सीतामढ़ी : जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक आयोजित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 14 जून 2022

सीतामढ़ी : जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक आयोजित

coordination-meeting
सीतामढ़ी.’जिला पदाधिकारी मनेश कुमार मीणा की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित परिचर्चा भवन में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक आयोजित की गई. जिसमें जिला स्तरीय सभी पदाधिकारी द्वारा भाग लिया गया. वही अनुमंडल एवं प्रखंड/अंचल स्तरीय पदाधिकारी द्वारा इस बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भाग लिया गया. जिला पदाधिकारी द्वारा जिले में चल रही मुख्य योजनाओं तथा क्रियाकलापों की समीक्षा एवं इससे संबंधित विभागों का दूसरे विभागों से समन्वय में हो रही कठिनाइयों का समीक्षा किया गया.तथा समन्वय स्थापित करने के लिए जिला पदाधिकारी द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया. मुख्यतः स्वास्थ्य, शिक्षा, आईसीडीएस, पंचायती राज, पथ प्रमंडल, ग्रामीण कार्य विभाग, योजना, क्षेत्रीय अभियंत्रण संगठन के विकासात्मक कार्यों की एवं बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा की गई. समीक्षा के क्रम में स्वास्थ विभाग को निर्देश दिया गया कि कोरोना तेजी से बढ़ रहा है. जिसे लेकर वैक्सीनेशन का कार्य प्रत्येक पंचायत में किया जाए. साथ ही टीम बनाकर कोरोना की जांच एक सेशन में लगभग 250 लोगों को चिन्हित कर किया जाए. साथ ही नल जल योजना में प्रखंडवार समीक्षा की गयी जिसमे  बिजली कनेक्शन , कार्य अपूर्ण, साथ ही पीएचडी से नल जल योजना में अनियमितता पाये जाने पर नल जल योजना से संबंधित सभी योजनाओं को एक सप्ताह के अंदर कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया गया. वही अमृत सरोवर योजना की समीक्षा के क्रम में सभी 42 योजनाओ की शुरुआत की गयी ह.ैं जिसे जिला पदाधिकारी द्वारा तीन दिनों के अंदर मानव बल बढ़ाकर कार्यपूर्ण करने का निर्देश दिया गया. सभी अंचलाधिकारी को शुक्रवार को कैंप लगाकर म्यूटेशन कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया गया साथ ही संबंधित डीसीएलआर को म्यूटेशन एंट्री की जांच करने का निर्देश दिया गया. जिले के विभिन्न प्रखंडों में सरकार के योजनाओं से संबंधित भवन निर्माण के लिए जमीन की उपलब्धता को लेकर समीक्षा की गयी. एवं जल्द से जमीन की उपलब्धता कराने का निर्देश संबंधित अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया. वही कब्रिस्तान घेराबंदी, मंदिर की चारदीवारी, से संबंधित सभी मामलों का निष्पादन जल्द से जल्द करना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया. प्रखण्ड स्तर पर लग रहे कैम्प में दिव्यांग लोगों का आधार सत्यापन करना सुनिश्चित करने का निर्देश सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया गया. साथ ही आंगनबाड़ी केंद्रों में विरतण किये गये पोषाक राशि प्राप्ति की जाँच एवं बच्चों को पोषाक पहनकर कर ही आये. इसके लिये प्रेरित करना सुनिश्चित करें. आरटीपीएस माध्यम एवं अन्य माध्यमों से प्राप्त पब्लिक पिटीशन को सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी ससमय निष्पादित करना सुनिश्चित करें. पंचायतों में कैंप लगाकर वहां के लोगों के लंबित कार्यों का निष्पादन करें। पंचायत स्तरीय पदाधिकारी व कर्मी के कार्य में लापरवाही बरते जाने पर कार्रवाई करते हुए मुख्यालय को सूचित करें. वही बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता बागमती प्रमंडल को निर्देश दिया कि तटबंधों के रख रखाव एवं मरम्मत के लिए बालू भरे बोरो की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें. तटबंधों की 24 घंटे  निगरानी के लिए जल निशरण के अभियंता को मानव बल प्रतिनियुक्ति करते हुए पेट्रोलिंग कराने का निर्देश दिया गया. उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त विनय कुमार, अपर समाहर्ता कृष्ण प्रसाद गुप्ता, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी महेश कुमार दास, जिला परिवहन पदाधिकारी रविंद्र नाथ गुप्ता, ओएसडी प्रशांत कुमार जिला विकास प्रशाखा प्रभारी पदाधिकारी विजय कुमार पांडे, के साथ सभी संबंधित विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे. 

कोई टिप्पणी नहीं: