झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 28 मई 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मई

धूमधाम से मनेगी पारा शनि मंदिर में शनि जयंती


पारा । सोमवती अमावस्या को पारा नगर मे कलयुग  न्यायाधीश शनि मंदिर में धूमधाम से शनि जयंती मनाई जावेगी।  उक्त जानकारी देते हुवे शनि मित्र मण्डल के अध्यक्ष आनन्द सरतलिया ,सचिव अमृत राठौड उपाध्यक्ष मदन राठौड़ ओर कोषाध्यक्ष सुरेश सरतलिया ने संयुक्त रूप से बताया कि कोरोना काल के कारण विगत दो वर्ष से नगर के शनि मंदिर में भगवान शनिदेव की जयंती पर कोई भी सामूहिक कार्यक्रम नही किया गया था । प्रति वर्षानुसार इस वर्ष भी सोमवती अमावस्या दिनांक 30 मई को शनि जयंती पर शनि मित्र मंडल पारा द्वारा बड़े पैमाने पर आयोजन किया जा रहा है । जिसमे मित्र मण्डल द्वारा घर घर जा कर शनि जयंती के कार्यक्रम के आमंत्रण पत्र दिए गये है व सभी धर्मप्रेमी जनता से शनि जयंती के कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में पहुंच कर धर्म लाभ लेने की अपील की है। 


यह होंगे कार्यक्रम: - प्रातः 5 बजे आरती सुबह 8 बजे शनि मंदिर से भगवान शनिदेव के तेल चित्र की शोभायात्रा के साथ नंगर भृमण । 10 बजे सामुहिक अभिषेक ओर यज्ञ , दोपहर 12 बजे महाआरती शाम को 6 बजे महाप्रसदी भण्डारे का आयोजन ओ संध्या साढ़े सात बजे आरती के बाद रात्री 8 बजे से मन्दिर परिसर पर रामायण मण्डल पारा के द्वारा संगीयमयी सुंदरकांड किया जावेगा।


भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की बैठक संपन्न , नवनियुक्त मंडल अध्यक्ष का हुआ सम्मान, राज्य व केंद्र की योजनाओं पर विस्तार से हुई चर्चा


jhabua news
झाबुआ । भाजपा कार्यालय झाबुआ में अनुसूचित जाति मोर्चा की बैठक संपन्न हुई ,जिसमें मोर्चा प्रदेश मंत्री व इंदौर संभाग के प्रभारी विक्रम जी गादिया एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य झाबुआ प्रभारी जीतू बिजोरिया विशेष रूप से उपस्थित रहे,उक्त जानकारी देते हुए जिला भाजपा मिडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने बताया कि  बैठक की शुरुआत सर्वप्रथम पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं बाबा साहेब के चित्र पर माल्यार्पण कर की गई ,बैठक में नवनियुक्त मंडल अध्यक्ष को भी नियुक्ति पत्र देते हुए उनका सम्मान किया गया, एवं बैठक में केंद्र व राज्य सरकार की योजनाएं के बारे में विस्तार रूप से बताया गया व मोदी जी की जन कल्याण योजनाओं को जमीन पर उतारने के लिए चर्चा की गई ,साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 8 वर्ष पूर्ण होने पर 1 से 10 जून तक मनाया जाने वाले कार्यक्रम में सम्मिलित होकर अपने बूथ पर पहुंच कर अधिक से अधिक लोगों से संपर्क करने का दायित्व सौंपा गया । बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह नायक, प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य राकेश चौहान, राजू धानक, अनुसूचित जाति मोर्चा जिलाध्यक्ष जगदीश जाटव ,जिला महामंत्री,नवनियुक्त समस्त मंडल अध्यक्ष ,एवं जिले के समस्त मोर्चा पदाधिकारी गण उपस्थित रहे, कार्यक्रम का संचालन प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य प्रेम सिंह बसोड़ ने किया वही आभार जिला कार्यालय मंत्री नंदलाल जी रेड्डी ने माना ।


श्रीमद् भागवत कथा के कवरेज की महामंडलेश्वर ने की प्रशंसा, 10 वर्ष पूर्व पिता ने किया था श्रीमद भागवत कथा का कवरेज 10 वर्ष बाद किया पुत्र ने कवरेज


jhabua news
झकनावदा । पूर्व में 10 वर्षों पूर्व झकनावदा श्रंगेश्वर मार्ग पर महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 उत्तम स्वामी जी महाराज के मुखारविंद से श्रीमद् भागवत ज्ञान गंगा महोत्सव का आयोजन किया गया था। जिसमें संपूर्ण सात दिवसीय आयोजन का तत्कालीन मीडिया प्रभारी शैतान मल कुमट द्वारा कवरेज किया गया था। जिसके बाद वर्ष 2022 में नगर वासियों को एक बार फिर श्रीमद् भागवत ज्ञान गंगा महोत्सव का लाभ महामंडलेश्वर श्री श्री उत्तम स्वामी जी महाराज के मुखारविंद से नगर वासियों को सुनना प्राप्त हुआ। व इस वर्ष उक्त आयोजन में शैतानमल कुमट के सुपुत्र मनीष कुमट वर्तमान मिडिया प्रभारी द्वारा सात दिवसीय श्रीमद् भागवत ज्ञान गंगा महोत्सव का सम्पूर्ण कवरेज किया गया। इस अवसर पर भागवत कथा के सातवें दिन पिता-पुत्र शैतानमल कुमट व मनीष कुमट मंच पर आसीन महामंडलेश्वर का पुष्प माला से स्वागत कर दर्शन वंदन कर कुशल क्षेम पूछी। जिसके बाद 10 वर्ष पूर्व प्रकाशित समाचार का कवरेज बताते हुए मोबाइल में स्वामी जी को चित्र बताया एवं वर्तमान में प्रकाशित दिखाई तो स्वामी जी ने पिता पुत्र की प्रशंसा की। वह कहा कि इसी प्रकार धर्म से जुड़े रहो धर्म से जुड़े रहने से ही आदमी मानव जीवन सार्थक है एवं कर्म ही पूजा है। साथ ही स्वामी जी ने पिता पुत्र को आशीर्वाद दिया।


लोक उपयोगी सेवाओं के संबंध में जागरूकता के उद्देश्य हेतु लोकोपयोगी लोक अदालत का आयोजन                         

झाबुआ। जन उपयोग के लिए लोक उपयोगी सेवाओं के संबंध में जागरूकता के उद्देश्य हेतु लोकोपयोगी लोक अदालत का आयोजन आज दिनांक 28 मई-2022 शनिवार को एडीआर सेंटर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला न्यायालय झाबुआ में माननीय प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार जी के मार्गदर्शन एवं जिला न्यायाधीश/सचिव श्री लीलाधर सोलंकी की अध्यक्षता में किया गया। जिसमें आम नागरिकों को पेयजल प्रदाय, स्ट्रीट लाईट, यातायात सेवा जैसी जन उपयोगी सेवाओं के प्रदाय या सेवाओं में कमी आदि की स्थिति में लोक उपयोगी लोक अदालत में मामला प्रस्तुत कर सकते है। जिसमें कोई भी न्याय शुल्क देय नहीं है। लोक उपयोगी लोक अदालत में जिला न्यायाधीश एवं सचिव श्री लीलाधर सोलंकी जी ने अपने विचार रखे उन्होंने कहा कि लोकोपयोगी सेवाऐं समाज के कमजोर वर्गाें की दैनंदिनी जरूरतों से जुड़ी हुई अपरिहार्य सेवाऐं है, जिनका मानवीय संवेदनाओं के साथ शीघ्र निराकरण आवश्यक है जो लोकोपयोगी सेवाओं के लिए स्थायी लोक अदालतों के माध्यम से संभव है। अधिवक्ताओं और पक्षकारों को लोक अदालत के माध्यम से विभिन्न जन उपयोगी सेवाओं के प्रदाय के लिए लाभ लेने की समझाईश दी। लोक उपयोगी सेवाओं के प्रदाय के लिए स्थायी एवं निरंतर लोक अदालत के लिए जिला न्यायाधीश व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को पदेन अध्यक्ष (पीठासीन न्यायाधीश) लोक अदालत राजपत्र के द्वारा अधिसूचित किया गया है। लोक उपयोगी लोक अदालत के पदेन सदस्य मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी झाबुआ एवं कार्यपालन यंत्री सिविल लोक निर्माण विभाग झाबुआ को नामित किया गया है। उक्त बैठक में जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री मुकेश कौशल, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष श्री दीपक भण्डारी, अधिवक्ता श्री डी.पी. अग्निहोत्री, श्री मोहम्मद यूनूस लोदी, श्रीमती जया झाला, श्री अजहर एवं पक्षकारगण उपस्थित रहें।


‘‘अन्नदान उत्सव‘‘ सहभागिता से सुपोषण

  • झाबुआ की आंगनवाडियों हेतु खाद्यान्न एवं खिलौना एकत्रिकरण रैली, कलेक्टर के आव्हान पर खाद्यान्न और खिलौने देने वालों की होड लगी

jhabua news
झाबुआ । दिनांक 27 मई 2022 को प्रातः 10 बजे जिला प्रशासन के आव्हान पर झाबुआ नगरपालिका क्षेत्र में ‘‘अन्नदान उत्सव ‘‘ सहभागिता से सुपोषण के लिए झाबुआ के आंगवाडीयों हेतु खाद्यान्न एवं खिलौना एकत्रिकरण रैली का आयोजन कलेक्टर कार्यालय से प्रारम्भ किया गया। जिसमें खिलौनों का एकत्रिकरण एवं खाद्यान्न का एकत्रिकरण कलेक्टर कार्यालय के अधिकारी कर्मचारियों के द्वारा बडी संख्या में खिलौना एवं खाद्यान्न स्वैच्छा से एकत्र किया गया, जो नजारा था वह अकल्पनीय था। सहभागिता से सुपोषण का उद्देश्य लेकर चलाए गए कार्यक्रम में लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। जिला स्तर के मुख्य कार्यक्रम में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा टैªक्टर ट्रॉली में सवार होकर शहर में निकले शहर के विभिन्न सामाजिक संगठनों, आम लोगों ने ट्रॉली में सामान रखा। सबुह 10 बजे कलेक्टर कार्यालय परिसर से रैली को हरी झंडी दिखाकर इस आयोजन की शुरूवात की गई। हजारों की संख्या में खिलौने एकत्र हुए लोगों की इस हेतु होड लग गई। लोगों का सहयोग समाजिक संस्थाओं का सहयोग, धार्मिक संस्थाओं का सहयोग यहां तक की बच्चों तक का सहयोग इस अवसर पर देखने को मिला। जो जिले के लिए एक मिशाल के रूप में जाना जाएगा। आंगनवाडी के बच्चों के प्रति लोगों की संवेदनशीलता एवं उनका स्नेह छल छला उठा। लोगों ने इस आयोजन की प्रशंसा के साथ प्रशासन को जन सहयोग के लिए इतना संवेदनशील पहली बार देखा था। इस जन सहभागिता में कलेक्टर कार्यालय परिवार, वन विभाग परिवार, स्वास्थ्य विभाग का परिवार, बस स्टेशन पर बस एसोसिऐशन एवं आरटीओ परिवार, शारदा विद्या मंदिर परिवार, मेडिकल ऐसोसिऐशन, जैन समाज, कटकानी परिवार, रोटरी क्लब, व्यापारी संघ, बोहरा समाज, आजाद साहित्य परिसर, नगरपालिका परिवार, जनसम्पर्क विभाग परिवार, आबकारी विभाग का परिवार, राजपूत समाज परिवार, नन्हे मुन्हे बच्चों एवं कलेक्टर महोदय के निवास से भी बडी संख्या में खाद्यान्न एवं खिलौने प्रदान किए। हर कोई कुछ न कुछ देने के लिए आगे आ रहा था। कलेक्टर महोदय, जिला अधिकारी, जनप्रतिनिधि के द्वारा टैªक्टर ट्राली, छोटा हाथी में बैठकर लोगों से जनभागीदारी के लिए झाबुआ के विभिन्न मार्गो से निकले थे। कलेक्टर महोदय का साफा बाधंकर अभिनंदन भी किया गया। जगह-जगह हार फुल से भी स्वागत किया गया। जो आयोजन था उसका शब्दों में बयान नही किया जा सकता है। जिले में 194 क्विटंल गेंहूॅ 14.77 क्विंटल चावल, 258 क्विंटल तुवर दाल, 162 क्विंटल चना दाल, 8.14 क्विंटल मक्का प्राप्त हुई। इसके अतिरिक्त खिलौनों में गुड्डा-गुड्डी 400 नग, खिलौना जेसीबी 120 नग, छोटी गाडी 421 नग, हैण्डबॉल 1383 नग, क्रिकेट बेट एवं बॉल 1000 नग, टेडीबियर 10 नग, सायकल 3 नग, टेबल टेनिस बॉल 200 नग, हॉकी बॉल 50 नग, अल्फाबेट चार्ट 20 नग अन्य खिलौने 200 नग प्राप्त हुए। इसके अतिरिक्त भी लोगों का उत्साह जारी है। जो आज कलेक्टर महोदय के कार्यालय में आ कर बच्चों ने इस जनसहभागिता में अपना सहयोग किया। इस सफल आयोजन में झाबुआ ही नहीं पुरे जिले में जो अपार जनसहयोग आंगनवाडियों के लिए अपना स्नेह प्रदर्शित किया उसके लिए कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने सभी को धन्यवाद दिया है।


त्रि स्तरीय पंचायत राज संस्थाओं के निर्वाचन हेतु जिला स्तरीय स्टेण्डिग कमेटी की बैठक सम्पन्न, जिले में होगा दो चरणों में निर्वाचन


jhabua news
झाबुआ,। मध्य प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग भोपाल के निर्देशानुसार त्रि-स्तरीय पंचायतों आम निर्वाचन 2022 हेतु जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय स्टेण्डिंग कमेटी की बैठक 28 मई को 4 बजे कलेक्टर सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री अरविन्द्र तिवारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ श्री सिद्धार्थ जैन, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनिल झा, एवं रिटंर्निग आफिसर, सहायक रिटर्निंग आफिसर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व समस्त, मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय दल के जिलाध्यक्ष एवं प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित थे। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने बताया कि मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन की घोषण कर दी है। जिसके कारण आदर्श आचरण संहिता आगामी 15 जुलाई तक प्रभावशील हो गई है। निर्वाचन आयोग की घोषणानुसार जिले में दो चरणों में निर्वाचन होगा। प्रथम चरण में थांदला,पेटलावद द्वितीय चरण में झाबुआ, रामा, राणापुर एवं मेघनगर में होना है।  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा ने समस्त विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों, मैदानी अमले को राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदर्श आचरण संहिता का पालन अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिये है। पुलिस अधीक्षक श्री अरविन्द्र तिवारी ने कानून व्यवस्था एवं सोशल मीडिया में कानून के दायरे के अंतर्गत पोस्ट किए जाने के निर्देश दिए। किसी भी गलत मैसेज का फार्वड नहीं करें। ट्यूटर, फेसबुक पर गलत पोस्ट नहीं करें अन्यथा सख्त कार्यवाही की जाएगी।


त्रि-स्तरीय पंचायतों एवं नगरीय निकायों के चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए, समस्त शिक्षण संस्थाओं में कार्यरत शिक्षकों के लिए घोषित ग्रीष्म कालिन अवकाश निरस्त


झाबुआ। मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग के आदेशानुसार विभागीय समसंख्यक आदेश दिनंाक 7 अक्टुंबर 2021 द्वारा शिक्षकों के लिए दिनांक 1 मई 2022 से 9 जून 2022 तक ग्रीष्म कालीन अवकाश घोषित किया गया था। सचिव मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग भोपाल के पत्र दिनंाक 27 मई 2022 के परिपालन में त्रि-स्तरीय पंचायतों एवं नगरीय निकायों के चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए राज्य शासन एतद् द्वारा प्रदेश की समस्त शिक्षण संस्थाओं में कार्यरत शिक्षकों के लिए घोषित ग्रीष्म कालिन अवकाश निरस्त किये जाते है। उक्त आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावशील होगा।


‘‘ प्राकृतिक खेती की जानकारी आमजन के लिये सुलभ - जिला मुख्यालय पर परामर्ष केन्द्र स्थापित 


झाबुआ,। प्रकृतिजन्य कृषिगत संसाधनों के बेहतर समन्वय और युक्तीयुक्त दोहन से न केवल खेती किसानी में लागत को कम किया जा सकता है, बल्कि गुणवत्तायुक्त खाद्यान्न उत्पादन के साथ-साथ बेहतर आय भी श्रृजित की जा सकती है। प्रकृति के निकट रहने वाले झाबुआ जिले के किसानों को प्राकृतिक खेती के सैद्धांतिक और व्यावहारिक पक्ष की बेहतर समझ विकसित करते हुऐ जमीन पर उतारने की भरपूर संभावनाऐं है। प्राकृतिक खेती अपनाने से न केवल खेती किसानी की लागत नियंत्रित होकर गुणवत्तायुक्त पोष्टीक आहार का उत्पादन किया जा सकता है बल्कि पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण की दिषा में एक ठोस पहल भी की जा सकती है। हवा तथा जल स्त्रोतों की गुणवत्ता में कमी के साथ-साथ पर्यावरण प्रदूषण का एक महत्वपूर्ण आयाम मिट्टी में घातक रसायनों का जमा होकर मृदा प्रदूषण भी है। मृदा के रासायनिक और भौतिक स्वास्थ्य संर्वधन के माध्यम से पर्यावरण प्रदूषण रोकने की दिषा में एक सार्थक प्रयास किये जा सकते है। प्राकृतिक खेती के बहुआयामी फायदां के मद्देनजर जिले के किसानों को प्रचलित खेती पद्धति के स्थान पर प्राकृतिक खेती की ओर रूझान विकसीत करने का समय आ गया है। झाबुआ जिले के कलेक्टर श्री सोमेष मिश्रा द्वारा जिले में प्राकृतिक खेती के संदेष को दूरस्थ अंचलों तक पहुंचाने के निर्देष दिये गये है। प्राकृतिक खेती के सैंद्धातिंक और व्यवहारिक ज्ञान को किसानों और आमजन के लिये सुलभ कराने के उद्देष्य से जिला मुख्यालय पर परामर्ष केन्द्र की स्थापना के लिये प्रदत्त निर्देषों के अनुक्रम में कृषि परिसर झाबुआ स्थित मिट्टी परीक्षण प्रयोगषाला के पास परामर्ष केन्द्र व्यावहारिक स्वरूप ले चुका है। जिले में प्राकृतिक खेती पद्धति को सुनियोजित ढंग से अपनाने और बढावा देने के लिये जिला मुख्यालय कृषि परिसर में प्राकृतिक खेती परामर्ष केन्द्र स्थापित किया गया है। इस केन्द्र पर प्राकृतिक खेती के आधारभूत अवयवों - गोबर, गौ-मूत्र, गुड़, बेसन, चूना, सजीव मिट्टी के साथ-साथ नीम, करंज, धतुरा, सीताफल, पपीता, अरण्डी, अमरूद इत्यादि पत्तीयों के संयोजन से जीवांमृत, बीजांमृत, घनजीवांमृत, नीमास्त्र, ब्रम्हास्त्र का सजीव ढंग से निर्माण करने के लिये प्रादर्ष यूनिट तैयार की गई है। प्राकृतिक खेती अपनाने के लिये किसान को महंगे आदानो की आवष्यकता नही रहती है। मात्र एक से दो देषी गाय गोबर और गौं मूत्र के साथ खेतों की मेढ़ो पर उगने वाली वनस्पति के युक्तियुक्त संयोजन से प्राकृतिक खेती को अमलीजामा पहनाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त लगने वाले आदान एक आम व्यक्ति के घरों में उपलब्ध होने वाली सामग्री से सुलभ हो जाते है। प्राकृतिक खेती के माध्यम से खेती किसानी में उत्पन्न होने वाले जैव अवषिष्टों का बेहतर पुर्नचक्रीकरण भी किया जा सकता है। कलेक्टर श्री सोमेष मिश्रा द्वारा जिले के किसानो से प्राकृतिक खेती की ओर अपना रूझान बढाने के साथ-साथ कार्यरूप में परिणीत करने का आव्हान किया। प्राकृतिक खेती करने के इच्छुक कृषक जिला मुख्यालय पर स्थापित प्राकृतिक खेती के परामर्ष केन्द्र का अवलोकन कर जीवांमृत, बीजांमृत, घनजीवांमृत, नीमास्त्र, ब्रम्हास्त्र इत्यादि के संबध में जानकारी प्राप्त कर सकते है। परामर्ष केन्द्र के प्रभारी श्री एस.एस.रावत सहायक संचालक कृषि को नियुक्त किया गया है। परामर्ष केन्द्र पर श्री रावत के साथ-साथ सहायक संचालक श्री एस.एस.मोर्य तथा श्री एम.एस.धार्वे के अतिरिक्त अपने क्षेत्र के अनुविभागीय कृषि अधिकारी, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी और मैदानी स्तर के कृषिगत विभागीय अमले से भी सम्पर्क कर सकते है।  


प्रदेश में पहला पायलेट प्रोजेक्टर आदिवासी बाहुल्य जिले में नवाचार के माध्यम से जिला प्रशासन द्वारा महिलाओं को पिरियड फ्रेन्डली वातावरण प्रदान करने हेतु मिशन महिमा का शुभारंभ किया


jhabua news
झाबुआ,। विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के अवसर पर झाबुआ में विभिन ग्रामो से आयी स्वयं सहायता समूह की सदस्यों, किशोरी बालिकाओ और विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओ के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में ‘मिशन महिमा’ का शुभारम्भ किया गया द्य यह कार्यक्रम जिला कलेक्टर और मुख्य कार्यपालन अधिकारी की अध्यक्षता में यूनिसेफ और अन्य सहयोगि संस्थाओ अनहिबिटेड, ट्रांसफॉर्म रूरल इंडिया फाउंडेशन ;ज्त्प्थ्द्धए ऍलआईसी के अधिकारियों की उपस्थिति में संपन्न हुआ द्य ‘मिशन महिमा’ आदिवासी बहुल जिले में मासिक स्वास्थ्य स्वच्छता प्रबंधन की सुविधा के लिए एक विशिष्ट पहल है। जिसका उद्देश्य जनजातीय समुदायों की क्षमता निर्माण के साथ झाबुआ को “मासिक धर्म फ्रेंडली“ जिले के रूप में स्थापित करना है और मासिक धर्म स्वच्छता से संबंधित बेहतर प्रथाओं को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। श्री सोमेश मिश्रा (आईएएस), कलेक्टर झाबुआ, द्वारा मिशन का शुभारंभ किया गया। । श्री नागेश पाटीदार, वॉश ऑफिसर, यूनिसेफ मध्य प्रदेश, श्री जीतेन्द्र सीनियर मैनेजर टीआरआईएफ, सुश्री स्वाति अनहिबिटेड, सुश्री पूनम मराठा एलआईसी, एवं श्री जे. पी. एस. ठाकुर सीएमएचओ झाबुआ द्वारा माहवारी प्रबंधन और स्वच्छता के विभिन्न विषयों पर उद्बोधन दिया गया । व्य्कत्यों में यह कहा गया की मिशन के तहत लिए गए रणनीतिक हस्तक्षेप को जन जन तक पहुचाने हेतु जमीनी कार्यकर्ताओ को गहन रूप से प्रशिक्षित करना होगा जो समुदायों में माहवारी प्रबंधन से संबंधित मुख्य बातों को जन जन तक पहुचाएंगे और सुविधा प्रदान करेंगे। इस कार्यक्रम में विकसित मॉड्यूल मासिक धर्म सुधार में बाधा डालने वाले मुद्दों पर गहराई से चर्चा करेंगे और समुदे में इससे जुडी भ्रांतियों को देय करेंगे । मासिक धर्म के सभी पहलुओं जैसे वर्जनाओं और मिथकों को खत्म करने, सैनिटरी नैपकिन और अन्य उत्पादों के उपयोग के साथ-साथ आपूर्ति श्रृंखला और सुरक्षित निपटान तंत्र को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। इस मिशन में ब्ैत् के एक हिस्से के रूप में एलआईसी इंडिया द्वारा सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन प्रदान किया गया । श्री सोमेश मिश्रा (आईएएस), जिला कलेक्टर, झाबुआ ने कहा, “मैं झाबुआ में इस अभिनव पहल मिशन महिमा का हिस्सा बनकर बहुत खुश हूं। इस पहल ने एक ऐसे विषय पर विशेष ध्यान दिया है जिसे अभी भी एक वर्जित माना जाता है और बहुत सारे मिथकों से घिरा हुआ है। मैं कोविड 19 के समय में उल्लेख करना चाहूंगा, जब मैंने टीम के साथ लोगों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने और प्रेरित करने के लिए सफल प्रयास किए। इसी तरह झाबुआ में भी हम इस मिशन को फिर से सर्वोच्च प्राथमिकता देंगे और इसे सभी के लिए सफल बनाएंगे। मैं कहूंगा कि आप सभी महिलाएं और किशोरी बालिकाए सभी के लिए नेतृत्व और प्रेरणा हैं। मैं उन सभी सहयोगी और कार्यान्वयन भागीदारों , संस्थाओ को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने (एमएचएम) के कार्य को आगे बढ़ाया और इसके सफल शुभारम्भ में सहयोग दिया । उन्होंने आव्हान किया की झाबुआ को एक अवधि के अनुकूल जिला बनाने और इसे मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता प्रबंधन में एक शोकेस मॉडल के रूप में विकसित करने का संकल्प लें। इस कार्यक्रम में 300 से अधिक एसएचजी महिलाओं, किशोरियों और नागरिक समाज संगठनों ने भाग लिया। झाबुआ सही ज्ञान प्रदान करने, वर्जनाओं को दूर करने, सैनिटरी एब्जॉर्बेंट्स की आपूर्ति श्रृंखला, अवधि के अनुकूल ॅ।ैभ् सुविधाओं और निपटान प्रणालियों से शुरू होने वाली व्यापक मासिक धर्म स्वच्छता सेवा श्रृंखला को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण आविष्कार के साथ मासिक धर्म स्वच्छता यात्रा को आगे बढ़ाने के लिए योजना के साथ अच्छी जगह है।

कोई टिप्पणी नहीं: