बिहार : संवाद सम्मेलन का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 6 जून 2022

बिहार : संवाद सम्मेलन का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया

conclave-inaugraion-madhubani
रक्सौल. डॉ० मनसुख मांडविया, माननीय मंत्री, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय, भारत सरकार, श्री मंगल पांडे , माननीय मंत्री, स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार, श्री महेंद्र राय यादव, माननीय मंत्री कृषि एवं पशुपंक्षी विकास, नेपाल सरकार, डॉक्टर संजय जायसवाल, माननीय सांसद, पश्चिमी चंपारण, श्री विमल प्रसाद श्रीवास्तव, माननीय सांसद ,परसा नेपाल, श्री महेश्वर सिंह , माननीय विधान पार्षद, पूर्वी चंपारण, श्री प्रमोद कुमार सिन्हा, माननीय विधायक, रक्सौल के द्वारा आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थियों के साथ संवाद सम्मेलन का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया गया. सके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री, को स्वास्थ्य मंत्री बिहार सरकार, सांसद और विधायक ने  बुके, मोमेन्टो और मिथिला पेन्टिंग पट्टा पहनाकर सम्मानित किया.माननीय विधायक जी ने बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री को भी सम्मानित किया.कार्यक्रम में राष्ट्रीय खाघ प्रयोगशाला के निदेशक ज्ञानप्रकाश शर्मा, सलाहकार ने कार्यक्रम  के बाद मंच पर उपस्थित आयुष्मान भारत कार्ड के लाभार्थी चांद आलम, 19 वर्षीय मुशायरा खातुन,विजय कुमार,अनिल कुमार कुशवाहा, वसीम आलम,फुलवरिया पूर्वी चम्पारण निवासी 19 वर्षीय मनीषा कुमारी,हरसिद्धि निवासी 19 वर्षीय रुपा कुमारी,रामगढ़वा प्रखंड के आर्यानगर निवासी 38 वर्षीय शमीला खातुन नामक आठ लाभार्थियों ने अपना आपबीती मंच पर साझा करते हुए बताया कि हमलोग गरीब परिवार से है और बीमारी काफी बड़ा और गंभीर होने पर आयुष्मान भारत कार्ड ही सहारा बना.जिसके वजह से हम आज स्वस्थ जीवन व्यतीत कर रहे है.मनीषा ने बताया कि मेरी शादी के बाद कलेजा में दर्द होने लगा जब डाक्टरों ने बताया कि आपके कलेजा में छेद है और आपरेशन करने में लाखों का खर्चा है तब हम मायुस हो गयी.और  ससुराल वालों ने भी छोड़ दिया. मायके जाने के बाद पता चला कि आयुष्मान भारत का कार्ड मेरे नाम से है उनके सहयोग से मेरा ऑपरेशन हुआ. यदि आयुष्मान भारत नहीं होता तो मै जीवित नहीं रहती. इसके लिए भारत सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया. इसी प्रकार सभी लाभार्थियों ने आयुष्मान कार्ड से प्राप्त लाभ के बारे में बताया.उसके बाद मंत्री द्वारा चयनित लोगों को आयुष्मान भारत कार्ड  वितरण किया गया. आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए  माननीय मंत्री महोदय ने संबंधित महिला, पुरुष लाभार्थियों से कहा कि आने वाले समय में कोई भी गरीब एवं असहाय व्यक्ति बीमारी से लड़ने के लिए इसका लाभ ले सकते हैं. मंत्री महोदय ने अपने हाथों 5 लाभुकों को डमी आयुष्मान कार्ड प्रदान किए.


इस अवसर पर मुख्य अतिथि केन्द्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री डॉ मनसुख मांडविया द्वारा संबोधिन किया गया.इस खाघ प्रयोगशाला के संचालन में आने से भारत नेपाल के बीच व्याापार प्रवर्धन को बढ़ावा मिलेगा.पहले भारत से खाघ पदार्थ नेपाल भेजने के लिए जांच के लिए कलकत्ता भेजना पड़ता था. जिसे जांच के बाद नेपाल तक पहुंचने तक खराब हो जाता था.जिसकी शिकायत मिलने पर और सांसद डॉ संजय जायसवाल के द्वारा यहां प्रयोगशाला खोलने के लिए बार बार आग्रह पर इसका निर्माण कार्य और उद्घाटन हुआ. जिससे भारत नेपाल के व्यापारियों में हर्ष व्याप्त है. व्यापारियों ने हमसे मिलकर इसके लिए आभार व्यक्त किया.अब इस प्रयोगशाला के निर्माण से जांच यहां सुलभ होगा और व्यापार में वृद्धि होगी. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री श्री मंगल पाण्डे ने कहा कि भारत के जनता को निःशुल्क कोरोना टीका उपलब्ध कराया गया है वही उन्होंने कहा कि पूर्वी चंपारण के बनकटवा 100 प्रतिशत टीकाकरण में पहला स्थान प्राप्त किया.इस कार्यक्रम में आयुष्मान भारत के 3 लाभार्थियों द्वारा बताया गया कि आयुष्मान कार्ड से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किए हैं और वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं. बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति , जिला  कार्यान्वयन इकाई ,पूर्वी चंपारण के द्वारा जिले भर में गोल्डन आयुष्मान कार्ड 526474 परिवार , कुल लाभार्थी 2539043 , गोल्डन कार्ड जनरेटेड 238352 है. इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मोतिहारी, प्रभारी जिलाधिकारी, अपर समाहर्ता, आपदा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, एडीएम मोतिहारी, डीसीएलआर, कार्यपालक दण्डाधिकारी, सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी रक्सौल ,पकड़ीदयाल के साथ-साथ संबंधित पदाधिकारी गण, पुलिस पदाधिकारी गण, संबंधित लाभार्थी आदि उपस्थित थे.

कोई टिप्पणी नहीं: