गया : सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 मई 2022

गया : सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया

order-o-bdo-in-gaya
गया. समाहरणालय सभागार में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम द्वारा जिले के सभी टोलों में पेयजल व्यवस्था सुचारू रखने के उद्देश्य से सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी के साथ बैठक कर स्पष्ट निर्देश दिया कि प्रत्येक दिन कम से कम 4 योजनाओं का स्थल निरीक्षण अनिवार्य रूप से करना सुनिश्चित करे.साथ ही उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि तकनीकी सहायक की मदद से हर दिन अपने क्षेत्र में पानी की समस्याओं की जानकारी लेते रहें. बैठक में प्रखंड के वरीय पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि कुछ वार्डों में स्टार्टर तथा मोटर खराब होने के कारण पेयजल अवरुद्ध होने की सूचना मिली है. जिला पदाधिकारी ने निर्देश दिया की छोटी-छोटी समस्याओं के कारण यदि किसी टोले में अब तक पेयजल आपूर्ति बंद है, उसे चिन्हित करते हुए तेजी से मरम्मती का काम करवाएं और पेयजल व्यवस्था सुचारू करावे. प्रखंडों के वरीय पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि सड़क निर्माण होने के दौरान कुछ नल जल योजना की पाइप क्षतिग्रस्त हुई है, जिसके कारण जलापूर्ति बंद है. जिला पदाधिकारी ने निर्देश दिया कि संबंधित नल जल योजना का स्थान तथा संबंधित पंचायत में निर्माणाधीन सड़क के संबंध में प्रतिवेदन उपलब्ध कराएं ताकि पथ निर्माण विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए नल जल योजना की मरम्मती कराई जा सके. इसके उपरांत उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को सख्त हिदायत दिया कि आवास योजना में किसी प्रकार का बिचौलियों का हस्तक्षेप नहीं किया जाए, इसे सुनिश्चित कराएं.यदि किसी प्रखंड में आवास योजना के पात्र लाभुकों को योजना का लाभ देने के क्रम में यदि अवैध तरीके से पैसे की मांग की जाती है, तो उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करावे. साथ ही उन्होंने संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि पूर्व में आवास सहायकों के विरुद्ध किए गए प्राथमिकी दर्ज का प्रतिवेदन उपलब्ध करावे ताकि संबंधित आवास सहायकों पर कार्रवाई की जा सके.

कोई टिप्पणी नहीं: