सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 05 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 मई 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 05 मई

गौरव सन्नी महाजन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखा चार सूत्रीय मांगो को लेकर जनहित में पत्र

  • मोबाईल पर बिजली बिल और बिजली कटौती की जाए बंद गेंहू का समय सीमा में किया जाए किसानों को पूरा भुगतान

सीहोर। गौरव सन्नी महाजन ने नागरिकों के हित में गुरूवार को चार सूत्रीय मांग मुख्यमंत्री के समक्ष पत्र के माध्यम से रखी है। महाजन ने विघुत वितरण कंपनी के द्वारा मोबाईल पर शुरू की गई बिजली बिल देने की व्यवस्था और शहर सहित ग्रामीण अंचलों में की जा रही घोषित अघोषित बिजली कटौती को बंद करने सहित उपार्जन केंद्रों पर गेंहू विक्रय कर चुके किसानों को समय सीमा में भुगतान करने और सीहोर से श्यामपुर तक सीसी सड़क बनाए जाने की मांग मुख्यमंत्री से की है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में महाजन ने कहा की सैकड़ों लोगों के पास आधुनिक मोबाईल नहीं है। इस के बाद भी मध्य प्रदेश विघुत वितरण कंपनी के द्वारा शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली उपभोक्ताओं को मोबाईल पर बिजली बिल भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है जिस कारण अनेक लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कई बिजली उपभोक्तओं के मोबाईल नम्बर हीं विघुत कंपनी के पास पंजीकृत नहीं है तो वही अनेक उपभोक्ताओं के लेडलाईन नम्बर कार्यालय में दर्ज है जिस कारण उनको समय पर बिजली बिल नहीं मिलेंगे। इस व्यवस्था से आउटसोर्स कर्मचारियों की नौकरी भी खतरे में पड़ गई है कर्मचारियों का रोजगार समाप्त हो जाएगा। जनहित और आउटसोर्स कर्मचारियों के रोजगार को ध्यान में रखते हुए इस व्यवस्था को बंद कर पहले की तरह कर्मचारियों के माध्यम से बिजली बिल घर दुकानों पर भेजे जाए।


बिजली पर्याप्त तो कटौती क्यों की जा रही

महाजन ने कहा की उर्जा मंत्री प्रद्युम्म सिंह के अनुसार प्रदेश में कोयला भरपूर है और सौर्य उर्जा संयंत्रों से भी बिजली प्राप्त कि जा रही है बिजली की कोई कमी नहीं है तो फिर ग्रामीण अंचलोंं में आठ से दस घंटे तक बिजली कटौती क्यों की जा रही है। शहरी क्षेत्र में भी बिजली गुल हो रही है गर्मी का मौसम और शादी विवाह कथा भागवत यज्ञ कार्यक्रमों के चलते बिजली नहीं होने से काफी दिक्कतों का सामना ग्रामीणों को करना पड़ है। इस बिजली चलित काम धंधे भी बिजली गुल होने से ठप हो जाते है जिस से लोगों की आमदनी पर विपरीत असर हो रहा है। बिजली कटौती तत्काल बंद की जाए।


पैसा नहीं होने से किसान ले रहे है कर्जा

गौरव सन्नी महाजन ने आगे पत्र में कहा की पिछले माह 3 अप्रेल से प्रदेश में गेंहू की खरीदी सरकार ने  शुरू कर दी है किसानों से सात दिनों के अंदर भुगतान कराए जाने  का वादा किया गया था लेकिन एक माह बाद भी उपार्जन केंद्रों के द्वारा किसानों को राशि का भुगतान नहीं किया गया है। किसान बैंकों के चक्कर लगा रहे है बैंक वालें भी सही जबाव नही दे रहे है। पैसा नही होने के कारण किसानों को शादी विवाह के सीजन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है किसानों को खर्च चलाने के लिए कर्ज भी लेना पड़ रहा है। किसानों को शीघ्र भुगतान किया जाए जिससे की किसानों की परेशानियां खत्म हो।


हादसों के शिकार हो रहे है ड्राईवर

गौरव सन्नी महाजन ने सीहोर से श्यामपुर तक की पूरी तरह उखड़ चुकी डामर सड़क को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा की इस सड़क पर वाहन चलाना मुश्किल हो गया है। सड़क से डामर लगभग गायब हो गया है गहरे गडढों में गिर कर बाहक सवार घायल हो रहे है अबतक अनेक हादसे इस सड़क पर हो चुके है कई लोग घायल भी हो गए है वाहनों भी टूट फूट हो रहीं है लेकिन पीडब्ल्युडी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है जिस कारण यह सड़क हादसों की सड़क बन कर रह गई है। इस सड़क से सौ से अधिक गांव जुडे हुए है। जनहित में इस तीस किलोमीटर सड़क को सीमेंटेट बनाया जाए जिस से की वाहन चालको की सुरक्षा हो सकें। 


चेतावनी देकर सौंपा ज्ञापन मांगों का निराकरण नहीं होने पर 313 गाडियों से की जाएगी नर्मदा मैया की परिक्रमा

  • ग्राम रोजगार सहायकों/पंचायत सहायक सचिवों ने अपनी मांगों के समर्थन में किया कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन

sehore news
सीहोर। गुरुवार को ग्राम रोजगार सहायक/पंचायत सचिव कर्मचारी संघ के तत्वाधान में गुरुवार को जिले भर के पदाधिकारियों और सदस्यों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर शहर के कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से संबोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपकर वर्षों से लंबित मांगों का शीघ्र निराकरण कराने की अपील की है। अपनी मांगों के समर्थन में ग्राम रोजगार सहायक/पंचायत सचिव कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह ठाकुर, ब्लॉक अध्यक्ष अखिलेश मेवाड़ा, ब्लॉकाध्यक्ष रविंद्र राजपूत, जितेंद्र ठाकुर, पदम मालवीय, सुनील वर्मा, जितेंद्र सोलंकी, विष्णु प्रजापति, विमल सोनी, राजकुमार प्रजापति आदि ने जिला प्रशासन को प्रदेश के मुख्यमंत्री से संबोधित एक ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन में कहा कि मध्यप्रदेश में ग्राम रोजगार सहायक पिछले 12 सालों से केन्द्र एवं राज्य शासन की करीब 52 योजनाओं का क्रियान्वयन 23 हजार ग्राम पंचायतों में जरूरतमंद तक बड़ी ईमानदारी एवं कर्तव्यनिष्ठा के साथ निर्वहन कर रहे है। मंहगाई के इस दौर में अल्पमानदेय मात्र नौ हजार में अत्याधिक कार्य के दबाव के कारण आर्थिक, शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडित है। जिसके कारण कोरोना काल से आज तक 25 से ज्यादा ग्राम रोजगार सहायक/सहायक सचिव काल के गाल में समा गए जिनके परिवार का बुरा हाल है। ग्राम रोजगार सहायकों/सहायक सचिवों की तीन मांगों का निरोकरण किया जाए। इसमें गत वर्ष 25 अगस्त 2018 के मुख्यमंत्री निवास में की गई घोषणा पूरी जाए। ग्राम रोजगार सहायकों की सेवा समाप्ति के बदले निलंबन किया जाएगा, निलंबन अवधि में अन्य कर्मचारियों की भांति नियमानुसार निर्वाह भत्ता दिया जाएगा, ग्राम रोजगार सहायक की आकस्मिक मृत्यु पर आर्थिक सहायता निश्चित धनराशि उनके परिवार दी जाएगी। इसके अलावा पंचायत सचिव की भर्ती में समानता के सिद्धांत अनुसार ग्राम रोजगार सहायकों को प्राथमिकता से लिया जाएगा। ग्राम रोजगार सहायकों से पूर्णरुपेण मनरेगा के कार्य निष्पादित कराए जाए। मांग आधारित योजना को लक्ष्य आधारित योजना बनाकर केवल ग्राम रोजगार सहायकों को टारगेट कर हर योजना का इकलौता दोषी मानकर सेवा समाप्त की जा रही है। ग्राम रोजगार सहायकों के वेतनवृद्धि वर्ष 2017 पांच से नही की गई है। जब तक वेतनवृद्धि नहीं की जाती तब तक मनरेगा के अलावा दूसरी योजना का कार्य नहीं किया जाएगा। अतएव समान कार्य समान वेतन अनुसार वेतनमान तीस हजार किया जाए। इसके अलावा हमारी तीसरी मांग में ग्राम रोजगार सहायक/सहायक सचिव ईमानदारी व संपूर्ण ऊर्जा से कर्तव्य निर्वहन कर सके, ग्राम रोजगार सहायकों के लिए स्थानांतरण नीति बनाई जाए अथवा ब्लाक कैडर अनुसार जनपद में स्वेच्छा से स्थानांतरण किया जाए। वही संघ ने चेतावनी दी है कि हमारी मांगों का शीघ्र ही निराकरण नहीं किया गया तो 23 हजार ग्राम रोजगार सहायक   सामूहिक अवकाश पर रहेगे, जिसके बाद भी हमारी मांगें पूरी नहीं हुई तो उच्च न्यायालय की शरण में जाने को बाध्य होंगे साथ ही मां नर्मदा मैया की 313 गाड़ियों से परिक्रमा की जाएगी इसके अलावा धरना-प्रदर्शन भी किया जाएगा।

अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन का आयोजन


सीहोर। हाल ही में हरदा में अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन में प्रांतीय अध्यक्ष द्वारा सीहोर शाखा के विगत सत्र के कार्यों की सराहना करते हुए मंडल को पुरस्कृत किया गया। इस संबंध में जानकारी देते हुए श्रीमती प्रेमलता रुठिया ने बताया कि मंडल को पुरस्कार वितरण किया गया। कार्यक्रम के दौरान सीहोर क्षेत्र से बड़ी संख्या में पदाधिकारी पहुंचे थे। इस मौके पर शशि विजयवर्गीय को बेस्ट सचिव व नए प्रांतीय संगठन में प्रेमलता रूठिया को महिला सशक्तीकरण टीम का प्रांतीय संयोजक व प्रतिभा झवर को अखिल भारतीय संबंध प्रमुख समिति का प्रांतीय संयोजक ममता पितलिया को महिला सशक्तिकरण टीम का संयोजक बनाया गया एवं सीहोर शाखा की अध्यक्ष राजकुमारी पालीवाल सचिव संध्या विजयवर्गीय कोषाध्यक्ष लता खंडेलवाल उपाध्यक्ष रजनी बाहेती द्वारा बधाई दी गई, सीहोर शाखा की कार्य करणी का गठन भी हुआ महिला सशक्तिकरण में मंजू अग्रवाल इंदु भावसार संबंध प्रमुख सरोज सोनी ज्योति रूठिया पर्यावरण प्रमुख आभा कासट बाल विकास प्रमुख ज्योति अग्रवाल अंग देह रक्त नेत्रदान प्रमुख किरण सोनी विनीता सोनी  साहित्य सेवा शशि विजयवर्गी शाखा सदस्यता विस्तार गीता सोडानी संगीता राठी आध्यात्मिक चिंतन मंजू भर्तियां पुष्पा सोनी राधा शर्मा और नीरू व्यास ने सभी को बधाई दी। 


क्लाईमेट स्मार्ट विलेज परियोजना अंतर्गत जिले के 120 ग्रामों का चयन


सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आत्मा में क्लाईमेट स्मार्ट विलेज परियोजना अंतर्गत सीहोर जिले के 120 ग्रामों का चयन किया गया है आत्मा किसान कल्याण तथा कृषि विकास के परियोजना संचालक ने जानकारी दी कि परियोजना में जल प्रबंधन घटक के अन्तर्गत पॉली तालाब का निर्माण होना है पॉली तालाब निर्माण में अनुमानित लागत वहां की मिट्टी संरचना के आधार पर रहेगी। परियोजना के द्वारा इस घटक के अन्तर्गत 12100 रू अनुदान राशि कार्य पूर्ण होने पर किसान के खाते में डीबीटी के माध्यम से भुगतान की जावेगी। ऐसे पात्र कृषक जो पॉली तालाब निर्माण कराना वाहते है वे अपने ग्राम के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, के कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है।


घरेलू गैस का दुरूपयोग रोकने खादय एवं राजस्व विभाग की संयुक्त कार्यवाही, संयुक्त कार्यवाही के दौरान 16 घरेलू गैस सिलेंडर जप्त किये


sehore news
घरेलू गैस के दुरूपयोग की शिकायतों के मद्देनजर कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने खाद्य एवं राजस्व विभाग को जांच कर कार्यवाही के निर्देश दिये है। कलेक्टर द्वारा दिए गए निर्देश पर खाद्य एवं राजस्व विभाग द्वारा होटल संचालकों एवं रेस्टोरेन्टों में घरेलु गैस के दुरूपयोग को रोकने के लिए आकस्मिक कार्यवाही करते हुए 16 घरेलू गैस सिलेंडर जप्त किये गये है। खादय एवं राजस्व विभाग की संयुक्त कार्यवाही के दौरान जावर के गुरु कृपा नाश्ता पॉइंट से 03 घरेलू गैस सिलेंडर जाप्त किये गये, इसी प्रकार जावर के ही देवकृपा नाश्ता पॉइंट से 01, पाटीदार स्वीट्स नाश्ता पॉइंट जावर से 02 , संतोष पाल नाश्ता पॉइंट जावर से 01, जयसवाल रेस्टोरेंट्स डोंडी से 01, साईं कृपा ढाबा एवं रेस्टोरेंट डोडी से 02, द्वारकाधीश होटल एवं रेस्टोरेंट डोडी से 01, डोडी की प्रसिद्ध कचोरी नाश्ता पॉइंट से 02, खेड़ापति किराना स्टोर डोडी से 03, इन प्रतिष्ठानों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया।

संयुक्त कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टर की पदस्थापना


प्रशासनिक कार्य सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले में पदस्थ संयुक्त कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टर के माध्य नवीन पदस्थापना के आदेश जारी किये है। जारी आदेशानुसार श्री शैलेन्द्र हिनोतिया एसडीएम बुधनी को कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर पदस्थ किया गया है। इसी प्रकार श्री राधेश्याम बघेल संयुक्त कलेक्टर जिला कार्यालय से एसडीएम बुधनी, श्री ब्रजेश सक्सेना एसडीएम सीहोर को संयुक्त कलेक्टर जिला कार्यालय सीहोर, श्री अमन मिश्रा डिप्टी कलेक्टर कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर को एसडीएम सीहोर पदस्थ किया गया है। श्री आनन्द सिंह रजावत डिप्टी कलेक्टर को एसडीएम आष्टा पदस्थ किया गया है।श्री विजय कुमार मण्डलोई डिप्टी कलेक्टर एवं एसडीएम आष्टा का स्थानान्तरण इन्दौर होने पर श्री मण्डलोई को इन्दौर के लिए भारमुक्त किया गया है।


सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख के मध्य कार्य विभाजन


विभागीय कार्य संपादन की दृष्टि से कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले में पदस्थ सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख के मध्य कार्य विभाजन का आदेश जारी किये गये है। कलेक्टर श्री ठाकुर द्वारा जारी आदेशानुसार श्री गोविन्द सिंह यादव सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख को प्रभारी अधीक्षक भू-प्रबंधन एवं अनुविभाग आष्टा,संख्यिकी,व भू-अभिलेख संबंधी कार्य सौपे गये है। श्री अभिनव आर्य सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख को प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख नियमित,प्राचार्य पटवारी प्रशिक्षण शाला,अनुविभाग इछावर, जनसुनवाई,टीएल, विधानसभा एवं भू-अभिलेख संबंधी समस्त कार्य, श्री अनीश कुरैशी सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख को अनुविभाग सीहोर, जिले के सिविल न्यायालय के समस्त सीमांकन कार्य शिकायती पत्रों का निराकरण,वन एवं राजस्व सीमा मजरा टोला समस्त मीटिंग के पत्रक बीसी संबंध फोल्डर एवं भू-अभिलेख संबंधी समस्त कार्य देखेगे। श्री शैलेष सिंह ठाकुर सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख को अनुविभाग नसरूल्लागंज एवं बुधनी का भू-अभिलेख संबंधी समस्त कार्य करेगें।


किसान कृषि उपज का सही मूल्य, सही तौल एवं नगद भुगतान प्राप्त करें


कृषि उपज मंडी में कृषि उपज विक्रय करने आने वाले कृषकों से अपील की गई है कि सभी किसान भाई अपनी कृषि उपज खुले घोष विक्रय में नीलामी के द्वारा प्रतिस्पर्धात्मक मूल्य पर ही मंडी के अनुज्ञप्तिवारी व्यापारियों को मध्य प्रदेश कृषि उपज मंडी अधिनियम 1972 की धारा 37 के तहत अनुबंध निष्पादित करके ही फसल का विक्रय करें। यदि विक्रय की गई कृषि उपज का भुगतान उसी दिन व्यापारी द्वारा नहीं किया जाता है तो उसकी सूचना तत्काल मंडी प्रागंण में स्थापित शिकायत कक्ष में दर्ज कराए ताकि उसी दिन कृषि उपज का भुगतान कराया जा सके।


हायर सेकण्डरी, हाईस्कूल पूरक परीक्षा का कार्यक्रम घोषित


माध्यमिक शिक्षा मण्डल, मध्यप्रदेश, भोपाल द्वारा संचालित हाईस्कूल/हायर सेकण्डरी/ हायर सेकण्डरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम (द्वितीय अवसर) की परीक्षाएं प्रारंभ होने की तिथियाँ मण्डल द्वारा घोषित कर दी गई हैं। हायर सेकेण्डरी परीक्षा में केवल एक विषय तथा हाईस्कूल परीक्षा में दो विषयों में अनुत्तीर्ण छात्रों को ही पूरक की पात्रता प्रदान की गई है। हायर सेकेण्डरी के समस्त विषयों की पूरक परीक्षाएँ 20 जून, 2022 तथा हाईस्कूल पूरक परीक्षा 21 जून से 30 जून तक तथा हायर सेकण्डरी व्यावसायिक द्वितीय अवसर पूरक परीक्षा 21 जून से 27 जून तक संपन्न होंगी। हायर सेकण्डरी / हाईस्कूल पूरक परीक्षा एवं हायर सेकण्डरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम (द्वितीय अवसर) पूरक परीक्षा के आवेदन पत्र निर्धारित शुल्क जमा कर एम.पी. ऑनलाईन के कियोस्क के माध्यम से अब से परीक्षा प्रारंभ दिनॉक के एक दिन पूर्व तक भरे जा सकेंगे। पूरक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले सभी परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र 05 जून से ऑनलाईन प्राप्त किये जा सकेंगे।


लाड़ली लक्ष्मी उत्सव अब 8 मई को होगा


लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का राज्य स्तरीय कार्यक्रम अब 8 मई 2022 को मोतीलाल नेहरू स्टेडियम, लाल परेड ग्राउन्ड भोपाल में सायंकाल में आयोजित होगा। राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण वेबकास्ट के माध्यम से किया जाएगा, जिसकी वेब लिंक पृथक से उपलब्ध कराई जाएगी। राज्य स्तरीय कार्यक्रम के सीधे प्रसारण से ग्राम पंचायत स्तर पर सभी लाड़ली बालिकाएं व उनके अभिभावक एवं शहरी स्तर पर स्थानीय लाड़ली बालिकाएं एवं उनके अभिभावक टेलीविजन , मोबाईल के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ेंगे। इस हेतु ग्राम पंचायत भवनों में उपलब्ध टेलीविजन सेट के माध्यम से आवश्यक बैठक व्यवस्था करते हुए कार्यक्रम के सीधे प्रसारण की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। इसके अतिरिक्त आंगनबाड़ी केन्द्रों में भी लाड़ली बालिकाओं एवं उनके अभिभावकों की बैठक व्यवस्था करवाते हुए प्रसारण से जुड़ने की व्यवस्था की जाएगी।


मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम  के तहत टीकाकरण


केन्द्र सरकार के निर्देश पर चल रहे सघन मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम 4.0 के अंतर्गत 2 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का किसी भी कारण से छूटे हुए टीकों को लगाना सुनिश्चित करना है। इसी लक्ष्य को पूरा करने की कड़ी में सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 का जिले में तीसरा चरण 2 मई से प्रारंभ हुआ। इस दस दिवसीय कार्यक्रम में  किसी न किसी टीके की ख़ुराक से छूटी गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। शासन के निर्देशानुसार घर-घर सर्वे करके स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ऐसे छूटे हुए बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं की सूची तैयार कर उन्हें टीकाकरण स्थल तक लाने के लिये प्रेरित किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने अभियान के तहत अपने बच्चों को पूर्ण टीकाकरण करवाकर जानलेवा बीमारियों से सुरक्षा दिलवाने की अपील की


"आ लौट चले" योजना में पुनः स्कूल की मुख्य धारा लाने का प्रयास


समग्र शिक्षा अभियान (सेकेण्डरी एजुकेशल) अंतर्गत लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा कक्षा 09 से 12 तक ड्रापआउट शाला त्यागी विद्याथियों को पुनः स्कूल की मुख्य धारा लाने के लिये "आ लौट चलें" योजना गत माह से प्रारंभ की है। योजनान्तर्गत पूर्व में लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा उपलब्ध करायी गई ड्रपआउट में सम्मिलित विद्यार्थियों को उनका समग्र आईडी डालकर एमपी ऑनलाइन के माध्यम से कक्षा 10 एवं 12 की परीक्षा के लिए फार्म भरने की सुविधा दी गई थी। कई प्राचार्यो एवं जिला शिक्षा अधिकारियों ने इस पद्धति से परीक्षा फार्म भरने में अत्यंत कठिनाई का लेखा लिया है।  "आ लौट चलें" योजना में परीक्षा फार्म भरने के लिये सरलीकृत निर्देश लोक शिक्षण संचालनालय को सहमति से जारी किये जाते है। ऐसे समस्त विद्यार्थी जिनका माध्यमिक शिक्षा मंण्ल में जीवित नामांकन है। वे संबंधित को नामांकन क्रमांक दर्शाने वाला प्रपत्र अंकसूची अपलोड करना होगा। ऐसे समस्त विद्यार्थी जिन्होंनें 01. जनवरी 2022 को 14 वर्ष की आयु को पूर्ण कर ली है। परन्तु 18 वर्ष के नहीं हुये है पात्र होंगे। विद्यार्थियों को उनके द्वारा उत्तीर्ण  अनुत्तीर्ण की गयी पिछली परीक्षा की अंकसूची अपलोड करना होगी।


कुम्हारी कार्य शिल्पी, कारीगरों को प्रशिक्षण सीहोर जिले से 10 प्रशिक्षणार्थियों का चयन किया जाना है


कौशल विकास कार्यक्रम प्रशिक्षण योजनान्तर्गत कुम्हारी कार्य शिल्पी, कारीगरों को जिला एवं संभाग तथा राज्य स्तर पर प्रशिक्षण कराया जाना प्रस्तावित है। राज्य स्तरीय एवं संभाग स्तरीय प्रशिक्षण आवासीय रहेगा एवं जिला स्तरीय प्रशिक्षण गैर आवासीय होगा। सीहोर जिले से 10 प्रशिक्षणार्थियों का चयन जिला स्तरीय छानबीन समिति से अनुमोदित कराकर सूची 15 दिवस में मध्यप्रदेश माटीकला बोर्ड भोपाल भेजा जाना है। इस संबंध में पदेन जिला अधिकारी माटीकला बोर्ड ने बताया कि माटीशिल्पी, कारीगरों जिनकी आयु 18 से 45 वर्ष हो एवं जो कम से कम पांचवीं उत्तीर्ण हो और जो प्रशिक्षण के इच्छुक हो से निर्धारित प्रारूप में आवेदन पत्र मध्य प्रदेश माटीकला बोर्ड सीहोर को 09 मई 2022 तक स्वीकार किए जायेंगे ।आवेदन पत्र प्रारूप एवं अन्य आवश्यक जानकारी मध्य प्रदेश माटीकला बोर्ड के सीहोर कार्यालय जिला पंचायत परिसर सीहोर) से संपर्क कर प्राप्त की जा सकती है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान से स्व-सहायता समूहों की महिलाओं ने की भेंट


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से निवास कार्यालय में सीहोर जिले की माँ नर्मदा, श्री गणेश तथा राधा स्व-सहायता समूह की महिलाओं और माँ साक्षी मछुआ समूह के कार्यकर्ताओं ने भेंट की। मुख्यमंत्री श्री चौहान को समूह की महिलाओं ने उनके द्वारा संचालित गतिविधियों और विपणन व्यवस्था की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्व-सहायता समूह की गतिविधियों को अधिक रोजगारोन्मुख बनाने स्थानीय स्तर पर आवश्यक प्रशिक्षण उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाएगी।


12वीं सीनियर नेशनल वुमन हॉकी चैंपियनशिप-2022  6 मई से देश की 27 टीमें होंगी शामिल


पिछले कुछ समय से भोपालवासी पुरुष हॉकी में बेहतरीन प्रदर्शन के साक्षी बने हैं। इसी क्रम में अब भोपाल में 6 से 17 मई तक देश की बेहतरीन महिला हॉकी खिलाड़ी अपनी हॉकी स्टिक का जादू बिखेरेंगी। मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम में 12वीं हॉकी इंडिया सीनियर वुमन नेशनल चैंपियनशिप-2022 की शुरुआत होगी। इस चैंपियनशिप में देश की 27 टीमें अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगी। 12वीं हॉकी इंडिया सीनियर वुमन नेशनल चैंपियनशिप में मेजवान मध्यप्रदेश के अलावा चंडीगढ़, बिहार, हरियाणा, असम, बंगाल, पंजाब, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तराखंड, झारखंड, आंध्रप्रदेश, पंडुचेरी, कर्नाटक, तमिलनाडु, अरूणाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, गोआ, गुजरात, केरल, तेलंगाना, ओडिशा और हिमाचल प्रदेश की टीमें भाग लेंगी।


मुख्यमंत्री श्री चौहान सीहोर जिले के संबल योजना में 307 श्रमिकों को देंगे 6 करोड़ 86 लाख की अनुग्रह राशि


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 6 मई को संबल योजना में 27 हजार 68 श्रमिक परिवारों को 575 करोड़ रूपये की अनुग्रह सहायता और निर्माण श्रमिकों के 829 परिवारों को 17 करोड़ 77 लाख रूपये की सहायता राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से वितरित करेंगे। सीहोर जिले में लाभान्वित हितग्राहियों में 307, हितग्राही शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि विगत 27 सितम्बर, 2021 को मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना में असंगठित क्षेत्र के 14 हजार 475 श्रमिक परिवारों को मृत्यु सहायता के रूप में 321 करोड़ 35 लाख रूपये की अनुग्रह राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित की गई थी। संबंल योजना प्रदेश में असंगठित क्षेत्र में कार्यरत लाखों श्रमिकों के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है, जिसमें श्रमिक को जन्म से लेकर पूरे जीवनकाल तक आर्थिक सहायता प्राप्त होती है। वास्तविक अर्थों में यह श्रमिकों का संबल है।


संबल 2.0 पोर्टल का शुभारंभ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिह चौहान संबल योजना को और अधिक हितग्राही मूलक बनाने के लिये नये स्वरूप संबल 2.0 पोर्टल का शुभारंभ भी करेंगे। संबल 2.0 योजना में प्रदेश के तेन्दूपत्ता संग्राहक श्रमिकों को भी असंगठित श्रमिकों की श्रेणी में सम्मिलित किया जायेगा। योजना में हितग्राही द्वारा एमपी ऑनलाईन अथवा लोकसेवा केन्द्रों से आवेदन करने और आवेदन की जानकारी श्रमिक के मोबाईल पर एस.एम.एस अथवा वॉट्सप पर देने का प्रावधान किया गया है। योजना में पहले से अपात्र श्रमिक भी आवेदन कर सकते हैं। श्रम विभाग के प्रमुख सचिव श्री सचिन सिन्हा ने बताया कि म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल तथा म.प्र. शहरी एवं ग्रामीण असंगठित कर्मकार कल्याण मण्डल द्वारा प्रदेश के असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों एवं उनके परिवार के लिए अनेक योजनायें संचालित की जा रही हैं, जिसमें अनुग्रह सहायता योजना में दुघर्टना मृत्यु होने पर 4 लाख रूपये एवं सामान्य मृत्यु होने पर 02 लाख रूपये की सहायता दी जाती है। इसी प्रकार स्थायी अपंगता पर 2 लाख रूपये एवं आंशिक स्थायी अपंगता पर एक लाख तथा अंतिम संस्कार सहायता के रूप में 5 हजार रूपये प्रदान किये जाते हैं। संबल योजना के अंतर्गत महिला श्रमिकों को प्रसूति सहायता के रूप में 16 हजार रूपये दिये जाते हैं और श्रमिकों के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा भी उपलब्ध करायी जा रही है।


एक जनवरी के बाद प्रदेश लौट रहे प्रवासी श्रमिकों का पंजीयन किया जाए


मध्यप्रदेश के मूल निवासी प्रवासी श्रमिक, जो एक जनवरी 2022 को या उसके बाद मध्यप्रदेश लौट रहे हैं, का प्रवासी श्रमिक पोर्टल एवं रोजगार सेतु पोर्टल पर अनिवार्य रूप से पंजीयन किया जाए। श्रम विभाग ने इस संबंध में समस्त कलेक्टर्स को निर्देश जारी किये हैं। पूर्व में एक अप्रैल 2021 या उसके बाद मध्यप्रदेश लौटे प्रवासी श्रमिकों के पंजीयन के संबंध में विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये थे। प्रदेश में कोविड-19 की विपरीत परिस्थितियों के कारण मध्यप्रदेश के मूल निवासी श्रमिक, जो दूसरे राज्यों में नियोजित थे, मध्यप्रदेश वापस लौट रहे हैं या राज्य के अन्दर अन्य जिलों से लौट रहे हैं। इन सभी को शासन की विभिन्न योजनाओं का पात्रतानुसार लाभ दिया जाना है। इसके लिये इनके सर्वे, सत्यापन तथा पंजीयन की कार्यवाही तत्काल प्रारंभ की जानी है। यह कार्य ग्राम पंचायतों में पंचायत सचिवों एवं ग्राम रोजगार सहायकों द्वारा तथा नगरीय क्षेत्रों में नगरीय निकाय के वार्ड प्रभारियों द्वारा किया जाएगा। प्रवासी श्रमिक, जो मध्यप्रदेश के मूल निवासी नहीं है, उन्हें सर्वे में शामिल नहीं किया जाएगा। ऐसे सभी मूल निवासी प्रवासी श्रमिकों का सर्वे किया जाएगा, जो मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना (संबल) अथवा मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल योजना में पंजीयन के लिये पात्रता रखते हैं। साथ ही अन्य राज्यों में कारखानों/उद्योगों में नियोजित म.प्र. के मूल निवासी श्रमिक, जो मध्यप्रदेश लौट रहे हैं, का भी सर्वे एवं सत्यापन किया जाएगा। रोजगार सेतु पोर्टल URL "www.RojgarSetu.mp.gov.in" पर उपलब्ध है, जिसे मध्यप्रदेश रोजगार पोर्टल से भी जोड़ा गया है। इस पर सर्वे किये गये समस्त प्रवासी श्रमिकों की जानकारी उनके कौशल एवं निवास के जिले अनुसार उपलब्ध है। प्रवासी श्रमिकों में निर्माण श्रमिकों की 43, असंगठित श्रमिकों की 40 तथा कारखानों में नियोजित श्रमिकों की 9 श्रेणियाँ अंकित हैं। पोर्टल पर उन नियोजकों की भी जानकारी प्रदर्शित रहेगी, जिन्हें श्रमिक/मजदूरों की आवश्यकता है। प्रवासी श्रमिक इन नियोजकों से रोजगार के लिए पोर्टल पर दर्ज फोन अथवा ई-मेल से स्वयं भी संपर्क कर सकते हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास द्वारा सर्वे में अंकित जिन प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराया गया है, उन्हें रोजगार सेतु पोर्टल पर संबंधित ग्राम पंचायत सचिव/रोजगार सहायक द्वारा अंकित किये जाने की कार्यवाही की जाएगी। जिला स्तर पर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिलाने के लिये कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित होगी, जो नियमित रूप से कार्य की समीक्षा करेगी। कलेक्टर्स को निर्देश दिये गये हैं कि प्रवासी श्रमिकों संबंधी सर्वे, सत्यापन एवं पंजीयन कार्य कोविड प्रोटोकॉल का शत-प्रतिशत पालन करते हुए सुनिश्चित किया जाए। समस्त प्रवासी श्रमिकों के आयुष्मान कार्ड भी अनिवार्यत: बनाये जाने के निर्देश दिये गये हैं।


असंगठित श्रमिकों की 40 श्रेणियाँ

साईकिल रिक्शा चालक, हाथठेला चालक, शहरी घरेलू कामकाजी महिला, हॉकर, फेरीवाले, कृषि कार्य, हम्माल एवं तुलावटी, बुनकर, केश शिल्पी, मत्स्य पालक, दुकान, रेस्टोरेंट व्यापार में संलग्न, परिवहन कार्य, मनरेगा कार्य, पत्थर तोड़ने तथा दलने वाले, पक्की ईंट तथा टाइल्स बनाने वाले, सिलाई करने वाले, सुगंधित तीलीयाँ एवं अगरबत्ती बनाने वाले, पापड़ अचार जेम्स आदि बनाने वाले, खिलौने बनाने वाले, चमड़े का शोधन करने वले, जूतू तथा कपड़े की वस्तु एवं मरम्मत कने वाले, साफ-सफाई तथा झाडू बहारू करने वाले, रैगपिकर्स, कढ़ाई, कढ़ाई की सजावट तथा वस्त्र बनाने मेंनियोजित, आटा तेल दाल तथा चावल मिल में नियोजित, प्राइवेट सुरक्षा सेवा, प्लास्टिक उद्योग, बर्तन बनाने वाले, लकड़ी का कार्य करने वाले, दरी तथा कारपेट बनाने वाले, आतिशबाजी तथा माचिस उद्योग, डब्बे तथा पैकिंग कार्य, कबाड़ी, दुग्ध उद्योग, वनोपज कार्य, रेशम उत्पादन, कपड़ो की रंगाई, रेत खदान मिट्टी खदान, लदाई, उतराई, ठेर लगाई, पैकिंग करने, वहन करने, तौलने, मापने में नियोजित, खदानों में नियोजित, खादी हाथकरघा तथा पॉवर लूप उद्योगों में तथा शिप्ली जैसे - बढ़ई, लोहार, गारा बनाने वाले कुम्हार आदि।


लाड़ली लक्ष्मियों ने बाघा बॉर्डर पहुंचकर जवानों को किया राष्ट्रीय ध्वज भेंट


sehore news
प्रदेश सरकार की लाड़ली लक्ष्मी योजना का व्यापक प्रभाव बालिकाओ के जीवन पर पड़ रहा है। “माँ तुझे प्रणाम” योजना के तहत पहली बार प्रदेश की लाड़ली लक्ष्मियों को वाघा बॉर्डर पर भ्रमण के लिए पहुंचाया गया है। बाघा बॉर्डर पहुंचकर प्रदेश की लाडली लक्ष्मियों के दल ने देश की सीमाओं के रक्षक वीर जवानों को सम्मान स्वरूप राष्ट्रीय ध्वज भेंट किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि युवाओं का ये भाव नि:संदेह भारत को सशक्त राष्ट्र बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

मछुआ क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ लेने की अपील


मध्‍यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार जिले में मछुआ क्रेडिट कार्ड योजना लागू है। योजना अंतर्गत ऐसे मत्‍स्‍य कृषक, मछुआ एवं मछली के व्‍यवसाय से जुड़े समस्‍त हितग्राहियों को बैंक से मछुआ क्रेडिट कार्ड बनवाये जा रहे हैं। मत्‍स्‍य पालन हितग्राही कार्यालय सहायक संचालक मत्‍स्‍योद्योग भोपाल के कार्यालयीन समय में अपना आवेदन प्रस्‍तुत कर सकते हैं।


08 मई को आयोजित होगा लाडली लक्ष्मी उत्सव, कलेक्टर ने जिले में लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मनाने के अधिकारियों को दिए निर्देश


sehore news
दो मई से 11 मई तक लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मनाया जा रहा है। लाडली लक्ष्मी उत्सव का राज्य स्तरीय कार्यक्रम 08 मई को लाल परेड ग्राउन्ड भोपाल में आयोजित किया जाएगा। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिला पंचायत सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर सभी ग्राम पंचायतों एवं नगरीय निकायों में लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम आयोजित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने 08 मई के पूर्व सभी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्थानीय परंपरा अनुसार सभी लाडली परिवारों को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं अन्य विभागों के मैदानी अमलों द्वारा आमंत्रित किये जाने के निर्देश दिए है। ग्राम पंचायत एवं शहरी जोनल, वार्ड के स्थानीय कार्यक्रमों में स्थानीय व्यक्ति, महिला, जिन्होंने समाज में व्यापक बदलाव का कार्य किया हो, उनका 10 मिनट का उद्बोधन रखा जाने के निर्देश दिए है। ग्राम पंचायत के अलावा संबंधित ग्रामों में भी कार्यक्रम का आयोजन किया जाये ताकि लाडली लक्ष्मियों को अधिक दूरी न तय करना पडे़। जिला, ग्राम पंचायत एवं वार्ड स्तर के कार्यक्रमों में शाम 6.30 से 07 बजे तक विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाने एवं कार्यक्रम स्थल पर लाड़ली लक्ष्मियों के अभिभावकों सहित एक साथ एक रैली के रूप में स्थानीय वाद्य यंत्रों की संगीतमय प्रस्तुति के साथ लाया जाने के निर्देश दिए है। सभी को तिलक कर स्वागत करने तथा रैली के दौरान स्थानीय समूहों द्वारा लाडलियों तथा उनके अभिभावकों पर यथासंभव पुष्प वर्षा की जाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने निर्देश दिए कि लाडली लक्ष्मी उत्सव में व्यापक जनभागीदारी तथा शतप्रतिशत लाडलियों एवं उनके परिवारों को जोडने के लिए प्रत्येक स्तर पर व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित किया जाए, जिसमें रेलवे स्टेशन, बस स्टैन्ड, स्थानीय हाट बाजार आदि स्थलों पर लाडली गीतों को बजाया जाये। साथ ही सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पर (फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, व्हाटसएप, टेलीग्राम आदि) पर संदेशो को प्रसारित किया जाए। राज्य स्तर से प्रसारित होर्डिग प्रोटोटाईप अनुसार प्रत्येक स्तर पर होर्डिग लगाया जाए। साथ ही वॉल राईटिंग को प्रत्येक स्तर पर कराया जाए। छोटे शहरों अथवा नगर पंचायतों में सुविधा अनुसार एक या दो स्थानों पर तथा बडे महानगरों में वार्ड, जोन स्तर पर सुविधा अनुसार ऐसे परिसर का चयन किया जाए, जहां स्क्रीन लगाकर बैठक व्यवस्था की जा सकें। महाविद्यालय, स्कूल, समुदायिक भवन, विभिन्न समाजों के धर्मशाला आदि। राज्य स्तरीय लाडली लक्ष्मी उत्सव को व्यापक रूप देने के लिए सभी प्रतिनिधियों, जन अभियान परिषद की प्रस्फुटन समितियों, अंत्योंदय समितियों, महिला स्वसहायता समूह, स्वच्छता दूतों, किसान मित्र, सहयोगिनी मातृ समितियों, शौर्या दल के सदस्यों, स्वयंसेवी संगठनों का तथा डेवलपमेंट पार्टनर्स का प्रत्येक स्तर पर सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जाए। शहरी क्षेत्रो में वाहनो पर जनसंपर्क विभाग द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे लाडली महिमा गान को लगातार बजाया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में कोटवारों के माध्यम से डोडी पिटवाई जाए साथ ही भजन मंडलियों द्वारा किए जाने वाली प्रभात फेरियों में लाडली महिमा गान गाया जाने के संबंध में व्यवस्थायें की जाए। राज्य से जारी लाडली लक्ष्मी पर आधारित गीत का उपयोग सभी कार्यक्रमों में किया जाए। स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम के सम्मानीय अतिथि सभी लाडलियों एवं उनके अभिभावको को स्थानीय सहयोग से प्रसाद, लडडु, मिठाई, स्वल्पाहार वितरण किया जाने के निर्देश दिए गए है। बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर, जिला पंचायत सीईओं श्री हर्ष सिंह, महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री प्रफुल्ल खत्री सहित अनेक प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

डॉ.आजाद होंगे श्यामपुर के नए बीएमओ


संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं मध्यप्रदेश द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्यामपुर में ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर के पद पर विगत 22 वर्षों से पदस्थ डॉ. एचपी सिंह को हरदा जिले का मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बनाए जाने के बाद बीएमओ श्यामपुर का प्रभार डॉ. एनआर आजाद को सौंपा गया। डॉ. एचपी सिंह को हरदा जिले के सीएमएचओ के कार्यभार के लिए  कार्यमुक्त किए जाने तथा डॉ. एनआर आजाद को बीएमओ श्यामपुर बनाए जाने के आदेश आज सीएमएचओ सीहोर द्वारा जारी किए गए है।


वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह पहुंचे पिपलानी ग्रामवासियों से आगामी कन्या विवाह सम्मेलन के संबंध में की चर्चा


sehore news
वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह नसरूल्लागंज तहसील के ग्राम पिपलानी पहुंचे। यहाँ उन्होंने आगामी 14 मई को आयोजित होने वाले सामूहिक विवाह सम्मेलन के बारे में स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामवासियों से चर्चा की। वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत आयोजित विवाह सम्मेलन में अधिक से अधिक कन्याओं का विवाह सम्पन्न हो सके, इसके लिए पूरे क्षेत्र में घर घर सूचना प‍हुंचाने तथा विवाह के लिए पंजीयन कराने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि अब गरीब माता-पिता की बेटी की शादी भी धूमधाम से होगी। उन्होंने कहा कि सरकार विवाह सम्मेलन को भव्य बनाने के लिए सभी जरूरी इंतजाम करेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कोरोना के बाद मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना फिर से प्रारंभ की गई है और प्रदेश के हर मॉं-बाप की लाड़ली बेटियो की शादी प्रदेश सरकार करेगी। वन मंत्री डॉ. शाह ने समय पूर्व सभी तैयारियां सुनिश्चित करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान तहसीलदार श्री शक्ति सिंह तोमर, श्री देव सिंह धुर्वे, श्री पर्वत सिंह उईके सहित अन्य जनप्रतिनिधि अधिकारी एवं ग्रामवासी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: