मधुबनी : संजय झा ने सिंचाई परियोजनाओं एवम बाढ़ पूर्व तैयारियो का लिया जायजा। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 मई 2022

मधुबनी : संजय झा ने सिंचाई परियोजनाओं एवम बाढ़ पूर्व तैयारियो का लिया जायजा।

  • मधुबनी जिले के झंझारपुर में NH57 के किनारे निर्माणाधीन महत्वाकांक्षी मिथिला हाट और तालाब के सौंदर्यीकरण कार्य का विभागीय अधिकारियों के साथ स्थल निरीक्षण किया तथा कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

sanjay-jha-visi-madhubani
मधुबनी, जल संसाधन एवम सूचना एवम जनसम्पर्क विभाग,बिहार श्री संजय कुमार झा ने जिले में चल रही सिंचाई परियोजनाओं एवम बाढ़ पूर्व तैयारियो के आलोक में मधुबनी जिले में जल संसाधन विभाग की विभिन्न योजनाओं के स्थल निरीक्षण कर कार्य प्रगति का जायजा लिया। उन्होंने ग्राम- खोजपुर, प्रखंड- बाबूबरही में पश्चिमी कोसी मुख्य नहर पर निर्माणाधीन पुल का स्थल निरीक्षण किया।  गौरतलब हो कि मधुबनी जिले में पश्चिमी कोसी नहर परियोजना का काम जोरों पर है। माननीय मंत्री ने खोजपुर में नहर पर बन रहे पुलों का  निरीक्षण कर अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। निरीक्षण के क्रम में माननीय मंत्री ने कहा कि  2023 तक पश्चिमी कोसी नहर का काम पूरा हो जाएगा। पुल की लागत एक करोड़ 28 लाख है। निर्माण स्थल पर उपस्थित स्थानीय लोगो एवम जनप्रतिनिधियों ने बताया पुल बनने से इलाके के दर्जनों गांवों के लाखों लोगों को फायदा होगा ,साथ ही क्षेत्र की आर्थिक उन्नति में काफी सहायक सिद्ध होगी।बताते चले कि इलाके के लोगों के वर्षों की मांग पूरा होते देख लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है । क्षेत्र के लोगों ने माननीय मंत्री संजय झा के प्रयास से कोसी नदी पर बन रहे पुल के लिए धन्यवाद भी दिया है। मंत्री ने ग्राम- लक्ष्मीपुर, प्रखंड- लौकही, जिला- मधुबनी में विहुल नदी पर निर्माणाधीन गेटेड वीयर और इससे निःसृत होने वाली नहर प्रणाली के निर्माण कार्य का स्थल निरीक्षण किया। उन्होंने स्थल पर ही विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर योजना की प्रगति की समीक्षा की और नहर प्रणाली के निर्माण में आ रही भूअर्जन संबंधी एवं अन्य बाधाओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर करने के निर्देश दिये। इस वीयर की लंबाई 59.60  मीटर है। इससे नि:सृत बायीं नहर प्रणाली की कुल लंबाई 9.71 किलोमीटर, जबकि दायीं नहर प्रणाली की कुल लंबाई 4.30 किलोमीटर है। बायीं नहर प्रणाली में मुख्य बायीं नहर के अलावा स्कूल धाबी माइनर, ओल्ड धाबी माइनर, कुरीबन माइनर, चिकनी माइनर, मागनपट्टी माइनर और दायीं नहर प्रणाली में मुख्य दायीं नहर के अलावा सुंदरटोली हनुमान नगर माइनर, हनुमान नगर वाटर कोर्स शामिल है। इससे होने वाली सिंचाई का सकल कमांड क्षेत्र 2760 हेक्टेयर है।  इस कार्य से मधुबनी जिले में लौकही, फुलपरास और खुटौना प्रखंड अंतर्गत लक्ष्मीपुर, मनसापुर, नरहिया, धबई, बलुआ, टेंगरार, महथौर, हनुमान नगर, कुरीबन, मागनपट्टी, चिकनी साहपुर, नरहिया गोठ आदि गांवों के किसानों को सिंचाई सुविधा मिलेगी। साथ ही क्षेत्र में बाढ़ के प्रभाव को कम करने में मदद मिलेगी। माननीय मंत्री ने मधुबनी जिले के झंझारपुर में NH57 के नीचे अररिया संग्राम चौक अंडर पास में बरसात के दिनों में पानी जमा हो जाता है। इस समस्या के निदान के लिए आज अधिकारियों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ स्थल निरीक्षण किया और प्राथमिकता के आधार पर इसके समाधान के निर्देश दिए। उन्होंने मधुबनी जिले के झंझारपुर में NH57 के किनारे निर्माणाधीन महत्वाकांक्षी मिथिला हाट और तालाब के सौंदर्यीकरण कार्य का विभागीय अधिकारियों के साथ स्थल निरीक्षण किया तथा जरूरी निर्देश दिए। गौरतलब हो कि यह कार्य अब पूर्णता की ओर है।

कोई टिप्पणी नहीं: