जैन के खिलाफ मामला फर्जी और राजनीति से प्रेरित : केजरीवाल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 31 मई 2022

जैन के खिलाफ मामला फर्जी और राजनीति से प्रेरित : केजरीवाल

kejriwal-refuse-blame-on-jain
नयी दिल्ली, 31 मई, आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी सरकार के मंत्री सत्येन्द्र जैन की गिरफ्तारी पर चुप्पी तोड़ते हुए मंगलवार को कहा कि जैन के खिलाफ मामला ‘‘पूरी तरह से फर्जी और राजनीति से प्रेरित है।’’ केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार और आम आदमी पार्टी ‘बेहद ईमानदार’’ है। मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के सड़क विकास कार्यक्रम के निरीक्षण के दौरान पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने जैन के मामले पर गौर किया है। यह पूरी तरह से फर्जी और राजनीति से प्रेरित है। उन्हें जानबूझकर फंसाया गया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें न्यायपालिका पर विश्वास है। जैन सत्य के मार्ग पर चल रहे हैं और पाक साफ साबित होंगे।’’ गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों ने सोमवार को धन शोधन के एक मामले में जैन को गिरफ्तार कर लिया था। जैन के पास दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य, गृह और ऊर्जा समेत कई महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी है। कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जैन को बर्खास्त करने की मांग के बारे में पूछे जाने पर केजरीवाल ने कहा, ‘‘वो तो कुछ भी कहेंगे। अगर मामले में एक प्रतिशत भी सच्चाई होती तो मैं खुद कार्रवाई करता।’’


भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की दिल्ली इकाइयों ने सत्येन्द्र जैन की गिरफ्तारी का स्वागत करते हुए केजरीवाल से उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है। जनवरी में, पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल ने दावा किया था कि उन्हें सूत्रों से पता चला है कि जैन को ईडी द्वारा गिरफ्तार किया जा सकता है। केजरीवाल ने कहा कि आप ने पूर्व में भ्रष्टाचार की शिकायतों का संज्ञान लिया है और किसी एजेंसी की कार्रवाई का इंतजार किए बिना मंत्रियों को हटाया है। हालांकि, एजेंसियों द्वारा कई कार्रवाइयां ‘‘राजनीति से प्रेरित’’ हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आपने पंजाब में देखा कि एक मंत्री का ऑडियो सामने आया, किसी को इसकी जानकारी नहीं थी, न किसी एजेंसी और न ही विपक्षी दल को इसके बारे में पता था। हम मामला दबा सकते थे, लेकिन हमने खुद कार्रवाई की और उन्हें गिरफ्तार करवाया।’’ केजरीवाल ने कहा, ‘‘पांच साल पहले मेरे एक मंत्री की रिकॉर्डिंग मेरे पास आई थी। मैंने उन्हें पद से हटाकर, सीबीआई (केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो) के हवाले कर दिया था।’’ केजरीवाल ने 2015 में, अपने खाद्य विभाग के मंत्री असीम अहमद खान को बर्खास्त करने की घोषणा की थी, जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप थे। केजरीवाल ने कहा कि जैन सच्चाई के रास्ते पर चल रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘भगवान हमारे साथ है’’ और उन्हें उम्मीद है कि न्यायपालिका उनके साथ न्याय करेगी और वह पाक-साफ साबित होंगे। जैन की गिरफ्तारी के तुरंत बाद ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप के सांसद संजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधा था। हालांकि, केजरीवाल की ओर से तुरंत कोई बयान जारी नहीं किया गया था। सिसोदिया ने सोमवार को दावा किया था कि सत्येंद्र जैन को एक ‘‘फर्जी’’ मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है, क्योंकि वह हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के प्रभारी हैं और भाजपा को वहां चुनाव हारने का डर है। संजय सिंह ने कहा था कि जैन की गिरफ्तारी का मकसद चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को बदनाम करना है।

कोई टिप्पणी नहीं: