बिहार : प्रत्येक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर होंगे 25 योग के सत्र : मंगल पांडेय - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 अप्रैल 2022

बिहार : प्रत्येक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर होंगे 25 योग के सत्र : मंगल पांडेय

yoga-camp-on-health-center
पटना : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए योग की भूमिका महत्वपूर्ण है। विश्व स्तर पर भी योग के प्रति लोगों का रूझान बढ़ा है। स्वास्थ्य विभाग शहरी क्षेत्रों के अलावे ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को फिट रखने और योग को बढ़ावा देने के लिए हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर पिछले 13 मार्च से योगा सत्र संचालित कर रहा है। इस सत्र में लोगों को स्वस्थ जीवन जीने के टिप्स दिये जा रहे हैं, ताकि उनका स्वास्थ्य बेहतर रह सके। पांडेय ने कहा कि प्रत्येक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर 13 मार्च से लेकर 21 जून (यानी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस) तक की अवधि के दौरान कम से कम 25 योग के सत्र होंगे। यह सत्र हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित स्वास्थ्य उपकेन्द्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में संचालित किए जा रहे हैं। विकसित हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर 14 अप्रैल यानी हेल्थ एंड वेलनेस दिवस के मौके पर योग सत्र का अवश्य आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा 18 अप्रैल से आयोजित होने वाले प्रखंड स्तरीय स्वास्थ्य मेले के दौरान भी योग सत्र का संचालन किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कियोग की महत्ता कोविड संक्रमण काल में भी काफ़ी उभर कर आई। चिकित्सा विज्ञान के विशेषज्ञों ने भी योग को कोविड प्रबंधन में काफ़ी कारगर माना। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर योग सत्र आयोजन करने के पीछे यह मंशा है कि जमीनी स्तर से जुड़े लोग भी इससे लाभान्वित हो सके। सामन्यतः जीवन शैली से जुड़े कई असाध्य रोगों को नियमित तौर पर योग के माध्यम से रोका जा सकता है। स्वयं के साथ अपने परिवार को निरोगी रखने के लिए सभी को योग से जुड़ने की जरूरत है।

कोई टिप्पणी नहीं: