समस्तीपुर : महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को वह बखूबी निभा रहे हैं विकास वैभव - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अप्रैल 2022

समस्तीपुर : महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को वह बखूबी निभा रहे हैं विकास वैभव

vikash-vaibhav
समस्तीपुर. भारत विरासत ओलंपियाड पुरस्कार 2022 संपन्न.2003 बैच के बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी विकास वैभव हैं.इन दिनों बिहार में लेट्स इंस्पायर बिहार मुहिम चला रहे हैं. इसके तहत वह बिहार के युवाओं की सोच बदलने और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए काम कर रहे हैं.वर्तमान में बिहार सरकार के गृह विभाग में विशेष सचिव के पद पर हैं.राज्य सरकार की दी गई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को वह बखूबी निभा रहे हैं. वे परिवार को भी समय दे रहे हैं. पश्चिम चंपारण के बेतिया मूल की आयरिन ओस्ता समस्तीपुर में रहती हैं.यहां पर संत पीटर नामक स्कूल चलाती हैं.यहां पर दीनबंधु ट्रस्ट संचालित है.ट्रस्ट का सचिव ने भारत विरासत ओलंपियाड पुरस्कार 2022 का पुरस्कार वितरण समारोह में एंकरिंग करने का दायित्व आयरिन ओस्ता को सौंपा था.जिसे बखूबी आयरिन ने निभाई. एंकरिंग करने वाली आयरिन ओस्ता ने कहा कि बिहार सरकार के गृह विभाग में विशेष सचिव के पद पर कार्यशील आईपीएस विकास वैभव जी बतौर मुख्य अतिथि के रूप में आये थे.उनके कुशल नेतृत्व में युवाओं को मार्गदर्शन देने का कार्यक्रम संचालित है.इस अवसर पर बिहार के ओलंपियाड पुरस्कार 2022 के युवाओं को पुरस्कार दिया गया. मौके पर एंकरिंग का दायित्व बखूबी निभाने वाली आयरिन ओस्ता को सम्मानित किया गया. बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी विकास वैभव के करकमलों से युवाओं को सम्मानित किया गया. मौके पर सम्मानित होने के बाद आयरिन ओस्ता ने कहा कि एक सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार समारोह का हिस्सा बनना एक सम्मान की बात थी.एंकरिंग का दायित्व  युवाओं को प्रेरित करें.बिहार के युवाओं के लिए यह अद्भुत अवसर था.मौके पर सभी लोगों को अवसर लाने के लिए धन्यवाद! आईपीएस विकास वैभव और अन्य गणमान्य व्यक्तियों को भी धन्यवाद.इन महानुभावों ने अपनी कीमती वक्त दिये.वहीं दीनबंधु ट्रस्ट के लिए बिहार के उत्थान के लिए काम करने का उनका अद्भुत उत्साह वाला दिन साबित हुआ.

कोई टिप्पणी नहीं: