रूपेश पांडेय “भारतीय किसान मंच” के “राष्ट्रीय महासचिव” नियुक्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 30 जून 2022

रूपेश पांडेय “भारतीय किसान मंच” के “राष्ट्रीय महासचिव” नियुक्त

  • *किसानों के सशक्तिकरण के लिए भारतीय किसान मंच में शामिल हुए रूपेश पांडेय, मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र तिवारी ने दिलाई सदस्यता*

rupesh-pandey-national-general-secretary
भारतीय किसान मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष  देवेंद्र तिवारी ने आज लखनऊ मे सामाजिक कार्यकर्ता रूपेश पांडेय को मंच में शामिल कराया. देवेन्द्र तिवारी ने उनके सामाजिक कार्यों एवं युवाओं के उज्ज्वल भविष्य तथा महिलाओं व देश के अन्नदाता किसानों के सशक्तिकरण के लिए रूचि को देखते हुए मंच की सदस्यता दिलाई. साथ ही उन्होंने  रूपेश पांडेय को “भारतीय किसान मंच” का “राष्ट्रीय महासचिव” नियुक्त किया.  इसके अलावा देवेंद्र तिवारी ने रूपेश पांडेय को बिहार-महाराष्ट्र राज्य के “प्रदेश प्रभारी” का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा. इस मौके पर देवेन्द्र तिवारी ने कहा कि भारतीय किसान मंच उनसे आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास करता है कि वह पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व. लाल बहादुर शास्त्री जी एवं संत समाज त्यागी महापुरुषों एवं वीरों की विचारधाराओं को जन-जन तक पहुंचाएंगे एवं देश व प्रदेश में मंच को मजबूत करेंगे. वहीं, रुपेश पांडेय ने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं. आज किसानों को सरकार की मुख्य योजनाओं से जोड़ने और उन्हें आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी हम सभी की है. इसलिए आज हमने भारतीय किसान मंच में शामिल होकर आदरणीय देवेन्द्र तिवारी जी के नेतृत्व में काम करने का निर्णय लिया. यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है. हमारे देश का किसान बेहद मेहनती है, जिसके लिए देश की मोदी सरकार संकल्पित है. देश की उन्नति में किसानों का भूमिका अहम है. इसलिए हम किसानो के साथ हैं और मंच से हमें जो कार्य दिया जायेगा. जो जिम्मेदारी दी जाएगी. उसका निर्वहन हम पूरी ईमानदारी से करेंगे. इस औसर पर कई पदाधिकारी मौजुद थे महंत ब्रीजमोहन दास ,संजय भूषण पटियाला .

कोई टिप्पणी नहीं: