बिहार : PMCH के अधीक्षक व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इस्तीफे की मांग - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 8 मई 2022

बिहार : PMCH के अधीक्षक व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इस्तीफे की मांग

  • * जीएनएम के छात्रों पर लाठीचार्ज के ऊपर हुए लाठीचार्ज के खिलाफ आइसा , ऐपवा ने विरोध प्रदर्शन करके पीएमसीएच गेट पर सभा की
  • * दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग
  • * पीएमसीएच के अधीक्षक व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इस्तीफे की मांग

demand-mangal-pandey-resignaion
पटना. पटना के PMCH की GNM नर्सों पर कल हुए लाठीचार्ज के विरोध में AIPWA-AISA-RYA ने PMCH में मार्च निकालकर मेन गेट पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का पुतला दहन किया गया .इन संगठनों ने नर्सिंग छात्रों पर हुई लाठी चार्ज की कड़ी निंदा करते हुए दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग के साथ ही GNM नर्सों को इंसाफ देने की भी मांग की.शुक्रवार 6 मई को पीएमसीएच में जीएनएम नर्सिंग छात्राओं पर पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया. पुलिस ने लाठीचार्ज के द्वारा छात्राओं को पीएमसीएच परिषद से खदेड़ दिया. छात्राएं अपनी विभिन्न विभिन्न मांगों को लेकर पटना मेडिकल कॉलेज के सुपरिटेंडेंट के कार्यालय के बाहर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठी थी जिसे हटाने के लिए पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए जमकर लाठीचार्ज किया था. कल शुक्रवार को जीएनएम नर्स पर बर्बर लाठीचार्ज किया गया था.आज शनिवार को लाठीचार्ज के विरोध में पूरे पीएमसीएच में जुलूस निकाला गया. इस बीच सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय का पुतला जलाया गया. जुलूस का नेतृत्व आरवाईए के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह अगियांव के विधायक मनोज मंजिल, आइसा   महासचिव सह पालीगंज विधायक  संदीप सौरभ, ऐपवा  की राज्य अध्यक्ष सरोज चौबे, राज्य सचिव शशि यादव ,नगर सचिव अनीता सिन्हा, आसमां खातून, आइसा नेता कुमार दिव्यम, विकास यादव आदि ने किया. विरोध सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि नर्सिंग छात्राओं की जायज मांगों को मानने व सुनने की बजाए पुरुष पुलिस द्वारा बर्बर लाठीचार्ज किया गया. उनका सामान फेंक दिया गया. उन्हें रात भर लोकल थाने में बैठा कर रखा गया.आगे उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले मुख्यमंत्री इस विषय पर चुप्पी साधे हुए हैं. छात्राओं को वैशाली के राजापाकड़ में भेज दिया गया है. जबकि उनकी मांग है कि उन्हें पटना में ही 5 किलोमीटर के रिम्स में आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाए. नेताओं ने मांग की है कि नर्सों को पटना में ही , पांच किलोमीटर के अन्दर हो.दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया जाए.स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय व  स्वास्थ्य अधीक्षक इस्तीफा दें.

कोई टिप्पणी नहीं: