अपने असंगत फैसले से देश को गुमराह कर रही है केन्द्र सरकार : मनोज झा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 18 जून 2022

अपने असंगत फैसले से देश को गुमराह कर रही है केन्द्र सरकार : मनोज झा

  • सरकार की गलत नीतियों और अहंकारी कार्यशैली से देश में अराजकता का माहौल।

confung-nation-manoj-jha
केन्द्र सरकार द्वारा भारतीय सेना में अग्निवीरों की नियुक्ति संबंधी ताजा फरमान के बाद देश भर में इसके खिलाफ युवाओं द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन पर चिंताजनक मानते हुए मिथिला लोकतांत्रिक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज झा ने सरकार द्वारा लिए जा रहे फैसलों पर कड़ी आपत्ति जताई है। सरकार द्वारा असंगत फैसले से देश को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि देश की जनता क्या चाहती है,  इस बात को बिना समझे अपने अनबुझ फैसले देश पर थोपना न्यायसंगत नहीं कहा जा सकता। जनता द्वारा, जनता के लिए, जनता का शासन लोकतंत्र का आदर्श वाक्य है और इसकी अनदेखी दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकारी तमाम फैसलों से देश में अराजकता का माहौल व्याप्त है और देशवासी खौफ में जीने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि अर्थशास्त्रियों और व्यापारियों की असहमति के बावजूद देश में नोटबंदी और जीएसटी लागू किये जाने संबंधी फैसले लिए गए और देश के आमजनों को असहनीय वेदनाएं झेलनी पड़ी। इसके बाद काला कृषि कानून लाया गया और देश के किसान साल भर से ज्यादा समय तक आंदोलनरत रहकर अपनी शहादत दी। देश के सैकड़ों किसानों का परिवार उजड़ने के बाद सरकार ने अपने इस काले कृषि कानून को वापस ले लिया। मिथिला लोकतांत्रिक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज झा ने कहा है कि देश में लोग पहले ही बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी और सरकार की गलत नीतियों व अहंकारी कार्यशैली से दुःखी व त्रस्त हैं। ऐसे में सेना में नई भर्ती को लेकर युवा वर्ग में फैली बेचैनी अब निराशा उत्पन्न कर रही है। ऐसी परिस्थिति में सरकार अपने फैसले पर अविलंब पुनर्विचार करे।

कोई टिप्पणी नहीं: