स्कूल में यौन शोषण का मामला, प्रधानाचार्य, शिक्षक को निलंबित किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 7 मई 2022

स्कूल में यौन शोषण का मामला, प्रधानाचार्य, शिक्षक को निलंबित किया

eacher-suspended-in-child-molesaion-delhi
नयी दिल्ली, छह मई, पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) ने उसके द्वारा संचालित एक स्कूल में कक्षा के भीतर दो लड़कियों के कथित यौन शोषण मामले में स्कूल के प्रधानाचार्य और एक शिक्षक को निलंबित करने के साथ ही अनुबंध पर काम करने वाले एक शिक्षक की सेवाएं समाप्त करने का फैसला किया है। महापौर श्याम सुंदर अग्रवाल ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मामला पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में एक सरकारी स्कूल का है, जहां दो छात्राओं का कथित तौर पर यौन शोषण किया गया था। महापौर अग्रवाल ने बताया कि यह फैसला ईडीएमसी के अधिकारियों ने किया है। इस संबंध में शुक्रवार को एक आधिकारिक आदेश जारी किए जाने की उम्मीद है। गौरतलब है कि घटना 30 अप्रैल को पूर्वी दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में हुई थी, जहां आरोपी ने कथित तौर पर कक्षा में घुसकर छात्रों के सामने अपने कपड़े उतारे और उनके सामने पेशाब किया। इसके पहले उसने आठ साल की दो लड़कियों का कथित तौर पर यौन शोषण किया था। अग्रवाल ने बताया कि मामले में एक ‘स्केच’ के आधार पर एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘ईडीएमसी ने स्कूल के प्रधानाचार्य और एक शिक्षक को निलंबित कर दिया है, जबकि अनुबंध पर काम करने वाले शिक्षक, जिसे सबसे पहले मामले की जानकारी दी गई थी, उसकी सेवाएं समाप्त कर दी हैं।’’ अग्रवाल के मुताबिक, इसके अलावा एक शिक्षक और स्कूल निरीक्षक को ‘‘कारण बताओ नोटिस’’ जारी किया गया है, जबकि ईडीएमसी के शिक्षा विभाग के जोनल उप निदेशक को ‘‘कड़ी चेतावनी’’ दी गई है। दिल्ली महिला आयोग ने दावा किया है कि जब छात्राओं ने इस घटना की जानकारी प्रधानाचार्य और कक्षा के शिक्षक को दी तो उन्होंने छात्राओं से चुप रहने और घटना को भूल जाने के लिए कहा था। पुलिस ने बताया कि स्कूल के अंदर और परिसर में कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा था।

कोई टिप्पणी नहीं: