2019 में ही वीर सावरकरजी को भारत रत्न देने की मांग की : गोपाल शेट्टी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 30 मई 2022

2019 में ही वीर सावरकरजी को भारत रत्न देने की मांग की : गोपाल शेट्टी

  • महाराष्ट्र राज्य विधान सभा में तैलचित्र की मेरी मांग शीघ्र ही पूरी की जाए

demand-bharat-ratna-for-savarkar-gopal-shetty
मुंबई : उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी ने भारत में स्वतंत्रता संग्राम में योगदान देने वाली महान हस्तियों, देशभक्तों और नेताओं के नाम पर अनेक उद्यान और स्मारक का निर्माण कर अपनी एक अलग छवि बनाई है। ऐसे में शिवसेना सांसद श्री अरविंद सावंत ने भारत सरकार द्वारा स्वातंत्र्यवीर सावरकर को भारत रत्न देने की मांग को लेकर मुद्दा उठाया है और महाराष्ट्र के  एक दैनिक अखबार में इस संदर्भ में प्रकाशित खबर पढ़ने के बाद सांसद गोपाल शेट्टी ने इस संदर्भ में सबूत पेश कर  करारा और लक्षवेधी जवाब दिया है। सां. गोपाल शेट्टी ने आज संवाददाताओं से कहा कि "मैं मा.सांसद अरविंद सावंत की मांग का स्वागत करता हूं।  प्रखर हिंदुत्ववादी स्वतंत्रता सेनानी, साहसी देशभक्त वीर सावरकर जी को भारत रत्न प्रदान हो इस हेतू मैं सन २०१९ से प्रयत्नशील हूं। १६ अक्तूबर २०१९ को मैने गृहमंत्री सम्माननीय श्री अमित शाह जी को विस्तृत पत्र भी लिखा है। इस विभाग के भारत सरकार में मंत्री श्री नित्यानंद राय जी ने मुझे सूचित किया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और फिर देश के सम्माननीय राष्ट्रपति इस मुद्दे पर फैसला करेंगे, जिसका अर्थ है कि स्वातंत्र्यवीर सावरकर को भारत रत्न देने की प्रक्रिया चल रही है और निश्चित रूप से जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी।" आगे सांसद शेट्टी ने कहा, "मैं यह बताना चाहूंगा कि जब मैंने २००८ में बोरीवली में स्वातंत्र्यवीर सावरकर की विशाल पूर्णकद प्रतिमा स्थापित की थी, तब महाराष्ट्र में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेसकी सरकार थी और विशेष रूप से राष्ट्रवादी नेता स्व.आर.आर. पाटिल ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर की प्रतिमा स्थापित करने की अनुमति दी थी।  स्वातंत्र्यवीर सावरकर को लेकर राकांपा और कांग्रेस के मतभेद के बावजूद, मुझे उस समय प्रतिमा स्थापित करने की अनुमति दी गई थी और इसका अनावरण गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री नरेंद्र मोदीजी ने किया था। जब मैं पहली बार २००४ में महाराष्ट्र विधानसभा में विधायक के रूप में चुना गया था, मैंने मांग की थी कि महाराष्ट्र की विधानसभा में स्वातंत्र्यवीर सावरकरजी का एक तैल चित्र लगाया जाए। वीर सावरकर देश के क्रांतिकारी थे लेकिन वे महाराष्ट्र के हैं और मुंबई के हैं, इसलिए वर्तमान महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना के साथ-साथ मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे, जो हिंदू धर्म के आधार पर बड़े बने हैं, मेरी यह मांग शीघ्र पूरी करें। मुझे लगता है कि अगर शिवसेना मेरी मांग के अनुसार महाराष्ट्र विधानसभा में वीर सावरकरजी का तैल चित्र लगाती है, तो राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस पार्टी के नेता विरोध नहीं करेंगे और अगर वे करते हैं, तो शिवसेना को लड़ना चाहिए और हम संघर्ष का समर्थन करेंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं: