मोतिहारी : सरकारी संपत्ति नष्ट ना करें : DM - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जून 2022

मोतिहारी : सरकारी संपत्ति नष्ट ना करें : DM

bettiah-news-dm
मोतिहारी. चांदमारी रेलवे गुमटी -मोतिहारी स्टेशन पर आज हुए उपद्रव पर डीएम मोतिहारी सहित अन्य अधिकारियों और पुलिस बलों के सहयोग से विधि-व्यवस्था नियंत्रण किया गया.मौके पर अपील की गयी है कि युवा गुमराह ना बनें, सही रास्ता चुनें, उपद्रव - हिंसा समाधान नहीं है.राष्ट्रपिता गांधी की कर्मभूमि पवित्र चंपारण में इस तरह का कृत्य शोभनीय नहीं है.अभिभावक भी अपने बच्चों पर ध्यान दें. युवा अपने भविष्य के साथ खिलवाड़ ना करें.दोषियों को चिन्हित कर कठोरतम कार्रवाई की जायेगी.अब तक 23 गिरफ्तार हो चुके हैं, अन्य की भी शिनाख्त की जा रही है. किसी के बहकावे में न आएँ, पुलिस-प्रशासन आपके सहयोग - सुरक्षा के लिए तत्पर है.  पप्पू कुमार सिंह कुशवाहा कहते हैं कि यह सही बात है. सरकारी संपत्ति कहीं ना कहीं आम जनता के हित के लिए ही होता है.इस को नष्ट करना अपने आप को क्षति पहुंचाने के बराबर है.नौजवानों से अनुरोध है, कृपया करके सरकारी संपत्ति नष्ट ना करें.रवि रंजन ने कहा कि अग्निपथ के पथ पे जो भी बिछा रहे हैं शूल,शायद उन्हें समझ नहीं ये उनकी बड़ी है भूल. संजय कुमार मुखिया ने कहा कि सरकारी संपत्ति को नुकसान करने पर हमारा ही नुकसान होगा. क्योंकि हमारे टैक्स से हिं सरकारी संपत्ति खरा है।अगर संपत्ति नुकसान होगा तो हमसे ही ठीक करने के लिए हमसे हीं वसूला जाएगा. हिंसा न करे.वशिष्ठ कुमार ने कहा कि कानून को हाथ में नहीं लें.सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से कोई फायदा नहीं बल्कि नुकसान है.जो भी बच्चे बहकावे में आकर इस तरह का हरकत कर रहे है ध्यान रहे भीड़ में आपके परिवार के लोग भी हो सकते हैं. ऐसी घटना निंदनीय है.विनोद पटेल ने कहा किसी भी समस्या के समाधान के लिए हिंसा और उपद्रव एक रास्ता नहीं है.इसे शांति व्यवस्था पर काफी असर पड़ता है. इसे समस्या भी खत्म नहीं होती.हक के लिए मांग जायज है लेकिन सही रास्ता पर चलकर.

कोई टिप्पणी नहीं: