छपरा : नवनिर्मित प्रार्थना भवन में बजरंग बली का झंडा लहराया दिया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 जून 2022

छपरा : नवनिर्मित प्रार्थना भवन में बजरंग बली का झंडा लहराया दिया

hanuman-flag-hois-in-church
छपरा. इनदिनों वाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद का मसला पूरे देश की सुर्खियों में है.जमीन विवाद का ये मामला लोअर कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचते हुए अब वाराणसी की जिला अदालत तक पहुंचा है. तमाम ऐतिहासिक दलीलें दी जा रही हैं.यहां तो कम से कम कोर्ट की निगरानी में मामला निपटाने का प्रयास हो रहा है.मगर बिहार में जोर जबर्दस्ती से मगाईडीह गांव में राधा प्रसाद नामक ईसाई व्यक्ति के नवनिर्मित प्रार्थना भवन में बजरंग बली का झंडा लहराया दिया है.यहां पर चार साल के बाद राधा प्रसाद प्रार्थना भवन बनाने में सफल हुआ है.हालांकि वह दस वर्षों से उक्त गांव में आवाजाही किया करता था. बता दें कि इस समय छपरा जिला के सांसद बीजेपी के युवा नेता राजीव प्रताप प्रताप रूडी है जो कि 3 बार सांसद रहे हैं रूडी अटल सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं 2014 में जीतने के बाद पर मोदी सरकार में भी मंत्री बनाए गए थे हालांकि मंत्रिमंडल के फेरबदल में रूडी से मंत्री पद वापस ले लिया गया बे बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता है.उनके गृह क्षेत्र में मगाईडीह गांव है.यहां पर राधा प्रसाद नामक ईसाई व्यक्ति प्रार्थना भवन निर्माण कराये हैं.राधा प्रसाद कहते हैं कि गत 4 वर्षों से प्रार्थना भवन निर्माण करने में लगे हैं.इस प्रार्थना भवन में ही अनाथ बच्चों को रखा जाएगा.इसके अलावे युवतियों के सिलाई केंद्र खोलने का विचार था.ताकि युवतियों को स्वावलंबी बनाया जा सके. आगे राधा प्रसाद कहते हैं कि 10 साल से मगाईडीह गांव में आते और जाते रहे हैं.लोगों के बीच में समाज सेवा कर रहे हैं.लोगों के बीच में बैठकर दुआ करते थे.यहां के लोग स्वेच्छा से आकर प्रार्थना करते थे. उन्होंने कहा कि मुश्किल से जीवन चला पाते हैं.तिनका जोड़-जोड़कर प्रथम स्थल तक प्रार्थना भवन बना सका हूं.इस बीच साजिश के तौर पर लोगों का कहना है कि सामाजिक कार्य करने के नाम पर राधा प्रसाद धर्म परिवर्तन करने में लगा है.शादी के समय में 51 हजार से एक लाख रू.लोगों को देता है.उसका कहना है कि यह सब मनगंढ़त है.पैसा है नहीं तो कहां से पैसा लाकर लोगों को पैसा दे सकता हूं. कोई मुझको भी पैसा दिला सके. सामाजिक कार्य करने वाले राधा प्रसाद ने कहा कि कुछ लोग आकर प्रार्थना भवन पर बजरंग बली का झंडा लहराया दिये.इसके बाद बजरंग बली की प्रतिमा स्थापित करने वाले हैं.कहते हैं कि असत्य कृत्य पर सत्य की विजयी प्राप्त करने के लिए छपरा के जिलाधिकारी,एसएसपी और थाना प्रभारी को आवेदन दिये हैं.धर्म परिवर्तन करवाने के नाम पर अफवाहों फैलाने वालों पर ध्यान न दें.वहीं मगाईडीह गांव के लोगों का कहना है कि तथाकथित लोग आंध्र प्रदेश से आकर प्रार्थना भवन बना रहे हैं.उनका कहना है कि क्रिश्चियन बहुल क्षेत्रों में प्रार्थना भवन (चर्च) होता है, हिंदू बहुल क्षेत्र में चर्च बनाकर सीधी बात है कि धर्म परिवर्तन कर आना इनका मकसद पूरा करेंगे. अमन जयसवाल ने कहा कि जब राधा प्रसाद जीवन बहुत ही मुश्किल से चला पाते हैं,तो और इतनी जमीन लेकर चर्च का निर्माण करवा रहे हैं, इसके लिए पैसा कहाँ से आ रहा है! जिटा मस्कारेन्हास का कहना है कि ईसाई संगठन ने सभी जाति और पंथ के लोगों को सबसे अच्छी शिक्षा के साथ शिक्षित किया है.हर धर्म की संरचना में उनका धर्म होता है. यदि वह धर्म विशेष रूप से अपने धन को खर्च कर रहा है.उन्होंने कहा कि मेरे साथ अध्ययन करने वाले सभी हिंदू और मुस्लिम अपनी आवाज उठाते हैं और सच बोलते हैं. आज तक कैथोलिक कॉन्वेंट स्कूल के द्वारा लोगों को शिक्षा दी जा रही है.यहां तो मंत्री से अधिकारी के पुत्र पढ़ते हैं लेकिन ईसाई नहीं बने हैं. मानसी सिंह का कहना है कि तुमको नहीं पता चर्च बन रहा है तो किस जाति का होगा! तुम लोग बहुत होशियार बनते हो. तुम्हारे जाति पर तो क्रिश्चियन लोग कोई रोक नहीं लगाते तुम फिर क्यों विरोध करते हो. दूसरे के जाति पर झूठा आरोप लगाते हो पैसा देते हैं मत ऐसा करो.ईश्वर देख रहा है कि तुम कितने सच बोल रहे हो और कितना झूठ का हिसाब परमेश्वर करेगा. इसलिए किसी के बहकावे में मत आओ.किसी के मजहब के बारे में इस तरह की बातें मत करो. ईश्वर इन्हें माफ कर यह नहीं जानते कि यह क्या कर रहे हैं यह हमारे पिता परमेश्वर की वाणी है आमीन. वहीं रविंदर कुमार कहते हैं कि दूध पिया बच्चे हो की जैसे बोलता है वैसे कर रहे हो. जमीन खरीद कर बिल्डिंग रेडी हो गया. तब गाउण्ड के लोगों के साथ पत्रकार सो कर जागे हो.कानूनी रूप से चर्च का कोई गलती नही है. हर कोई अपने धर्म का प्रचार करते है. जबरदस्ती वाला मामला तो एक भी वीडियो में नहीं देखने को मिला. जब स्टार्ट हुआ था तब भी एक मीडिया वाले दिखाया था लेकिन कुछ नही हुआ बिलिंग रेडी भी हो गया.घनश्याम सिंह कहते हैं कि जमीन दिन पर दिन कम होती जा रही है, सरकार को अब धार्मिक स्थलों पर रोक लगाना चाहिए.वहीं रणदीप कुमार मोहंती कहते हैं कि हिंदुस्तान में एक ही जाति प्रमाण पत्र होना चाहिए जिसमें सिर्फ हिंदू लिखा गया ना की कोई जात नहीं तो हिंदू धर्म से इसी तरह सब कोई कन्वर्ट हो जाएगा फिर हिंदू के नाम पर ब्राह्मण पुंगी बजाएगा.अमीत कुमार ने कहा कि दलित समाज के लोगों को बड़ा चिंता सता रहा है कि धर्म परिवर्तन कर रहा है.दलित समाज के लोगों के साथ एक्टर सिटी एक्ट होता है अत्याचार होता है उस समय बजरंग दल इत्यादि संगठन कहां मर जाते हैं!

कोई टिप्पणी नहीं: