बिहार : सुशील कुमार मोदी ने कहा यह थेथरोलॉजी ही है - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 अप्रैल 2022

बिहार : सुशील कुमार मोदी ने कहा यह थेथरोलॉजी ही है

  • बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री  सांसद सुशील कुमार मोदी ने समान सिविल कोड को लागू करने की मांग की

sushil-kumar-modi
पटना. बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने साथ-साथ काम करके बिहार को तरक्की के मार्ग पर अग्रसर करने का प्रयास किया है.अब दोनों का साथ छूट गया है. सुशील कुमार मोदी राज्य सभा के सांसद बन गये हैं.बिहार में विधानसभा में बीजेपी संख्या बल में राजद और जदयू से आगे है. इस बल पर बीजेपी के कुछ नेता सत्ता परिवर्तन करने के मूड में है.इसको लेकर सांसद सुशील कुमार मोदी गुस्से में है. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सांसद सुशील कुमार मोदी कहते हैं कि जब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि बिहार में एनडीए सरकार नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही कार्यकाल पूरा करेगी, तब भी यह झूठ फैलाते रहना थेथरोलॉजी ही है कि भाजपा बीच में ही अपना मुख्यमंत्री बनवाना चाहती है. ऐसे में वे नीतीश कुमार के पद से हटने की तरह-तरह की बेतुकी अटकलों को हवा देकर सिर्फ राजनीतिक अस्थिरता पैदा करना चाहते हैं.बिहार विधानसभा का 2020 का चुनाव एनडीए ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्य मंत्री नीतीश कुमार के चेहरे पर वोट मांगते हुए लड़ा था. लोगों ने इस पर भरोसा किया. उन्होंने जोर देकर कहा कि जब बिहार विधानसभा का 2020 का चुनाव एनडीए ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्य मंत्री नीतीश कुमार के चेहरे पर वोट मांगते हुए लड़ा था.लोगों ने इस पर भरोसा किया.इस समय  विपक्ष के पास नीतीश सरकार के विरुद्ध न कोई ठोस मुद्दा है, न सदन में संख्या बल है और न लालू-राबड़ी राज की विफलताओं के कारण  उनके पास आलोचना का कोई नैतिक बल ही है. ऐसे में वे नीतीश कुमार के पद से हटने की तरह-तरह की बेतुकी अटकलों को हवा देकर सिर्फ राजनीतिक अस्थिरता पैदा करना चाहते हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: