें क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक एवं पूर्व विधायक झाबुआ शांतिलाल बिलवाल तथा भाजपा के पूर्व जिला कार्यालय मंत्री पं. महेन्द्र तिवारी उपस्थित थे। सुबह 10 बजे से आयोजित कार्यक्रम में प्रारंभ में सभी ने अंबेडकर पार्क में स्थापित डॉ. अंबेडकर की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ वर्षों से पार्क में स्थापित बाबा साहेब की पूर्व प्रतिमा पर भी माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। बाद क्षेत्रीय सांसद जीएस डामोर ने अपने उद्बोधन में कहा कि डॉ. अंबेडकर ने कभी भी किसी जाति-धर्म के बीच भेदभाव या पक्षपात नहीं रखा। कुछ अनुयायी उन्हें एक वर्ग विशेष का मानते है, लेकिन ऐसा नहीं है। वह सभी वर्ग, जाति, धर्म को साथ लेकर चले। आज उनकी जयंती पर हम उन्हें नमन कर श्रद्धासमुन अर्पित करते है। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष श्री नायक ने कहा कि डॉ. अंबेडकर द्वारा निर्मित संविधान का आज संपूर्ण भारत पालन कर रहा है। उनके संविधान में सभी को समानता का अधिकार दिया गया है। पूरा देश उन्हें मानता है। पूर्व विधायक श्री बिलवाल ने कहा कि डॉ. अंबेडकर को बाबा साहब के नाम से भी जाना जाता है। उन्हें भारत रत्न की उपाधि से भी नवाजा गया है। पूर्व जिला कार्यालय मंत्री पं. महेन्द्रकुमार तिवारी ने कहा कि बाबा साहब को मानने वाले पूरे देश में है। उनकी लोकप्रियता पूरे भारत में है। ऊंच नीच के भेदभाव से दूर होकर वह सभी को समान दृष्टि से देखते थे।


यह रहे उपस्थित

कार्यक्रम का संचालन भाजपा मंडल झाबुआ अध्यक्ष अंकुर पाठक ने किया एवं आभार मंडल महामंत्री तथा पार्षद जुवानसिंह गुंडिया ने माना। डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण अवसर पर भील जाति सेवा संघ अध्यक्ष अजय डामोर, पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष अजय पोरवाल, युवा भाजपा नेता कल्याणसिंह डामोर एव भूपेश सिंगोड़ वरिष्ठ भाजपा नेता रमेश शर्मा, भाजपा आईटी सेल संयोजक अर्पित कटकानी, आईटीआई जोबट के चेयमेरन यशवंत भंडारी, भाजयुमो जिला मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, भाजपा मंडल झाबुआ उपाध्यक्ष अमित शर्मा एवं मितेश गादिया, मंडल मंत्री राजेश थापा, किशोर भाबोर, पूर्व मंडल अध्यक्ष दीपेश बबलू सकलेचा, भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला महामंत्री मयूर पंवार, जिला मंत्री हेमेन्द्र नाना राठौर, भायजुमो झाबुआ मंडल अध्यक्ष शक्तिसिंह देवड़ा, मनोज अरोरा, रमण कनेश, स्वीट गोस्वामी, भरत बामनिया आदि सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।


युवा देश का भविष्य है, वैश्य समाज को मजबूत बनाने मंे युवा आगे आएं -ः राजेश अग्रवाल

युवाओ को संगठित होना आवश्यक -ः विनोद बाफना

वैश्य महासम्मेलन के युवा जोड़ो अभियान की महत्वपूर्ण बैठक निजी गार्डन पर हुई संपन्न

jhabua news
झाबुआ। युवा देश का भविष्य है, जिसे अब जागरूक बनना है और देश के विकास मैं वैश्य समाज के युवा आगे आये तथा देश, समाज को मजबूत बनाए। उक्त विचार मप्र शासन के सिविल सप्लाईज, कार्पाेरेशन के उपाध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त राजेश जी अग्रवाल ने रखे। वैश्य महासम्मेलन मप्र के यशस्वी प्रदेशाध्यक्ष उमाशंकर गुप्ता के आव्हान पर प्रदेश स्तर पर चल रहे युवा जोड़ो अभियान के तहत झाबुआ में युवा जोड़ो कार्यक्रम स्थानीय निजी गार्डन में आयोजित किया गया। जिसमें श्री अग्रवाल ने आगे कहा देश हो या समाज, आज युवा वर्ग संगठित होकर आगे आए। समाज उत्थान के कार्य कर समाज को आगे बढ़ाने का प्रयास कर समाज को मजबूत बनाए। वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश के प्रदेश महामंत्री एवं कैट के प्रदेश उपाध्यक्ष महेशचंद्र माहेश्वरी ने कहा कि कोरोना काल मे वैश्य समाज ने आगे आकर समाजसेवा के बहुत सराहनीय कार्य किये है आगे भी समाजसेवा के कार्य करते रहे।


युवाओं को संगठित होना आवश्यक है

वैश्य महासम्मेलन के संभागीय अध्यक्ष विनोद बाफना ने कहा कि वर्तमान में समाज के कई युवाओं को सहीं मार्गदर्शन नही मिल रहा है। युवा वर्ग आज भटक रहा है। युवाओ को संगठित होकर वैश्य समाज के अनुभवी वरिष्ठ सलाहकारो से संपर्क कर भविष्य की रूपरेखा तय कर उज्जवल भविष्य बनाए। वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष मनोहर सेठिया ने कहा कि जिले मे वैश्य समाज मजबूत हो रहा है। युवा इकाई जिलाध्यक्ष पूर्वेश कटारिया ने बताया कि कि जिले में अतिशीघ्र वैश्य समाज का सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। जिसमे स्कूली, कालेज छात्र-छात्राओं एवं युवा वर्ग को जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। अभियान चलाएंगे। जिलाध्यक्ष श्री कटारिया ने इसमें सभी युवाओं से ज्यादा से ज्यादा सहभागिता करने हेतु आव्हान किया।


जिलेभर से सैकड़ों सदस्य रहे उपस्थित

कार्यक्रम मे मंच पर जिला प्रभारी प्रवीण सुराणा, महिला जिलाध्यक्ष सुनीता बाबेल, युवा इकाई जिला प्रभारी अजय पोरवाल भी आसीन थे। इस अवसर पर रानापुर, पारा, कालीदेवी, झकनावदा, रायपुरिया, पेटलावद, सारंगी, करवड़, बामनिया, थांदला, मेघनगर, पिटोल, कुंदनपुर एवं झाबुआ के सैकड़ों सदस्यगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन जिला महामंत्री दीपेश बबलू सकलेचा ने किया एवं आभार पूर्वेश कटारिया ने माना।


’नागरिक बैंक के अध्यक्ष पद के निर्वाचन में कपिल पाठक जीते शैलेश दुबे हारे’


झाबुआ । विगत दिवस झाबुआ नागरिक सहकारी बैंक के अध्यक्ष पद पर निर्वाचन संपन्न हुए उक्त निर्वाचन निर्वाचित अध्यक्ष पुरुषोत्तम प्रजापति के निधन से पद रिक्त हुआ था कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में शैलेश दुबे कामकाज देख रहे थे मध्य प्रदेश सहकारिता विभाग निर्वाचन शाखा द्वारा निर्वाचन अधिकारी नियुक्त कार नागरिक बैंक के अध्यक्ष पद के निर्वाचन संपन्न कराए गए उक्त निर्वाचन प्रक्रिया में वर्तमान पदस्थ 15 संचालकों ने हिस्सा लिया निर्वाचन के दौरान अध्यक्ष पद के दो दावेदार सामने होने से रिटर्न अधिकारी द्वारा मतदान भी कराया गया मतदान के दौरान पूर्व सहकारिता नेता स्वर्गीय लक्ष्मी नारायण पाठक के पुत्र कपिल लक्ष्मी नारायण पाठक को अध्यक्ष पद हेतु 15 में से 8 वोट प्राप्त हुए वही पूर्व सहकारिता नेता के परम शिष्य एवं बैंक के उपाध्यक्ष शैलेश दुबे को अध्यक्ष पद हेतु 7 मत प्राप्त हुए इस प्रकार अध्यक्ष पद पर कपिल लक्ष्मी नारायण पाठक निर्वाचन अधिकारी अधिकारी द्वारा विधिवत घोषित किए गए पाठक के निर्वाचन से सहकारिता जगत के जुड़े एवं उपस्थित संचालक मंडल ने उन्हें भावभीनी बधाइयां प्रेषित की पाठक के अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने एवं शैलेश दुबे के अध्यक्ष पद पर पराजित होने से राजनीतिक हल्कों में जन चर्चा का विषय बना हुआ है बताया जाता है कि अधिकांश संचालक गण शैलेश दुबे के समर्थक माने जाते हैं उसके उपरांत उनका हारना और पाठक का जितना सहकारिता जगत के राजनीति में एक नया संदेश छोड़ता नजर आता है।


विश्व को अहिंसा का सन्देश देने वालें प्रभु महावीर का जन्मकल्याणक महोत्सव मनाया

  • भगवान महावीर स्वामी का भव साधना का निष्कर्ष - धर्मेन्द्रमुनिजी

थांदला। वर्तमान समय में प्रासंगिक सकल विश्व में अहिंसा, सत्य, अचौर्य, ब्रम्हश्चर्य व अपरिग्रह जैसे नैतिक मूल्यों का उपदेश प्रदान करने वाले जैन समुदाय के परम आराध्य चरम तीर्थंकर भगवान महावीर का जन्म कल्याणक महोत्सव चौत्र शुक्ल त्रयोदशी को पूरे देश में बड़े ही हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया वही जैनाचार्य पूज्य श्री उमेशमुनिजी म.सा. ‘‘अणु‘‘ की दीक्षा जयंती भी मनाई। जैन समाज ने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखते हुए प्रातः काल श्वेताम्बर, दिगम्बर व तेरापंथ समाज ने त्रिशला नन्दन वीर की दृ जय बोलो महावीर की, प्रभु महावीर का दिव्य सन्देश दृ जियो और जीने दो जैसे गगन भेदी जयकारों के साथ सामूहिक जुलूस में शामिल हुए। जिसमें बड़ी संख्या में पारंपरिक परिधानों में महिला, पुरुष व बच्चों ने उत्साहपूर्वक हिस्सा लिया। जैन समाज की प्रभात फेरी सकल विश्व को प्रभु महावीर के जियो और जीने दो के साथ ही प्रेम, मैत्री और सहिष्णुता का सन्देश देते नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए जिनालयों के दर्शन करते हुए जैन स्थानक भवन पहुँची जहाँ विराजित तत्वज्ञ पूज्य श्री धर्मेन्द्रमुनिजी एवं निखिलशीलाजी म.सा. आदि ठाणा - 9 के सानिध्य में महावीर प्रभु के जीवन के रोचक कथानक सुनाए व जैनाचार्य पूज्य श्री उमेशमुनिजी म.सा. “अणु” की दीक्षा जयंती पर गुरु की महिमा वर्णित की। उपस्थित धर्म परिषद को सम्बोधित करते हुए तत्वज्ञ श्री ने कहा कि सामान्य पुरुषों का जन्मदिवस मनाया जाता है परंतु स्व पर का कल्याण करने वालें तीर्थंकर प्रभु का जन्म कल्याणक  मनाया जाता है। आजके दिन की सार्थकता बताते हुए तत्वज्ञ श्री ने कहा कि आज वीर प्रभु का जन्म कल्याणक, आचार्यश्री की 67वीं दीक्षा जयंती एवं नव पद ओलिजी में दर्शन की आराधना का दिन होने से धर्म का प्रतिपादन भी तीनों प्रसंगों को देखते हुए किया जा रहा है। उन्होंनें कहा कि उदात्त भाव आने से जीव का विकास प्रारम्भ हो जाता है भगवान महावीर स्वामी का जीव भी अनादि काल से हमारें साथ ही था परंतु नयसार के भव में अतिथि को दान देने के उदात्त भाव से उनका संसार सीमित हो गया। भगवान के भव परम्परा का चिंतन करते हुए उन्होनें भगवान महावीर के भव में उनके द्वारा की गई सम्यग आराधना का स्वरूप बताया। पूज्यश्री ने कहा कि आत्म साधक लौकिक भविष्य की चिंता करने के बजाय सम्यक आराधना को महत्व देता है। उन्होनें वर्तमान समय को व्यवहारिक बताते हुए भव्य जनों को सावधान रहने का संकेत भी दिया।   इस अवसर पर धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए मधुर व्याख्यानी पूज्य श्री गिरिशमुनिजी ने कहा कि आराधना के भव ही सार्थक होते है नयसार के भव से पहले भी भगवान का जीव संसार में अशुद्ध अवस्था में था फिर आराधना करते हुए वह शुद्ध स्वरूप को प्राप्त होकर स्व-पर कल्याणकारी बना। उन्होनें परिषद को कर्म बोध करवाते हुए कहा कि जीव कर्म के फल से जितना डरता है उतना ही पाप कर्म बन्ध से डरने लगे जाए तो कर्म निरोध की इच्छा होती है। भगवान ने भी जन्म लेकर जन्म मरण को मिटाने की साधना की जिससे वे हमारें पूजनीय व वंदनीय बने। मधुर व्यख्यानी ने स्तवन के माध्यम से घर के त्याग को सार रूप बताते हुए सांसारिक तुच्छ वस्तुओं की अपेक्षा भगवान की भौतिक सम्पन्नताओं से तुलना करते हुए उसे त्यागने का फल बताया। धर्मसभा में साध्वी निखिलशिलाजी एवं दीप्तिश्रीजी ने गगन गुजा दो भक्ति से गुरु का करो जयकारा स्तवन के माध्यम से भगवान एवं गुरुदेव के जीवन की साधना का महत्व बताया इस अवसर पर उन्होंनें उपस्थित परिषद को व्यसन के त्याग कर जन्म कल्याणक पर अपने जीवन को सार्थक बनाने की प्रेरणा दी। इस अवसर पर स्थानकवासी जैन श्रीसंघ के अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत, दिगम्बर समाज के बाबूलाल भिमावत आदि ने सभी को प्रभु महावीर जन्मकल्याणक, जैनाचार्य उमेशमुनिजी “अणु” की 67वीं व पूज्याश्री दीप्तिश्रीजी की 12वीं दीक्षा जयंती की शुभ कामनाएँ दी। सभा का संचालन संघ सचिव प्रदीप गादिया ने किया। धर्मसभा व चल समारोह में संघ के वरिष्ठजन नगीनलाल शाहजी, प्रकाशचंद्र घोड़ावत, माणकलाल लोढा, अरुण कोठारी, अरविंद रुनवाल, कमलेश दायजी, रमणलाल मुथा, रमेशचंद्र शाहजी, अनिल भंसाली, मयूर तलेरा, नरेंद्र काकू श्रीमाल, रमेशचन्द्र श्रीमाल, दिलीप शाहजी, कनकमल घोड़ावत, यतीश छिपानी, उमेश पिचा, चंचल भंडारी, रूपेश पोरवाल, बुद्धिलाल मिंडा, अभय मेहता, इन्द्रवर्धन मेहता, महावीर मेहता, अनिल लुणावत, महेश व्होरा, प्रदीप जैन, अभय रुनवाल, रतनलाल जैन, रवि लोढ़ा, संदीप शाहजी, अखिलेश श्रीमाल, समकित तलेरा, हितेश शाहजी, अरूण गादिया, विजय भिमावत, सुधा शाहजी, इंदु कुवाड़, अनुपमा श्रीमाल, शकुंतला कांकरिया, सानिया तलेरा, संध्या भंसाली, किरण श्रीमाल, प्रिया तलेरा, स्वीटी गादिया सहित सकल जैन श्रीसंघ उपस्थित था।


जन्मकल्याणक पर हुए अनेक आयोजन

जानकारी देते हुए संघ प्रवक्ता पवन नाहर ने बताया कि प्रभु महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव पर जिनालयों में प्रातःकाल से ही भगवान का प्रक्षालन अभिषेक पूजा होती रही वही स्थानक में पूज्यश्री के सानिध्य में प्रातःकाल प्रार्थना के बाद गुणानुवाद सभा आयोजित हुई। वयोवृद्ध श्रावक गेंदालाल महेश दीपेश शाहजी परिवार ने नवकारसी, दिगम्बर जैन संघ व मूर्तिपूजक संघ ने मन्दिरजी में व राजलबाई कनकमल गादिया ने स्थानक पर प्रभावना का लाभ लिया। इस दौरान नवपद ओलिजी के साथ अन्य तप आराधकों ने महाराज साहेब से प्रत्याख्यान ग्रहण किये गुप्त लाभार्थियों ने तपस्वियों की प्रभावना का लाभ लिया। शुभ प्रसंग पर एवं सागरमल चौधरी की 21वीं पुण्यतिथि पर सूरज सागर चौधरी परिवार ने व राजमल लुणावत की प्रथम पुण्य स्मृति में अनिल कुमार अर्पित कुमार लुणावत परिवार ने सिविल अस्पताल एवं मिशन अस्पताल में फल व बिस्किट वितरण कर पुण्यार्जन किया। शाम को नई मंडी प्रांगण में श्वेताम्बर सामूहिक गोट का आयोजन किया जिसका लाभ स्व. भंवरलाल लोढ़ा की स्मृति में प्रेमलता जिनेन्द्र, अल्केश, प्रांजल लोढ़ा परिवार ने लिया। इसीके साथ धार्मिक तम्बोला व स्तवन आदि अन्य कार्यक्रम भी आयोजित किये गये उक्त जानकारी संघ प्रवक्ता पवन नाहर ने दी।


भारत रत्न बाबा साहेब की जन्म जयंती मनाई


थांदलाः- हिंदू युवा जनजाति संगठन थांदला के कार्यकर्ताओं ने संविधान निर्माता भारत रत्न डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती मनाई।  सभी कार्यकर्ताओं ने मिलकर थांदला के वागडिया फलिया में स्थित उनकी प्रतिमा पर बारी, बारी से माल्यार्पण किया, साथ ही सभी कार्यकर्ताओं ने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जय और बाबा साहब अमर रहे के नारे लगाते हुए, जन्म जयंती मनाई। सह संगठन मंत्री अकलेश रावत ने कहा कि हम सभी को बाबा साहब के द्वारा बताए हुए मार्ग पर चलना चाहिए, उनके विचारों को धारण करना चाहिए, बाबा साहब अंबेडकर महान समाज सुधारक शुभचिंतक सभी धर्म और सभी समाज को एक साथ में लेकर चलने वाले ऐसे व्यक्तित्व के धनी थे जिन्होंने कभी हार नहीं मानी। और हमेशा सभी समाज और सभी धर्म को लेकर चले जिनके कारण आज हम सभी है। इस दौरान हिंदू युवा जनजाति संगठन के वरिष्ठ कार्यकर्ता सह संगठन मंत्री अकलेश रावत, थांदला ब्लॉक अध्यक्ष अनिल मचार, वरिष्ठ कार्यकर्ता दुल्ला भूरिया,अनिल सोलंकी, मुकेश भूरिया,अकलेश मेडा, निलेश निनामा, जीवन डामोर, अकु गनावा, केलाश गनावा,विजय वसुनिया,राहुल कटारा,रवि वसुनिया आदि कार्यकर्ता गण उपस्थित रहे।


बाबा साहेब का मूल मंत्र था, शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो - वरिष्ठ समाजसेवी यशवंत भंडारी, जनपद पंचायत सभाकक्ष में डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर व्याख्यान कार्यक्रम का हुआ आयोजन


झाबुआ। बाबा साहब का मूलमंत्र यहीं था शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो, परंतु आपका संघर्ष जन कल्याणकारी हो और समाज में एकता और समरसता प्रदान करें। बाबा साहब ने हमें भारत का संविधान बना कर एक अमूल्य धरोहर प्रदान की। बाबा साहब असाधारण ज्ञान के प्रतीक थे और उन्होंने शिक्षा में 32 डिग्रीयां हासिल की। बाबा साहब ने कभी सिद्धांतों से समझौता नहीं किया और वे एक भारत के महामानव के रूप में जाने गए उन्होंने कहा था कि मनुष्य जन्म से नहीं अपने कर्म से महान होता है। आपने यह भी कहा था कि राजनीति संपूर्ण परिवर्तन का आधार नहीं है, इसके लिए सामाजिक चेतना सामाजिक बदलाव ही महत्वपूर्ण है। आपको गलत को गलत कहना होगा, नहीं तो आपकी ज्ञान की प्रतिभा व्यर्थ है। उक्त उदगार जिले के वरिष्ठ समाजसेवी यशवंत भंडारी ने जन अभियान परिषद् झाबुआ द्वारा आयोजित बाबा भीमराव अंबेडकर जयंती के अवसर पर आयोजित व्याख्यान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता जन अभियान परिषद् झाबुआ ब्लॉक समन्वयक तोलिया डामोर ने की। विशेष अतिथि मेंटर्स राजेश बैरागी थे। प्रारंभ बाबा साहब के चित्र पर माल्यार्पण एवं एवं दीप प्रज्वलन आमंत्रित अतिथियों द्वारा किया गया। अतिथियों का स्वागत समिति सदस्य एवं छात्रों ने किया। प्रेरणा गीत खेड़ी ग्राम के जयहींग ने प्रस्तुत किया। अध्यक्षता कर रहे श्री डामोर ने बताया कि बाबा साहेब संविधान निर्माता होकर महू, इंदौर में जन्मे थे, जो आज अंबेडकर नगर के नाम से जाना जाता है। वह जाति से दलित थे किंतु अपने गुणों और कर्म से आज महामानव बन गए। उन्होंने अपने जीवन काल में वकील प्रोफेसर एवं राजनीतिज्ञ का जीवन जिया एवं कहा था कि जहां मेरे व्यक्तिगत और देश हित में टकराव होगा, वहां मैं देशहित को महत्व दूंगा, परंतु जहां दलित जातियों के हित और देश हित में टकराव होगा, वहां मैं दलित जातियों के हित में प्राथमिकता दूंगा। महात्मा गांधी ने ही अछूत शब्द हटा कर, हरिजन नामक शब्द दिया।


बाबा साहेब ने समाज में अपना नाम महामानव के रूप में अंकित करवाया

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विशेष अतिथि राजेश बैरागी ने कहा कि बताया कि बाबा साहेब ने महिलाओं के कल्याण के लिए बहुत कार्य किया। वे कहते थे कि यदि आपके पति या पुत्र शराब पीकर घर में आए तो घर के दरवाजे बंद कर दो और अपनी पुत्रियों को भरपूर शिक्षा दो। वे शिक्षा के पुरोधा थे। उन्होंने उस वक्त, जो उनके जीवनकाल का सबसे कठिन समय था। मुश्किल से पढ़ाई पूरी की ओर विदेश जाकर पीएचडी की डिग्री प्राप्त की और समाज में अपना नाम महामानव के रूप में अंकित करवाया। बाबा साहेब 9 भाषाओं को जानते थे और 21 साल तक की उम्र में सभी धर्मों की पढ़ाई की। भारत देश के तिरंगे झंडे पर अशोक चक्र लगवाने का श्रेय भी बाबासाहेब को जाता है। उन्होंने कहा था हमें अन्याय के विरुद्ध होकर लड़ना चाहिए, चुप नहीं बैठना चाहिए। संविधान मात्र वकीलों का दस्तावेज नहीं है, अपितु इसे देश के हर नागरिक को अवश्य पढ़ना चाहिए ।


50 से अधिक सदस्यों की रहीं सहभागिता

व्याख्यान कार्यक्रम जनपद पंचायत हाल में आयोजित किया गया था। जहां पर विभिन्न ग्रामों से ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति एवं बीएसडब्ल्यू, एमएसडब्ल्यू के छात्र-छात्राएं, कोरोना एवं सिकलसेल वॉलिंटियर्स द्वारा सहभागिता की गई। इनकी संख्या 50 से अधिक रहीं। कार्यक्रम का संचालन राजेश वैरागी ने किया एवं आभार सिकल सेल वोलेंटियर्स रोहित भाबर ने माना।


जय बजरंग व्यायाम शाला में डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती मनाई गई, मिठाई एवं फल वितरण किया गया


झाबुआ। जय बजरंग व्यायाम शाला (जूना अखाड़ा) झाबुआ में 14 अप्रेल, गुरुवार सुबह 9 बजे से महानायक सविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की तस्वीर पर व्यायाम शाला के खिलाडियों ने पुष्पमाला अर्पण कर एवं मिठाई एवं फल वितरण कर जयंती मनाई। जिसमे राष्ट्रीय खिलाडी एवं कोच सुशील बाजपेयी (पहलवान) ने बाबा साहब के जीवन पर युवाओ को जानकारी दी। युवाओ को संकल्प करवाया कि बाबा साहब के बताये हुए मार्ग पर चलकर देश एवं समाज को मजबूत बनाएंगे। व्यायाम शाला देश के महापुरुषो की जयंती एवं बलिदान दिवस पर कार्यक्रम करती रहती है। बाबा साहब के जयंती पर हुए कार्यक्रम मे प्रकाश चौहान, ललित शर्मा, राजीव शुक्ला, उमेश मेडा, गुलाबसिंग गुंडिया, नरेंद्र चौहान राकेश मेडा, बाबू खपेड, दिनेश सिंगाड आदि उपस्थित थे। व्यायाम शाला परिवार में व्यायाम कर्ता एवं खिलाडियों की उपस्थिति मे शानदार गरिमामय कार्यक्रम हुआ। जय बजरंग व्यायाम शाला, जहां विभिन्न खेलों हेतु वर्षों से निःशुल्क रूप से ‘‘स्वस्थ युवा शक्तिशाली भारत’’ के मंत्र को आत्मसात कर बिना भेद भाव के खिलाडी तैयार किए जा रहे है।


त्रिशला नंदन वीर की ... जय बोलो महावीर की ... के जयघोष के साथ सकल जैन समाज ने शहर में निकाला वरघोड़ा, महावीर स्वामीजी का अभिषेक, पूजन एवं पंच कल्याणक पूजन का हुआ आयोजन

  • प्रवचन में साध्वी केवल्य प्रिया श्रीजी मसा ने महावीर स्वामीजी के सिद्धांतों और संदेश का किया वर्णन

jhabua news
झाबुआ। 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामीजी का 2621वां जन्म कल्याणक महोत्सव सकल जैन समाज, जिसमें श्वेतांबर मूर्तिपूजक श्री संघ, स्थानकवासी श्री संघ एवं तेरापंथ महासभा द्वारा संयुक्त रूप से 14 अप्रेल, मंगलवार को धूमधाम से मनाया। जिसमें मुख्य रूप से प्रातःकाल श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में महावीर स्वामीजी का अभिषेक, पूजन बाद शहर में भव्य वरघोड़ा निकाला गया। दोपहर में पोषध शाला भवन में साध्वी केवल्य प्रिया श्रीजी मसा आदि ठाणा द्वारा महावीर स्वामी के संसार के लिए सिद्धांतों और संदेश का वर्णन किया। प्रवचन बाद पार्श्वनाथ पंच कल्याण पूजन एवं शाम को दीप सज्जा तथा भक्ति का भी आयोजन हुआ। सकल श्री संघ द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के तहत सुबह 6.30 बजे श्री भक्तामर स्त्रोत एवं गुरू गुण इक्कीसा पाठ बाद 7 बजे श्री शांतिस्नात्र पूजन एवं आरती संपन्न हुई। भगवान का अभिषेक करने का लाभ अशोक राठौर परिवार एवं पूजन का लाभ राजेन्द्र रूनवाल परिवार ने लिया। तत्पश्चात् श्री महावीर स्वामीजी के जन्म कल्याण वाचन अवसर पर बावन जिनालय से भव्य शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें आगे बैंड-बाजों पर धार्मिक गीतों की प्रस्तुति दी जा रहीं थी। इसके पीछे प्रभु श्री महावीर स्वामीजी की माता त्रिशला रानी द्वारा देखे गए 14 स्वपनजी लेकर श्राविकाएं चली। बालिकाएं महावीर स्वामीजी द्वारा दिए गए संदेशों और सिद्धांतों की तख्तीयां लेकर सम्मिलित हुई। महिला परिषद्, नवकार सेवा संस्थान आदि से जुड़ी श्राविकाएं जैन ध्वज लेकर शामिल हुई। सकल जैन समाज के पुरूष वर्ग ने एक जैसी वेशभूषा में उत्साहपूर्वक भाग लिया। विशेष रथ (बग्घी) पर प्रभु की प्रतिमा विराजमान की गई। जिसमें रथ पर प्रभु प्रतिमा लेकर चलने का लाभ श्रावक रत्न धर्मचन्द मेहता ने लिया। रथ में सारथी के रूप में रूप में गं्रथ संचित बाबेल एवं प्रभु प्रतिमा के दोनो ओर चंवर दीर्घ एवं शिवम संघवी ने ढुलाया। रथ को खींचकर युवाजन महावीर स्वामीजी के जयघोष ‘‘त्रिशला नंदन वीरजी ... जय बोलो महावीर की ..., महावीर स्वामीजी का सिद्धांत जियो और जिने दो ... के जयघोष लगाते हुए चले। इसके पीछे साध्वी केवल्य प्रिया श्रीजी मसा आदि ठाणा के साथ सकल श्री संघ की श्राविकाएं बड़ी संख्या में चली। प्रभु की तस्वीर के सम्मुख समाजजनों द्वारा जगह-जगह गहूली कर दर्शन लाभ लिया गया। यह शोभायात्रा शहर के रूनवाल बाजार, थांदला गेट, बाबेल चौराहा, आजाद चौक, नेहरू मार्ग, राजवाड़ा, लक्ष्मीबाई मार्ग होते हुए पुनः समापन बावन जिनालय पर हुआ।


चैत्यवंदन कर मंगलाचरण फरमाया

बावन जिनालय के पोषध शाला भवन मे धर्म सभा हुई। जिसमें सर्वप्रथम श्राविकाओं ने गुरु वंदन किया। तीनो समाज के अध्यक्ष मनोहर भंडारी, प्रदीप रुनवाल , पंकज कोठारी ने प्रभु महावीर स्वामीजी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया और स्वागत उद्बोधन दिया। बाद पूज्य साध्वी श्री ने प्रभु प्रतिमा के समक्ष चेत्य वंदना करवाकर सभी को मंगलाचरण श्रवण करवाया। इस अवसर पर सध्वीश्री केवल्य प्रिया श्रीजी ने कहा कि प्रत्येक मनुष्य को भगवान महावीर स्वामीजी के मूल सिद्धांत ‘‘जीओ और जीने दो’’ को जीवन में अंगीकार करन को प्रयास करना करना चाहिए। जीवों को अभयदान देकर हम सच्चे महावीर के अनुयायी बन सकते है। प्रभु महावीर ने साढ़े 12 वर्षों तक उग्र तपस्या कर दिव्य ज्योति को प्राप्त किया था और समस्त संसार के जीवों के कल्याण के लिए जीनवाणी प्रवाहित की थी। उन्हांेने मानवता का पाठ हमे सिखाया।


मावन सेवा एवं जीव सेवा के करे कार्य

उन्होंने बताया की संसार एक चक्र है। जिसमें हम चक्र के समान घूम रहे है, जबकि हमे संसार चक्र को छोड़कर मोक्ष मार्ग पकड़ना है। आज के दिन अधिक से अधिक सामायिक कर जीवों को अभयदान दे। मूक पशुओ के लिए भी कुछ कार्य करे। सभा के पश्चात प्रभु की आरती हस्तीमल जयेश संघवी परिवार ने उतारी। कार्यक्रम का संचालन श्वेतांबर जैन श्री संघ प्रवक्ता डॉ प्रदीप संघवी ने किया एवं आभार सचिव अनिल रुनवाल ने माना। प्रवचन बाद सकल जैन समाज के साधर्मी वात्सल्य का आयोजन हुआ।


पार्श्वनाथ पंच कल्याण पूजन पढ़ाई गई

दोपहर करीब 1 बजे महिला परिषद् एवं महिला मंडल द्वारा श्री महावीर स्वामीजी की पार्श्वनाथ पंच कल्याणक पूजन का आयोजन किया गया। 2 बजे से साध्वी केवल्य प्रिया श्रीजी आदि ठाणा द्वारा महावीर स्वामीजी के जीवन पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता एवं धर्म चर्चा तथा शाम 7 बजे मंदिर पर दीप सज्जा बाद भक्ति कार्यक्रम भी रखा गया। महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव होने से शहर के पांचों जिनालय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय, श्री नाकोड़ा पार्श्वनाथ मंदिर, दादावाड़ी गणधर मंदिर, दिलीप गेट स्थित महावीर बाग, कृषि उपज मंडी स्थित श्री गौड़ी पार्श्वनाथ मंदिर मंें दिनभर समाजजनों और प्रभु भक्तों की भीड़ दर्शन-पूजन के लिए लगी रहीं। इस दिन जिनालयों में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम भी संपन्न हुए।


“मृतक रामचन्द्र की जघन्य हत्या करने वाले आरोपियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही”


jhabua news
झाबुआ । घटना दिनांक 18.03.2022 को पप्पू मेड़ा की मौत माही नदी में डूबने से हो गई थी। मृतक पप्पू मेड़ा के शव का विधिवत पोस्टमार्टम कराया गया था। पीएम में डॉक्टर के द्वारा मृतक पप्पू की मृत्यु पानी में डूबने से होना लेख किया गया था। परंतु फिर भी पप्पू मेड़ा का परिवार उसकी मौत का कारण रामचंद्र पिता मांगू ताड, उम्र 40 वर्ष निवासी छायनपूर्व को मानते थे। जिसके कारण रामचंद्र बड़नगर मजदूरी करने चला गया।  दिनांक 12.04.2022 को रामचंद्र बड़नगर से सारंगी होकर अपने घर आ रहा था, जिसे रास्ते में पप्पू मेड़ा के घर के पास उसके परिवार वालों ने रोक दिया और रामचंद्र के दोनों हाथ व कमर को रस्सी से बांध दिया। उसके बाद रामा, सुरेश, शारदा, राधेश्याम, बालुबाई व एक बाल अपचारी सभी ने एक मत होकर जान से मारने की नियत से रामचंद्र को लकड़ियों से मारपीट की। जिसके कारण रामचंद्र के शरीर पर व सीर पर आई गंभीर चोटों के कारण उसकी मृत्यु हो गई। जिस पर थाना पेटलावद में अपराध क्रं. 275ध्2022 धारा 341, 147, 148, 149, 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 


घटना का खुलासा:- 

मृतक रामचंद्र जो कि गांव का कोटवार था, उसको पेड़ पर रस्सी से बांधकर पीट-पीटकर क्रूरतम हत्या करने वाले आरोपियों के उपर सख्त कार्यवाही करना बहुत जरूरी था। उक्त मामला पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता के संज्ञान में आते ही एसडीओपी सुश्री सोनु डावर के नेतृत्व में थाना प्रभारी पेटलावद एवं चौकी प्रभारी सारंगी को उक्त् घटना को अंजाम देने वाले सभी आरोपियों के उपर कठोरतम कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।  जिस पर पुलिस टीम द्वारा विभिन्न् टीमें बनाकर आरोपियों के घर पर एवं परिचितों के यहां पर दबिशे दी गई। लगातार दी गई दबिशों के कारण ही मुखबीर सूचना पर आरोपी सुरेश, शारदा एवं एक बाल अपचारी को पुलिस गिरफ्त में लिया गया। घटना के बाद से ही आरोपी रामा, राधेश्याम एवं बालुबाई फरार चल रहे है, जिन्हे भी जल्द ही गिरफ्तार किया जावेगा। इन अपराधियों द्वारा शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर रखा था। जिस पर सख्त कार्यवाही करते हुए इनके घरों को भी आज दिनांक 14.04.2022 को प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा ध्वस्त किया गया।  आरोपि सुरेश पिता पप्पू मेड़ा उम्र 21 वर्ष निवासी छायन पूर्व (गिरफ्तार) शारदा पति पप्पू मेड़ा उम्र 38 वर्ष निवासी छायन पूर्व (गिरफ्तार) रामा पिता गोबा मेड़ा निवासी छायन पूर्व (फरार) राधेश्याम पिता रामा मेड़ा निवासी छायन पूर्व (फरार) बालुबाई पति रामा मेड़ा निवासी छायन पूर्व (फरार)एक बाल अपचारी (गिरफ्तार) संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में एसडीओपी सुश्री सोनु डावर, निरी. सुरेन्द्र सिंह गाडरिया, चौकी प्रभारी सारंगी उनि नरेन्द्र सिंह राठौर, उनि लक्ष्मणसिंह सिसोदिया, उनि रामेश्वर गामड़, उनि निलीमा शर्मा, सउनि विरेन्द्र सिंह चौहान, प्रआर. 293 दिनेश, आर. 57 अनिल, आर. 368 संजय, आर. 893 दंगल, 589 ज्ञानचंद सैनिक मंजीत का सराहनीय योगदान रहा। उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

    

भारतीय संविधान के निर्माता भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती पर कलेक्टर ने माल्यार्पण कर प्रतिमा को नमन किया                        


झाबुआ । आज प्रातः कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने  भारतीय संविधान के निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब  डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती पर डॉ. भीमराव अंबेडकर गार्डन  झाबुआ में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया !  इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री जे एस बघेल , सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग श्री प्रशांत आर्य ,अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल. एन. गर्ग ,मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल. एस. डोडिया एवं अन्य जिला अधिकारी एवं कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

                                      

रेत का अवैध परिवहन करते 3 वाहन जब्त

 

jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर महोदय झाबुआ के आदेश  एवं खनि अधिकारी ’धर्मेंद्र चौहान’ के निर्देश व मार्गदर्शन में जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन,परिवहन की रोकथाम हेतु खनिज विभाग के दल द्वारा आज सुबह 5 बजे से जिले की राणापुर और पारा में विभिन्न क्षेत्रों का आकस्मिक निरीक्षण कर खनिज परिवहन में संलिप्त वाहनों की जांच की गई ।जांच मे अधिकांश वाहनों में खनिज परिवहन हेतु अभिवहन पारपत्र (रॉयल्टी) होना पाया गया। खनिज दल को जांच के दौरान खनिज रेत से भरा डंपर  क्रमांक डच्09 भ् 1362  बगैर  रॉयल्टी के पाए जाने पर जप्त कर थाना झाबुआ की अभिरक्षा में दिया गया है। इसी प्रकार राणापुर में रेत का अवैध परिवहन कर रहे बिना नंबर की दो ट्रैक्टर ट्राली को जप्त कर थाना राणापुर की अभिरक्षा में दिया गया है।इन जब्तशुदा वाहनो पर ’मध्य प्रदेश (अवैध खनन, परिवहन और भंडारण)  नियम 2022’ के प्रावधानों के तहत अर्थदंड वसूली की  कार्यवाही की जावेगी। इस कार्यवाही में खनिज निरीक्षक श्री शंकर कनेश और होमगार्ड के जवान सम्मिलित रहे। माफियाओं के विरुद्ध इस तरह की कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी !                          


कलेक्टर ने प्रधानमंत्री आवास योजना ( शहरी ) का जायजा  लिया 


झाबुआ ।  आज कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा झाबुआ नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड नंबर - 8 गांधी आश्रम बस्ती में पहुंचे एवं वार्ड वासियों से रूबरू चर्चा की और यहां पर प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के आवासों का जायजा लिया ! हितग्राहियों से  चर्चा कीहितग्राहियों द्वारा बताया द्वारा  कि हमें आगामी किस्त प्राप्त नहीं हुई है !  कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देश दिए गए कि  तत्काल आगामी किस्त दी जाए! सीएमओ नगर पालिका द्वारा बताया गया है कि  इस सप्ताह में उनकी किस्त जारी कर दी जाएगी उनके खाते में आ जाएगी ! वार्डवासियों ने यहां पर बिजली की समस्या  और पानी के समस्याओं से कलेक्टर महोदय को अवगत कराया !कलेक्टर महोदय द्वारा तत्काल निराकरण किए जाने के निर्देश दिए! कलेक्टर महोदय द्वारा इस वार्ड में सफाई ठीक पाए जाने पर वार्डवासियों को बधाई दी ! कलेक्टर महोदय द्वारा यहां पर वार्ड वासियों के बच्चों  एवं आंगनवाड़ी में उपस्थित  बच्चों  को टॉफी ,केले, मिठाई भी वितरित की ! इस दौरान जनजाति कार्य विभाग के सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्य ,अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री एल एन गर्ग मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल  एस डोडिया अन्य अधिकारी उपस्थित थे !

कोई टिप्पणी नहीं: