सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 15 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 अप्रैल 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 15 अप्रैल

अध्यापकों ने टाउन हाल के पास किया धरना देकर प्रदर्शन, रैली निकालकर दिया14 सूत्रीय मांगों का मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन

  • आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिया आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने समर्थन

sehore news
सीहोर। अध्यापकों ने टाउन हाल के पास शुक्रवार धरना देकर प्रदर्शन किया। आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने समर्थन दिया। टाउन हाल से कलेक्ट्रेट तक रैली निकालकर 14 सूत्रीय मांगों का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम का ज्ञापन आजाद अध्यापक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष शिवनारायण गौर के नेतृत्व में नायब तहसीलदार सैफाली जैन को दिया। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष शिवनारायण गौर ने कहा की अध्यक्ष शिक्षक संवर्ग को भी एन.पी.एस. न्यू अंशदाई प्रेशन के स्थान पर पुराने शिक्षक संवर्ग की भांति ओ.पी.एस. पुरानी पेंशन लागू किए जाने, विगत वर्षो में दिवंगत अध्यापक शिक्षक संवर्ग के आश्रित परिवार के सदस्यों को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान  किए जाने, वर्ष 2006, 2007, 2008, 2009 में नियुक्त अध्यापक शिक्षक की प्रथम क्रमोन्नत वेतनमान  समयमान वेतनमान एवं 1998 और 2001 में नियुक्त अध्यापक शिक्षक संवर्ग के द्वितीय क्रमोन्नत वेतनमान समयमान वेतनमान के आदेश जारी किए जावे, गुरुजी संवर्ग के अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी शिक्षा गारंटी शाला से शासकीय प्राथमिक शाला में उन्नयन दिनांक से वरिष्ठता का लाभ प्रदान किया जाने,समस्त शासकीय कर्मचारियों की प्रतिवर्ष 1 अप्रैल की स्थिति में समस्त विभागों और नियुक्तिकर्ता अधिकारियों द्वारा अपने कर्मचारियों की आपसी वरिष्ठता जारी की जाती है लेकिन विगत तीन वर्षो से अध्यापक शिक्षक संवर्ग के कर्मचारियों की उनके अधिकतर नियुक्तिकर्ता अधिकारियों द्वारा आपसी वरिष्ठता सूची का प्रकाशन नहीं किया जाता है जिसे अविलंब प्रकाशित करवाकर अध्यापक शिक्षक संवर्ग की उच्च व्यमिक शिक्षक की प्राचार्य पद पर माध्यमिक शिक्षक की उच्च माध्यमिक शिक्षक पद और प्राथमिक शिक्षक की माध्यमिक शिक्षक पद पर पदोन्नति की जाने, और 45 वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशे लागू की जाने, जब तक शासकीय कर्मचारी नहीं बनाया जाता तब तक न्यूनतम वेतन दिया जाये। ऑनबाड़ी कार्यकर्ता व मिनी कार्यकर्ता को 30 हजार रु. प्रतिमाह एवं सहायिका को 20 हजार प्रतिमाह दिये जाने, विगत वर्षों में सेवानिवृत्त होने वाले अध्यापक शिक्षक संवर्ग को 500 से 2500रू. मासिक पेंशन के स्थान पर पुरानी पेंशन के अनुसार मासिक पेंशन भुगतान की जाने  सहित दिवंगत और सेवानिवृत्ता होने वाले अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी ग्रेच्युटी का लाभ दिया जाने, के साथ अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी ग्रीनकार्ड की वेतनवृद्धि का लाभ दिया जाने, वहीं  2006 या उसके बाद नियुक्त अध्यापक शिक्षक संवगज़् की वेतन विसंगति में सुधार किया जाने, 1 जुलाई 2018 से नवीन शिक्षक संवर्ग शामिल होने से वंचित शेष सभी अध्यापक संवर्ग, संविदा शिक्षक संवगज़् और गुरुजी संवर्ग को विभागीय जानकारी लेकर नवीन शिक्षक संवर्ग में शामिल किया जाने. उज्जैन संभाग के जिलो में अनेक संकुलो में 50 प्रतिशत वेतन वृद्धि तथा सातवे वेतन अंतर राशि की द्वितीय किश्त का भुगतान नहीं हुआ है जिसका तत्काल भुगतान किए जाने की मांग की गई है। प्रदर्शन में संतोष कुमार जोशी गुरुप्रसाद जामलिया प्रेम नारायण राजेश कुमार सेन रमेश कुमार वमाज़् अजब सिंह वमाज़् राजकुमार धाना पुरुषोत्तम शमाज़् ज्ञान सिंह ठाकुर आजाद सिंह मेवाडा कल्याण सिंह ठाकुर विनोद प्रजापति अजुज़्न सिंह ठाकुर रचना वमाज़् लाल सिंह सोलंकी भगवत सिंह मेवाडा प्रकाश राठोर रमेशचंद्र कॉल मी राजेश मीणा भानु प्रताप सिंह कैलाश चंद्र वमाज़् मुकेश सेन कपिल विश्व पिया लखनलाल महेश्वरी हेमंत विश्वकमाज़् आरती वमाज़् इंदर सिंह ठाकुर आदि अध्यापक शामिल रहे।


आज किया जाएगा महाआरती के पश्चात महाप्रसादी का वितरण, कर्मों के अनुसार फल देने को विवश होते है भगवान-108 श्री उद्धव दास महाराज


sehore news
सीहोर। मनुष्य के कर्म उसके जीवन की दिशा निर्धारित करते हैं। अच्छे कर्मों का फल भी अच्छा होता है। वहीं बुरे कर्मों का परिणाम भी बुरा होता है। कर्म फल एक अति सूक्ष्म, गहन एवं दुर्गम विषय है। हमारे ॠषियों ने वेद और वेदों से संबंधित आर्ष ग्रन्थों के आधार पर कर्म फल के कुछ सिद्धांत स्थापित करने के प्रयास किए हैं। जिज्ञासु जनों की शंकाओं का समाधान पूर्णतया नहीं हो सकता। जीव अल्पज्ञ है और पूर्ण ज्ञानी भी नहीं है। केवल ईश्वर ही सर्वज्ञ है और पूर्ण ज्ञानी है। वही जानता है कि जीवों को उनके कर्मों का फल कब, कैसे, कहाँ और किस रूप में देना है। उक्त विचार शहर के चाणक्यपुरी स्थित पशुपतिनाथ मंदिर पर जारी नौ दिवसीय संगीतमय श्रीराम कथा में 108 श्री उद्धव दास महाराज ने कहे। कथा के दौरान केवट प्रसंग सुनने के लिए श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ पड़ी थी। उन्होंने बताया कि भगवान रामचंद्र ने अपने साथ आए मंत्री सुमंत को समझाकर रथ लेकर वापस राजा दशरथ के पास जाने के लिए रवाना किया। उसके बाद सीता, लक्ष्मण व निषादराज के साथ गंगा तट पर आए। केवट को गंगा पार जाने के लिए नाव लाने को कहा तो केवट ने लाने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि हे नाथ मैं चरणकमल धोकर ही आपलोगों को नाव में चढ़ाऊंगा। फिर प्रभु की आज्ञा पाकर उसने एक लकड़ी के कठौते में पानी लाकर प्रभु के चरण कमलों को धोकर उस जल को पूरे परिवार को पी लिया। इसके बाद अपने पितरों को भवसागर से पार कराकर प्रभु को गंगा पार कराया। केवट को प्रभु राम उतराई में रत्नजड़ित अंगूठी देने लगे तो केवट ने नाव पार कराई नहीं ली। केवट ने कहा कि लौटते समय आप मुझे जो देंगे, उसे प्रसाद समझकर मैं सिर चढ़ाकर लूंगा। इसके बाद सीता ने गंगा मइया से आशीर्वाद लिया व प्रभु ने गणेश और शिव का स्मरण कर गंगा को शिश झुकाकर सखा निषादराज, लक्ष्मण व सीता के साथ वन के लिए चले। रामकथा में प्रभु को केवट से गंगा पार कराने का संवाद सुंदर शब्दों में वर्णन किया, जिससे सभी श्रद्धालु आनंदित हुए।


आज किया जाएगा महाप्रसादी का वितरण

समिति के मीडिया प्रभारी आनंद अग्रवाल ने बताया कि शहर के चाणक्यपुरी पर श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर समिति के तत्वाधान में जारी नौ दिवसीय श्रीराम कथा के पश्चात शनिवार की शाम को महा आरती और महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा। समिति के अध्यक्ष आनर सिंह चौहान, कार्यक्रम समिति के अध्यक्ष अमित नीखरा आदि ने क्षेत्रवासियों से शामिल होने की अपील की है। 


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने किया दोराहा स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र का निरीक्षण


लोक स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने दोराहा के सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र का औचक निरीक्षण किया।  इस दौरान उन्‍होंने भर्ती मरीजो से स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र में मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ली।  स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. चौधरी ने स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र में उपलब्‍ध दवाईंयों एवं टीकाकरण के संबंध में जानकारी लेते हुए अधिकारियों को भर्ती मरीजों के त्‍वरित एवं बेहतर इलाज के निर्देश दिए।


प्रभारी मंत्री डॉ. चौधरी ने दोराहा में नवनिर्मित थाना भवन का लोकार्पण किया


sehor news
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉक्टर प्रभु राम चौधरी ने कहा कि इस नवनिर्मित थाना भवन से पुलिस का कार्य संपादन सुविधाजनक और व्यवस्थित होगा। इसके साथ ही यहां आने वाले लोगों को भी बेहतर सेवाएं मिलेंगी।  प्रभारी मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि पुलिस विभाग उन विभागों में से है जो 24 घंटे सतत काम करता है और पूरी मुस्तैदी के साथ देशभक्ति और जन सेवा के दायित्व का निर्वहन करता है। उन्होंने कहा कि पुलिस की कार्य प्रकृति को दृष्टिगत रखते हुए नए व्यवस्थित थाना भवनों की आवश्यकता है और प्रदेश में व्यवस्थित एवं सुसज्जित थाना भवनों का निर्माण हो रहा है। प्रभारी मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि देश प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हर क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर रहा है। प्रभारी मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश तेजी से विकास कर रहा है और देश में विकास के मामले में प्रदेश ने अग्रणी राज्यों में अपनी छवि बनाई है। इस थाना भवन निर्माण के लिए एक करोड़ तीन  लाख रुपये बजट की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई थी, लेकिन यह भवन 95 लाख रुपए में ही बनकर तैयार हो गया। इसके लिए उन्होंने पुलिस हाउसिंग बोर्ड के इंजीनियर की सराहना की। इस अवसर पर विधायक श्री सुदेश राय, आईजी श्री इरशाद वली, कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर तथा एसपी श्री मयंक अवस्थी सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं पुलिस के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।


निजी चिकित्‍सालय का शुभारंभ


स्‍कूल शिक्षा मंत्री श्री इन्‍दर सिंह परमार ने नगर के गंगा आश्रम स्थित निजी चिकित्‍सालय का शुभारंभ किया। इस अवसर पर विधायक श्री सुदेश राय सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: