बिहार : नहीं खत्म हुआ TET,शिक्षा विभाग ने सुधारी अपनी गलती - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जून 2022

बिहार : नहीं खत्म हुआ TET,शिक्षा विभाग ने सुधारी अपनी गलती

tet-has-not-ended-in-bihar
पटना : बिहार में बीते दिन कई जगहों से यह सूचना मिल रही थी कि राज्य सरकार द्वारा आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा को खत्म कर दिया गया है। राज्य में अब बिहार सरकार द्वारा आयोजित होने वाले शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं होगी, अब सिर्फ केंद्र सरकार द्वारा ही शिक्षक पात्रता परीक्षा ली जाएगी। जिसे शिक्षक बनने की तैयारी कर रहे हैं लाखों लोगों के मन में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। इसी बीच अब इस मामले को लेकर बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने सब कुछ स्पष्ट कर दिया है। बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि बिहार में टीईटी यानी शिक्षक पात्रता परीक्षा जारी रहेगा। इसको लेकर कुछ लोगों में संशय की स्थिति बनी हुई थी,लेकिन हकीकत यह है कि टीईटी को अभी बंद नहीं किया गया है। बिहार में टीईटी की परीक्षा पहले की तरह होती रहेगी। उन्होंने कहा कि दरअसल शिक्षा विभाग के फैसले को समझने में गलती हुई थी। शिक्षा विभाग के तरफ तरफ से यह फैसला लिया गया है कि जबतक सातवें चरण की शिक्षक बहाली नहीं हो जाती तबतक टीईटी नहीं होगी। सातवें चरण की शिक्षक बहाली को जल्द ही पूरा किया जाएगा। नियुक्तियां लंबित ना हो इसलिए यह फैसला लिया गया है। वर्तमान परिस्थिति में इसे आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया है। विजय कुमार चौधरी ने स्पष्ट किया है कि राज्य सरकार द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा बन्द कराने या नहीं कराने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। वर्तमान प्रावधान के मुताबिक शिक्षक नियुक्ति हेतु CTET और BTET दोनों में से किसी परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र अभ्यर्थी बनने के पात्र हो जाते हैं और नियुक्ति हेतु आवेदन देते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार छठे चरण की नियुक्ति को तत्काल पूरा कर अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ करना चाहती है। इस बीच यदि राज्य सरकार के द्वारा पात्रता परीक्षा आयोजित होती है तो इससे अगले चरण की नियुक्ति की प्रकिया प्रभावित होगी और उसमें और विलंब होगा। इसी परिप्रेक्ष्य में शिक्षा विभाग ने अभी इस परीक्षा को स्थगित रखने का फैसला किया है।

कोई टिप्पणी नहीं: