IPL : प्लेऑफ में जगह पक्की करने के लिये भिड़ेंग गुजरात और लखनऊ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 9 मई 2022

IPL : प्लेऑफ में जगह पक्की करने के लिये भिड़ेंग गुजरात और लखनऊ

lucknow-will-take-gujarat
पुणे, नौ मई, अपने पहले सत्र में ही शानदार प्रदर्शन करने वाली गुजरात टाइटन्स और लखनऊ सुपर जायंट्स की टीम इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मंगलवार को जब आमने-सामने होंगी तो उनकी निगाह प्लेऑफ में जगह सुरक्षित करने पर टिकी रहेगी। गुजरात की टीम लीग में अधिकतर समय शीर्ष पर रही थी लेकिन पिछले दो मैचों में बल्लेबाजों की नाकामी के कारण उसे हार झेलनी पड़ी। इससे उसकी जगह लखनऊ शीर्ष पर पहुंच गया है। इन दोनों टीम के हालांकि समान 16 अंक हैं और इस मैच में जीत दर्ज करने वाली टीम की प्लेऑफ में जगह पक्की हो जाएगी। हार्दिक पंड्या की अगुवाई वाले गुजरात को पिछले सप्ताह पंजाब किंग्स और मुंबई इंडियन्स से हार मिली थी। दूसरी तरफ लखनऊ ने अपने पिछले चार मैच जीते हैं। इनमें कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के खिलाफ पिछले मैच में 75 रन की जीत भी शामिल है जिससे लखनऊ की टीम बढ़े मनोबल के साथ मैदान पर उतरेगी। केएल राहुल ने लखनऊ का आगे बढ़कर नेतृत्व किया है। उन्होंने अब तक 11 मैचों में 451 रन बनाये हैं जिसमें दो शतक और अर्धशतक शामिल हैं। लखनऊ की टीम बल्लेबाजी में उन पर काफी निर्भर है लेकिन हाल के मैचों में क्विंटन डिकॉक और दीपक हुड्डा ने अधिक जिम्मेदारी ली है जिससे राहुल का बोझ कम हुआ है। लखनऊ के गेंदबाज भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। पंजाब किंग्स के खिलाफ जहां उन्होंने 153 रन का अच्छी तरह से बचाव किया वहीं केकेआर को 101 रन ही बनाने दिये थे। इस मैच में तेज गेंदबाज आवेश खान और जैसन होल्डर ने शानदार प्रदर्शन किया था। तेज गेंदबाज मोहसिन खान, क्रुणाल पंड्या और श्रीलंका के दुशमंत चमीरा ने किफायती गेंदबाजी की है। रवि बिश्नोई हालांकि पिछले मैच में थोड़े महंगे साबित हुए थे। जहां तक गुजरात का सवाल है तो उसने मुश्किल परिस्थितियों में वापसी करके अपनी स्थिति मजबूत की। उसके अलग अलग खिलाड़ियों ने अब तक मैच विजेता की भूमिका निभाई है, लेकिन मुंबई के खिलाफ ऐसा नहीं हुआ जब वे आखिरी ओवर में नौ रन नहीं बना पाये थे। गुजरात के बल्लेबाजों को निरंतरता बनाये रखने की जरूरत है। उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाज लंबी पारियां नहीं खेल पा रहे हैं। शुभमन गिल चमक नहीं बिखेर पाये हैं लेकिन ऋद्धिमान साहा ने अपने इरादे अच्छी तरह से जताये हैं। हाल के मैचों में हार्दिक, डेविड मिलर और राहुल तेवतिया भी नहीं चल पाये थे। उन्हें टूर्नामेंट के महत्वपूर्ण मोड़ पर पुरानी लय हासिल करनी होगी। गुजरात के पास मोहम्मद शमी, लॉकी फर्ग्यूसन और राशिद खान के रूप में विश्वस्तरीय गेंदबाज हैं। शमी हालांकि हाल में अपने रंग में नहीं दिखे। उन्हें भी लय में लौटने की जरूरत है।

कोई टिप्पणी नहीं: