डॉ. मुकेश बत्रा ने होम्योपैथी से लोगों का जीवन बदला-गुलशन ग्रोवर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 10 जून 2022

डॉ. मुकेश बत्रा ने होम्योपैथी से लोगों का जीवन बदला-गुलशन ग्रोवर

  • डॉ. मुकेश बत्रा की नई किताब ‘होमियोपैथीः सिंपल रेमेडीज़ फॉर ऑल एजेस’ का लोकार्पण

homeopahy-change-lfe
मुंबई, : देश में होमियोपैथी क्लिनिक्स की सबसे बड़ी श्रृंखला के संस्थापक एवं पद्मश्री से सम्मानित डॉ. मुकेश बत्रा ने आज अपनी नई किताब ‘होमियोपैथी-सिंपल रेमेडीज फॉर ऑल एजेस’ का लोकार्पण किया। पॉप्युलर प्रकाशन द्वारा प्रकाशित यह किताब अपने नाम के अनुकूल आम लोगों के लिए घर बैठे खुद से सही समय पर आसान होमियोपैथी उपचारों की जानकारी प्रदान करेगी।  लॉन्च कार्यक्रम में मशहूर एक्टर गुलशन ग्रोवर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इसके अलावा पॉप्युलर प्रकाशन की अस्मिता मोहिते, तारा देशपांडे, राकेश बेदी, मधु शाह, मिकी मेहता, रूपकुमार राठोड, भरत दाभोलकर, सिद्धार्थ कक और शेफ वरुण ईनामदार सहित अन्य हस्तियां भी मौजूद रहीं। लगभग 50 वर्षों की मेडिकल प्रैक्टिस के अनुभव के साथ डॉ. मुकेश बत्रा ने हर उम्र के लोगों में आम बीमारियों के लिए उपचार तैयार किये हैं। यह पुस्तक अमेज़ॉन पर होलिस्टिक हेल्थकेयर कैटेगरी में नं. 1 बेस्ट सेलर है और पाठकों को होमियोपैथिक समाधानों के लिए आसान भाषा में मार्गदर्शन करती है। इसमें प्रसव पूर्व की समस्याओं से लेकर वृद्धावस्था में होने वाली रूमाटॉइड आर्थराइटिस जैसी बीमारियों तक विभिन्न अन्य समस्याओं के लिए उपचार बताए गए हैं। मुंबई के केंप्स कॉर्नर स्थित क्रॉसवर्ड स्टोर में लॉन्च की गई यह किताब भारत के सभी प्रमुख बुकस्टोर्स पर उपलब्ध होगी।  डॉ. बत्राज़ ग्रुप ऑफ कंपनीज़ के संस्थापक एवं पद्मश्री से सम्मानित डॉ. मुकेश बत्रा ने कहा, “भारत में स्वास्थ्य देखभाल के लिए होमियोपैथी को प्राथमिक स्रोत माना जाता है और देश के 10 करोड़ लोग अपनी चिकित्सा ज़रूरतों के लिए इस पद्धति का उपयोग करते हैं। मेरी पांच दशकों की मेडिकल प्रैक्टिस के अनुभव के साथ लिखी गई इस किताब के जरिये मेरा यही प्रयास है कि डॉक्टरों का बोझ थोड़ा कम हो सके और लोगों को उनके घरों में ही एक डॉक्टर उपलब्ध कराया जा सके।” श्री गुलशन ग्रोवर ने कहा, “डॉ. बत्रा बेहद करीबी मित्र और एक उत्कृष्ट प्रतिभा के धनी हैं। मैं खुद होमियोपैथी में विश्वास रखता हूं और मैंने स्वयं डॉ. बत्रा को अपने उपचार से लोगों को ठीक कर उनका जीवन बदलते हुए देखा है।” श्री हर्ष भटकल, प्रकाशक, पॉप्युलर प्रकाशन ने कहा, “एक मशहूर लेखक और आधुनिक होमियोपैथी के जनक डॉ मुकेश बत्रा के साथ काम करना हमारे लिए गौरव की बात है। यह किताब पहले ही काफी लोकप्रिय हो चुकी है और अमेज़ॉन पर प्री-लॉन्च के दौरान ही होलिस्टिक हेल्थकेयर कैटेगरी में नं. 1 बेस्ट सेलर बन चुकी है।” डॉ. बत्रा विभिन्न राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय अखबारों तथा पत्रिकाओं में अपने नियमित कॉलम के जरिये भारत सहित अन्य देशों में होमियोपैथी का प्रचार-प्रसार करते रहे हैं। एक शानदार लेखक के रूप में इन्होंने होमियोपैथी के कई संस्करण एवं विभिन्न भाषाओं में 8 बेस्ट सेलर किताबें लिखी हैं। हाल ही में इनके द्वारा लिखी गई अपनी जीवनी – ‘द नेशन्स होमियोपैथ’ ने लॉन्च होने के प्रथम सप्ताह के अंदर ही सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए निलसन टॉप 10 नॉन-फिक्शन बुक्स की श्रेणी में तीसरा स्थान हासिल कर लिया। डॉ. बत्रा की कहानी थियेटर में भी कमाल दिखा चुकी है और एक जीवित व्यक्ति के जीवन परआधारित नाटक ‘जीना इसी का नाम है’ अपने पहले थियेटर प्रदर्शन के रूप में इतिहास बना चुका है।

कोई टिप्पणी नहीं: