गरीबों, शोषितों और वंचितों की देखभाल कर रही मोदी सरकार : शाह - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 24 अप्रैल 2022

गरीबों, शोषितों और वंचितों की देखभाल कर रही मोदी सरकार : शाह

modi-governmen-working-for-poor-ami-shah
आरा 23 अप्रैल, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महान योद्धा वीर कुंवर सिंह की गरीबों, किसानों, उत्पीड़ित और समाज के वंचित वर्गों के प्रति प्रतिबद्धता का स्मरण कराते हुए आज कहा कि उनके ही सामाजिक न्याय के सिद्धांत का पालन करते हुए केंद्र की मोदी सरकार भी सभी वर्गों का देखभाल कर रही है। श्री शाह 1857 की क्रांति के महान योद्धा वीर कुंवर सिंह के विजयोत्सव (विजय समारोह) के उपलक्ष्य में भोजपुर जिले में जगदीशपुर के दुलौर में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि अपनी वीरता से कुंवर सिंह ने ब्रिटिश शासन को पहली बार यह अहसास कराया था कि अब भारतीय उन्हें बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं हैं और उन्हें देश छोड़ना होगा। उन्होंने कहा कि लोग महान योद्धा के योगदान से अच्छी तरह वाकिफ हैं और नई पीढ़ी को उनके बलिदान से प्रेरणा लेनी चाहिए। यह विश्वास करना आसान नहीं था कि 80 वर्ष की आयु में वीर कुंवर सिंह में मजबूत ब्रिटिश सेना को हराने की ताकत और साहस था। गृहमंत्री ने कहा कि देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में जगदीशपुर के जमींदार बाबू कुंवर सिंह समेत अन्य लोगों ने अपना सर्वस्व बलिदान कर दिया लेकिन इतिहासकारों ने उन वीर सपूतों को उचित सम्मान नहीं दिया। आज भोजपुर के लोगों ने बाबू कुंवर सिंह के विजयोत्सव के मौके पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर नया इतिहास रच दिया। उन्होंने कहा, 1857 के विद्रोह को इतिहासकारों ने विफल विद्रोह करार दिया था जबकि उस समय बाबू कुंवर सिंह, नाना साहेब, तात्या टोपे, रानी लक्ष्मीबाई आदि ने अंग्रेजी हुकूमत की नींव हिला दी थी। कुंवर सिंह ने आरा तथा आसपास के दूसरे प्रदेशो में भी अंग्रेजों को बेदम कर दिया था। उन्होंने उसी समय अंग्रेजों को कह दिया था कि आप ज्यादा दिन तक भारत पर राज नहीं कर सकते हैं।” गृह मंत्री ने कहा कि वीर कुंवर सिंह गरीब और शोषित सहित समाज के सभी वर्गों की देखभाल के लिए भी प्रतिबद्ध थे। उनका जीवन ऐसे कई उदाहरणों से भरा पड़ा है, जो बताता है कि महान योद्धा समाज के सभी वर्गों को सम्मान देने के लिए कितने प्रतिबद्ध थे। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार भी वीर कुंवर सिंह के सामाजिक न्याय के सिद्धांत का पालन कर रही है और गरीबों, किसानों, शोषितों एवं वंचितों के कल्याण के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। देश की 130 करोड़ आबादी को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए वैक्सीन की दो मुफ्त खुराक भी दी गई। कोरोना महामारी के दौरान 60 करोड़ गरीबों को दो साल तक औसतन पांच किलोग्राम प्रति व्यक्ति प्रति माह मुफ्त राशन दिया गया। इसी तरह प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत अलग-अलग बीमारियों के इलाज के लिए देश भर में गरीबों को पांच लाख रुपये का बीमा कवर दिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: