मधुबनी : भ्रष्टाचार को लेकर प्रशासन की जीरो टॉलरेंस नीति - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 8 मई 2022

मधुबनी : भ्रष्टाचार को लेकर प्रशासन की जीरो टॉलरेंस नीति

  • अपने आदेश के तहत भ्रस्टाचार संबंधी शिकायत के लिए जिलाधिकारी अमित कुमार ने जारी किये दूरभाष नंबर, 7366046664नंबर पर कर सकते है शिकायत,सही पाए जाने पर होगी त्वरित करवाई। 

corrupion-zero-olarance-nii
मधुबनी, जिला पदाधिकारी, अमित कुमार ने 7 मई 2022 को जारी अपने आदेश में  कहा है कि जिले के किसी भी सरकारी कार्यालय में सरकारी कार्य संपादन में भ्रष्टाचार/अनैतिक तरीके से राशि उगाही एवं इसमें किसी भी सरकारी कर्मी/बिचौलिए की संलिप्तता से जिला प्रशासन की छवि धूमिल होती है। अतः इस पर लगाम लगाने एवं सरकारी कार्य में बाधा डालने वालों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से जिला स्तरीय भ्रष्टाचार निरोधी दूरभाष संख्या    7366046664 जारी की गई है। इस मोबाइल नंबर को जिला गोपनीय प्रशाखा, मधुबनी के अनुशासनिक कोषांग * से जारी किया गया है* ।  उक्त दूरभाष संख्या पर जिले के किसी भी सरकारी कार्यालय में कार्य संपादन हेतु धनराशि/अन्य प्रलोभन के इस्तेमाल के बारे में साक्ष्य सहित शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। जिलाधिकारी ने अपने आदेश में कहा है कि इस दूरभाष संख्या पर किसी भी कार्यदिवस में (सरकारी अवकाश को छोड़कर) पूर्वाह्न 10 बजे से अपराह्न 08 बजे तक शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। इस कार्य के लिए जिला गोपनीय प्रशाखा के दो कर्मी शिफ्ट में प्रतिनियुक्ति किए गए हैं। सभी संबंधित कॉल के आवश्यक कार्य हेतु रिकॉर्डिंग के साथ साथ शिकायतों का नाम और पते के साथ पंजीकरण भी किया जाएगा। शिकायत की छानबीन कराई जाएगी एवं सही पाए जाने पर दोषी व्यक्ति पर नियमानुसार विधिसम्मत/ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।  जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन एवं भ्रष्टाचार निरोधी संकल्प को दृष्टिगत रखते हुए, जनसमस्याओं के प्रभावी निपटारे हेतु सार्वजनिक दूरभाष संख्या जारी की गई है। जिला प्रशासन भ्रस्टाचार को लेकर अपनी जीरो टॉलरेंस की नीति पर पूरी दृढ़ता के साथ कायम है।

कोई टिप्पणी नहीं: