बिहार : किशोरी- किशोरियों का जिला स्तरीय संवाद - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 जून 2022

बिहार : किशोरी- किशोरियों का जिला स्तरीय संवाद

children-alk-bihar
मुजफ्फरपुर. आज मंगलवार को जिला बाल संरक्षण ईकाई मुजफ्फरपुर व श्रम संसाधन विभाग, मुजफ्फरपुर व एक्शन एड के संयुक्त तत्वावधान में किशोरी- किशोरियों का जिला स्तरीय संवाद कार्यक्रम, श्रम संसाधन विभाग, मुजफ्फरपुर के सभागार में आयोजित किया गया.बाल श्रम के विरुद्ध सहित बच्चों पर होने वाली हिंसा के विरुद्ध तथा विद्यालय से जोड़ने के लिए सहायक निदेशक श्री उदय कुमार झा, जिला बाल संरक्षण इकाई, मुजफ्फरपुर,रणवीर रंजन, श्रम अधीक्षक, मुजफ्फरपुर, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारियों तथा एक्शन एड से अरविन्द कुमार, जिला समन्वयक, मुजफ्फरपुर की उपस्थिति में संवाद कार्यक्रम चला. किशोरी- किशोरियों का जिला स्तरीय संवाद कार्यक्रम, श्रम संसाधन विभाग, मुजफ्फरपुर के सभागार में आयोजित किया गया.सहायक निदेशक श्री उदय कुमार झा, जिला बाल संरक्षण इकाई ने बाल अधिकार सहित बच्चों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में जानकारी दी.उन्होंने बताया कि बच्चों पर होने वाली किसी भी प्रकार की हिंसा पर 1098 चाइल्ड लाइन को फोन करें. जो टोल फ्री नंबर है. श्रम अधीक्षक रणवीर रंजन ने बाल श्रम के संबंध में जानकारी दी कि यह सभ्य समाज के माथे पर कलंक का टीका है. उन्होंने बाल श्रम निषेध अधिनियम 1986 के तहत काम पर ले जाने वाले बच्चों के नियोक्ताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बात कही.सभी 6-14 वर्ष के बच्चे स्कूल में हों और कैसे उनका छीजन न हो इसके लिए सामाजिक क्षेत्र के लोगों को आगे आने का आह्वान किया. श्रम अधीक्षक ने बच्चों के संरक्षण को लेकर अधिकाधिक जागरूकता फैलाने को लेकर बल दिया. उन्होंने कहा कि बाल श्रम के साथ साथ बाल विवाह भी एक सामाजिक कोढ़ ह.ै जिसके उन्मूलन को लेकर अत्यधिक जागरूकता की आवश्यकता है. सहायक निदेशक उदय कुमार झ जिला बाल संरक्षण इकाई ने जोर देते हुए कहा कि एक्शन एड द्वारा बाल संरक्षण के क्षेत्र में सराहनीय कार्य किया जा रहा है और 12 जून विश्व बाल दिवस से पूर्व जिले में संयुक्त रूप से प्रभात फेरी आदि कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. साथ हीं उन्होंने लोगों से अपील की कि बाल विवाह, बाल श्रम और दहेज प्रथा जैसी सामाजिक कुरीतियों के प्रभावी रोकथाम के लिए इस तरह के अभियान की जरूरत है. कार्यक्रम में मुशहरी, बोचहा व बंदरा प्रखंड की किशोर किशोरियों ने सक्रिय रूप से भाग लिया. बच्चों ने पदाधिकारियों से बाल श्रम बाल विवाह, बाल व्यापार पर विस्तार से जाना और बहुत सारे जिज्ञासापूर्ण प्रश्न किए. बच्चों ने बाल श्रम और सुरक्षित सभी को विद्यालय विषयक चित्रांकन किया तथा अधिकारियों के समक्ष प्रदर्शित किया. मालूम हो कि 12 जून को विश्व बाल श्रम उन्मूलन दिवस है जिसके लिए महीने भर से बाल श्रम उन्मूलन जागरूकता माह अवलोकित किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में एक्शन एड के  प्रखंड समन्वयक,श्री राजगीर कुमार, रामसुंदर राम व एक्शन एड के वोलिंटियर श्री जगदीश मांझी, श्री संजय मांझी, मो.हैदर अली, एवं श्री नागेन्द्र मांझी मौजूद थे.

कोई टिप्पणी नहीं: